हमें चाहने वाले मित्र

10 मई 2017

कांग्रेस के पूर्वमन्त्री ,,वरिष्ठ नेता ,,मणिशंकर अय्यर ने आज कोटा में स्थित एयरपोर्ट को झालावाड़ में लेजाने ,,को लेकर तीखी तल्ख टिपण्णी

कांग्रेस के पूर्वमन्त्री ,,वरिष्ठ नेता ,,मणिशंकर अय्यर ने आज कोटा में स्थित एयरपोर्ट को झालावाड़ में लेजाने ,,को लेकर तीखी तल्ख टिपण्णी करते हुए कहा ,,के में समझा था ,,कोटा बढ़ी जगह है ,,हवाई सफर के बाद ,,कोटा एयरपोर्ट पर उतरूंगा ,,लेकिन मुझे एयरपोर्ट कोटा से झालावाड़ शिफ्ट करने की जानकारी के बाद अफ़सोस हुआ ,,उन्होंने कहा हमे तो ट्रेनों में सफर की आदत है ,,लेकिन खुद के रिश्तेदारों और निजी लाभ के लिए एयरपोर्ट को कोटा से झालावाड़ शिफ्ट करना ठीक बात नहीं है ,,मणिशंकर आज कोटा प्रेस क्लब में पत्रकारों को सम्बोधित कर रहे थे ,,उन्होंने कहा के राजस्थान में कांग्रेस के प्रति सकारात्मक माहौल है ,,कांग्रेस की मज़बूत स्थिति है और राजस्थान में तो हर हाल में कांग्रेस की सरकार बनेगी ही ,गुजरात में भी कांग्रेस की सरकार बन रही है ,,मणिशंकर अय्यर ने कहा के कांग्रेस 484 से 44 सीटों पर सिमटी है ,,लेकिन कांग्रेस मज़बूत है ,,भाजपा भी पहले 2 सीटों पर थी जो अब सरकार ,में ,कांग्रेस एक बार फिर मज़बूती के साथ केंद्र सहित सभी राज्यों में मज़बूती से आएगी ,,मणिशंकर ने एक सवाल के जवाब में पत्रकारों की ग़लतफ़हमी दूर करते हुए कहा के ,,केंद्र में 69 प्रतिशत भाजपा के खिलाफ वोट थे सिर्फ 31 प्रतिशत वोट में भाजपा की सरकार बनी है ,,उत्तरप्रदेश में लगभग सत्तर प्रतिशत वोट भाजपा के खिलाफ पढ़े है फिर भी ,,योगी जी मुख्यमंत्री बने है ,,उन्होंने कांग्रेस की भविष्य में जीत की गणित समझाते हुए कहा ,,बिहार को भूल रहे है आप ,वहां महागठबंधन में कांग्रेस के सुपरहिट परफॉर्मेंस रही यही ,,44 सीटों में से 27 साइट जीत कर आई है ,,मणिशंकर ने आंकड़ा बताते हुए कहा के हाल के लोकसभा चुनाव में ,,कांग्रेस को 19 प्रतिशत वोट मिले ,,भाजपा कांग्रेस से सिर्फ 12 प्रतिशत आगे थी ,,ऐसे में कांग्रेस को सिर्फ छह प्रतिशत वोह तोड़कर ,भाजपा से आगे निकलने में कोई दिक़्क़त नहीं है ,उन्होंने कहा हमारे वोट जो नाराज़ होकर गए है वोह दो प्रतिशत वोट फिर घर वापसी कर रहे है ,,जबकि दो प्रतिशत वोट भाजपा सरकार की नाकामयाबी की वजह से कांग्रेस की तरफ आने लगे है ,,उन्होंने कहा दूसरी पार्टियों के गठबंधन के साथ बकाया दो प्रतिशत वोट तो कांग्रेस हांसिल कर ही लेगी ,,लेकिन महागठबंधन के संकेत के बाद भारी वोटो से सत्ता में वापसी है ,,अय्यर ने सभी पार्टियों को कांग्रेस के साथ मिलकर महागठबंधन बनाकर चुनाव लड़ने के निजीतौर पर संकेत भी दिए ,,एक सवाल के जवाब में अय्यर ने स्वीकार किया के वर्तमान हालातो में राहुलगांधी और सोनिया गाँधी के कार्यालयों की दूरी कम होना चाहिए जिसमे राहुल गांधी के हाथ में कमान हो और सोनिया जी सम्पूर्ण मार्गदर्शक सलाहकार हो ,,,,उन्होंने एक सवाल के जवाब में दृढ़ता से कहा ,,में निजी तोर पर बैलेट गुप्तंतदान से कांग्रेस संगठन के चुनाव के पक्ष में हूँ ,,उन्होने कहा पूर्व में भी ऐसा होता रहा है ,,,अय्यर ने कहा के जितेंद्र प्रसाद ,,इंद्रा जी के खिलाफ चुनाव लडे थे लेकिन उनके 96 वोट और इंदिरा जी के सात हज़ार से ज़्यादा वोट आये थे ,,उन्होंने कहा राजीव गांधी खुद लोकतांत्रिक प्रणाली के पक्ष में थे 4 अप्रेल 1990 को उमाशंकर द्विवेदी की रिपोर्ट इस मामले में पेश हुई थी जो राजिव गांधी ने इसकी पालना की थी ,,अय्यर ने कहा ,,में चाहता हूँ बैलेट से राष्ट्रिय अध्यक्ष के चुनाव हो ,,लेकिन ,कहावत है बिल्ली के गले में घंटी कोन बांधे ,,उन्होंने कहा ,,खुद राहुल गांधी ,,सोनिया गांधी ,,कांग्रेस में इतने लोकप्रिय है के उनके खिलाफ कोई चुनाव लड़ने की सोच भी नहीं सकता ,,ऐसे में निर्वाचन तो बैलेट से ही होगा लेकिन सर्वसम्मत हो सकता है ,,,राजस्थान कांग्रेस के बारे में अय्यर ने कहा के यहां कांग्रेस मज़बूत है और हर हाल में कांग्रेस की सरकार राजस्थान में वापस आ रही यही ,,लोकसभा में भी यहां कांग्रेस के पक्ष में बेहतर प्रदर्शन रहेगा ,,,अय्यर ने एक सवाल के जवाब में कहा के पाक्सितान के वर्तमान हालातो में ,,मेरी निजी राय में बातचीत से भी कोई समाधान के बारे में सोचना चाहिए ,,उन्होने सीधे तोर पर कहा मोदी सरकार पाकिस्तान के खिलाफ विश्व में जो माहौल बनाने का प्रयास कर रहे है उसमे वोह पूरी तरह से विफल है ,,उन्होने कहा ,,पाकिस्तान के सैनिक शासक चाहे वोह केप्टीन अयूब हो ,,जनरल जियाउल हक़ हों ,,,चाहे मुशर्रफ हो सभी भारत से बेहतर संबंध बनाने के लिए वार्ता के लिए पक्षधर रहे है ,,खुद अटलबिहारी वाजपेयी ने भी मुशर्रफ को आगरा बुलाकर वार्ता की थी ,,जबकि कारगिल की शरारत खुद मुशर्रफ की थी ,,उन्होंने कहा जनरल जिया इंद्रा जी से शिमला समझौते की बात करके गए लेकिन बाद में मुकर गए ,,अय्यर ने कहा ,,हमारे सरकार को इस समाधान के लिए सैनिकों का वर्जन भी लेना चाहिए ,,अय्यर ने निजी तौरपर उनपर आक्षेप लगाने वाले सवाल पर कहा के ,में भारत सरकार के प्रतिनिधि के रूप में पाकिस्तान गया था ,,जहाँ वार्ता के बाद मेरे बयांन को चैनलों ने आधा दिखाकर मुझे निराश किया ,,मेरी छवि खराब की ,,उन्होंने कहा ,,में भारत सरकार के नुमाइंदे के रूप में पाक्सितान गया ,,बातचीत हुई ,,मुझ से पूंछा गया ,,भारत पाक के ख़राब संबंधो को बेहतर कैसे बनाया जा सकता है ,,मेने निजी राय देते हुए कहा भारत में मोदी को हटाकर ही सम्भव है ,,बस इस बयान को आधा बताया गया ,और मोदी को हटाने के लिए पाक्सितान की मदद मांगने के रूप प्रकाशित और प्रसारित किया गया जबकि मेरा आगे का बयांन जिसे पाकिस्तान में मुझसे आगे पूंछा गया के मोदी को कैसे हटा सकते है ,,तो मेरा जवाब था ,,वोह हमारा आंतरिक मामला है हम हटा देंगे ,,लेकिन सिर्फ आधा बयान दिखाकर मीडया ने गलत प्रचार किया ,,मणिशंकर अय्यर ने कोटा प्रेसक्लब की पुस्तिका में भी अपने संस्मरण दर्ज किये ,,,,प्रेसक्लब के अध्यक्ष गजेंद्र व्यास ,,,,,प्रेसक्लब के पूर्व अध्यक्ष धीरजगुप्ता तेज ,,वरिष्ठ उपाध्यक्ष मनोहर पारीक ,,उपाध्यक्ष प्रताप तोमर ,,सचिव जितेंद्र शर्मा ,,सह सचिव गिरीश गुप्ता ,,कोषाध्यक्ष मालसिंघ शेखावत ,,कार्यकारिणी सदस्य अख्तर खान अकेला ,,नितिन शर्मा ,,चन्द्रप्रकाश चंदू ,,स्वागत समिति के के के शर्मा ,,नरेश विजयवर्गीय ,,धीरेन्द्र राहुल ,,सुधींद्र गोड़ ,,असलम रोमी ने मणिशंकर अय्यर का स्वागत किया उनके साथ ,,प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव पंकज मेहता भी थे ,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...