हमें चाहने वाले मित्र

18 मई 2017

तो क्या हुआ कोटा कोचिंग नगरी भी पूरी तरह से नहीं रहा


तो क्या हुआ कोटा कोचिंग नगरी भी पूरी तरह से नहीं रहा ,,तो क्या हुआ कोटा के उद्योग भी बंद हो गए है ,,तो क्या हुआ कोटा में एयरपोर्ट की शुरुआत न नहीं हो सकी ,,तो क्या हुआ कोटा में रोज़ महिलाओं की चैने तोड़ी जाने लगी है ,,तो क्या हुआ ,,रोज़ बेरिकेट्स लगाकर पुलिस यहां खडी हो गयी है ,,तो क्या हुआ ,,कोटा में चिकित्सा सेवा ,,सरकार की चिकित्सा सेवा परफेक्ट तो क्या ,,परफेक्ट से आधी भी नहीं हो पाई है ,,तो क्या हुआ कोटा की रेल सेवाएं ,,प्लेटफॉर्म भी विस्तारित नहीं हुआ ,है ,,तो क्या हुआ राजस्थान सहित पुरे देश को बिजली पैदा करने के बाद भी इस कोटा शहर के लोग ,,अचानक बिजली घंटो तक गुल होजाने से परेशांन है ,,तो क्या हुआ ,,राजस्थान भर को ,पानी देने वाला यह कोटा शहर ,,,यहां के कई लोग पीने के पानी तक को तरस रहे है ,तो क्या हुआ कोटा का किसान कोटा के ग्रामीण क्षेत्र के लोग कृषि संबंधित समस्याओं से त्रस्त है ,,तो क्या हुआ यहां रोज़ डेंगू ,,स्वाइन फ्लू से लोगो की मोत हो रही है ,,,तो क्या हुआ कोटा का एक मात्र अंतरर्राष्ट्रीय व्यवसाय कोटा साडी ,,लुप्त होने लगा है ,,,,तो क्या हुआ यहां शिक्षा माफिया ,,चिकित्सा माफिया की लूट चरम सीमा पर है ,,तो क्या हुआ कोटा में रोज़ सड़को पर मवेशियों के कारण जानलेवा दुर्घटनाये हो रही है ,,बेहिसाब बेमौत लोग मर रहे है ,,,,तो क्या हुआ कोटा स्मार्ट सीटी में होकर भी स्मार्ट नहीं हो सका है ,,तो क्या हुआ कोटा का ,,कोटा स्टोन व्यवसाय तबाह और बर्बाद हो रहा है ,,खाने बंद हो गयी है ,,तो क्या हुआ कोटा का सोंदर्यकरण सुख गया है ,,,तो क्या हुआ कोटा में विकास की एक ईंट भी नहीं लगी है ,सिर्फ कांग्रेस के कार्यक्रमों को ही क्रियान्वित किया जा रहा है ,,तो क्या हुआ ,कोटा में मुकंदरा हिल ,,पर्यटन दर्शन की अड़चनों को अभी तक खत्म नहीं क्या जा सका है ,,तो क्या हुआ कोटा में मंदिर तक पहुंचने के लिए भी चौकी लगाकर जजिया कर वसूला जाने लगा है ,,,तो क्या हुआ कोटा क्लीन सीटी में होकर भी क्लीन नहीं बन सका है ,,,,तो क्या हुआ कोटा में सम्पूर्ण भाजपा के विधायक ,,सांसद होने के बाद भी यहां से एक भी मंत्री नहीं बनाया गया है ,,सरकार में कोटा की भागीदारी केबिनेट में कोटा की भागीदारी ज़ीरो हो गयी है ,,,,लेकिन दोस्तों यहां के जनप्रतिनिधि ,,यहाँ के नेता ,,यहां का प्रतिपक्ष फल फूल रहा है ,,आपस में दोस्ती सद्भाव ,,याराना ,,बिज़नेस पार्टनरशिप ,,सियासी पार्टनरशिप बढ़ रही है ,,फिर भी आगामी चौबीस तारीख को आदरणीय राजस्थान की मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा सिंधिया कोटा पहुंच रही है ,,,कोटा की ज़्यादा नहीं तो थोड़ी बहुत प्रशासन ने सुध ले ली है ,,जिन जिन मार्गों से आदरणीय मुख्यमंत्री साहिबा गुज़रेंगी ,,वहां वहां तो रंग रोगन की शुरुआत हो गयी है ,,वहां सफाई भी दिखेगी ,,एक मास्टर प्लान ऐसा तैयार किया जा रहा है ,,आदरणीय मुख्यमंत्री महोदया को आल इज़ वेळ नज़र आये ,,,देखते है ,,इस कोटा की सुध केंद्र सरकार या राजस्थान सरकार या फिर यहां की सत्ता पक्ष या फिर प्रतिपक्ष की सियासत कोटा की सुध कब लेते है ,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...