हमें चाहने वाले मित्र

21 मार्च 2017

ये जो कुल्फी खाते हुए

ये जो कुल्फी खाते हुए
एक हथेली कुल्फी के नीचे लगाये रहते हो ना
इसे कहते है "मोह" ।
😂😂😜😜😜
_________________________________
और कुल्फी खतम होने के बाद भी जो डण्डी चाटते ही रहते हैं

इसे कहते है "लोभ"।
🙏😀🙏
_____________________________________
और डण्डी फेंकने के बाद , सामने वाले की कुल्फी देखकर सोचना कि उसकी खत्म क्यों नहीं हुई,
इसे कहते है "ईर्ष्या" ।

___________________________________
और कुल्फी खतम होने से पहले डन्डी से नीचे गिर जाये और केवल डण्डी हाथ मे रह जाये तब तुम्हारे मन में जो आता है....
😁 इसे कहते है "क्रोध" ।
😳
________________________________
ये जो नींद पूरी होने के बाद भी 3 घंटे तक बिस्तर पर मगरमच्छ की तरह पड़े रहते हो ना !
इसे कहते है "आलस्य" । 😂😂
________________________________
ये रेस्टोरेंट में खाने के बाद जो कनस्तर भरके सौंफ और मिश्री का बुक्का मारते हो ना !!
इसे कहते है "टुच्चापन" । 😂😝😜
________________________________
ये जो ताला लगाने के बाद उसे पकड़ कर खींचते हो ना !!
इसे कहते है "भय" । 😜😝😂
________________________________
ये जो तुम WhatsApp पर मैसेज़ भेजने के बाद
बार बार दो नीली धारियाँ चेक
करते हो ना !
इसे कहते है "उतावलापन"। 😂😂
_______________________________
वो जो तुम गोलगप्पे वाले से कभी मिर्च वाला 🙄 कभी सूखा 😬 कभी दही वाला 😑 कभी मीठी चटनी 🙁वाला माँगते वक़्त उसे "भैया" बोलती हो ना..
इसे कहते है "शोषण" । 😂😂
_________________________________
फ्रूटी खत्म होने के बाद ये जो आप स्ट्रा से सुड़प-सुड़प करके आखिरी बून्द तक पीने की कोशिश करते हो न....
इसे कहते है "मृगतृष्णा" । 😜😜
_________________________________
ये जो तुम लोग केले 🍌 खरीदते वक्त, अंगूर 🍇 क्या भाव दिये ? बोल के 5-7 अंगूर खा जाते हो ना
इसे कहते है "अक्षम्य अपराध"। 😂😂😜😜😜😜
________________________________
ये जो तुम.. भंडारे में बैठकर..
खाते हुए.. रायते वाले को आता देखकर..
जल्दी से.. रायता पी लेते हो....!!
इसे कहते है "छल" ।
😂😂
___________________________________
और इस पोस्ट को पढ़कर जो हँसी आती है
उसे कहते है "मोक्ष"

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...