हमें चाहने वाले मित्र

15 नवंबर 2016

ें,,, सेफ्रॉन एजेंडे की दखल अंदाज़ी ,,,,क़तई बर्दाश्त नहीं करेंगे ,,,

राजस्थान वक़्फ़ बोर्ड ,, और राजस्थान वक़्फ़ सम्पत्तियों के रखरखाव मामले में भाजपा का सीधा दखल ,,संघ का सीधा दखल ,,और वक़्फ़ बोर्ड में विधिविरुद्ध तरीके से सेफ्रॉन एजेंडे के खिलाफ ,,वक़्फ़ बोर्ड के निर्वाचित सदस्य लामबंध हो गए है ,सभी सदस्यो ने ,,,एक राय होकर ,,सरकार को चेतावनी दी है ,,,के वोह लोग ,,,राजस्थान वक़्फ़ बोर्ड के क़ानूनी फेसलो और वक़्फ़ सम्पत्ति के रखरखाव में,,, सेफ्रॉन एजेंडे की दखल अंदाज़ी ,,,,क़तई बर्दाश्त नहीं करेंगे ,,,राजस्थान वक़्फ़ बोर्ड में ,,,,,हाल ही में बोर्ड की बैठक में ,,,बहुमत के आधार पर कुछ कमेटियां बनाने सहित ,,,,फैसले हुए थे ,,,,बस इसी मामले में ,,,,भाजपा प्रदेश अध्यक्ष,,, अशोक परनामी ने,,, वक़्फ़ बोर्ड की प्रोसिडिंग को स्थगित करने के आदेश देकर,,, बयांन जारी किया था ,,,इसी लिए अल्लाह की राह में समर्पित,,,, इस सम्पत्ति के रखरखाव को लेकर,,, आम मुसलमान चिंतित हो गया है ,,,बार कौंसिलर निर्वाचित सदस्य नासिर अली नक़वी ,,मुतव्वली सदस्य युसूफ खान ,,शोकत कुरैशी ,,,ने भाजपा प्रदेश अध्यक्षः की,,,, इस दखल अंदाज़ी को बचकानी हरकत बताते हुए कहा है के,,, केंद्रीय वक़्फ़ क़ानून के तहत राजस्थान वक़्फ़ बोर्ड का गठन होता है ,,जिसके चुनाव के बाद ही वक़्फ़ बोर्ड का गठन होता है ,,,उन्हें सम्पत्ति रखरखाव मामले में अपने फैसले लेने का हक़ होता है ,,ऐसे में अगर,,,, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वक़्फ़ बोर्ड के कार्यालय को,,, भाजपा कार्यालय की तरह चलाने की कोशिश करेंगे,,, तो इसका हर स्तर पर विरोध किया जाएगा ,,,नासिर अली नक़वी ,,युसूफ खान ने कहा के राजस्थान वक़्फ़ बोर्ड के गठन के बाद से ही यहां सेफ्रॉन एजेंडा लागू करने की कोशिशें की जा रही है ,,निर्वाचित लोगो को हटाया जा रहा है ,,बैठको में नहीं बुलाया जा रहा है ,,बोर्ड की बैठको और कार्यवाहियों को तमाशा बना दिया गया है ,,सरकार और भाजपा ,,आर एस एस का बेवजह दखल वक़्फ़ प्रबन्धन को नेस्त नाबूत कर रहा है ,,,हाल ही में वक़्फ़ बोर्ड की बैठक में ,,,जो फैसले हुए है ,,,वोह पारदर्शिता वाले फैसले है ,,विधि सम्मत फैसले है ,,ऐसे में ,,,,भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का एक फरमान ,,,,,के सभी फैसले रोक दिए जाए ,,,सेफ्रॉन एजेंडे को लागू करने की पहल है ,,इस मामले में ,,,सरकार को भी कोई दखल अंदाज़ी करने का अधिकार नहीं है ,,,नासिर अली नक़वी ने कहा के यह निर्वाचित बोर्ड है ,,केंद्रीय क़ानून के विधिक प्रावधानों के तहत अधिसूचना जारी कर ,,,,स्वायत्त शासी शक्तियों के साथ ,,,यह बोर्ड गठित हुआ है ,,इस के क्रिया कलापो में सरकार या भाजपा संगठन या आर एस एस कोई दखल देने का हक़ नहीं रखती ,,हाँ गलत कार्यवाही है ,,,तो जांच करवाने का अधिकार अलग बात है ,,,वोह भी विधिक प्रक्रिया अपना कर ,,,,जिसका प्रावधान वक़्फ़ क़ानून में उल्लेखित है ,,,,,,,,,,पिछले दिनों राजस्थान वक़्फ़ बोर्ड में राष्ट्रवादी मुस्लिम मंच ,,,,यानी मुस्लिम आर एस एस से जुड़े,,, एक सरकारी कर्मचारी ,,अबूबकर नक़वी को वक़्फ़ बोर्ड का अध्यक्ष सभी सियासी लोगो को अंगूठा बताकर बना दिया गया ,,वक़्फ़ बोर्ड का कार्यभार ग्रहण करते ही ,,बोर्ड के क्रियाकलापो में सेफ्रॉन एजेंडा की छवि देखने को मिली ,,,युसूफ खान निर्वाचित सदस्य को गैरक़ानूनी तरीके से हटा दिया गया ,,जो कोर्ट के आदेशो से बहाल होकर आये ,,फिर राज्यसभा सदस्य अश्क अली टाक को ,,बैठक में सदस्यता निर्योग्य की अधिसूचना जारी किये बगेर,,, बुलाना बन्द कर दिया ,,हबीबुर्रहमान विधायक तीन बैठको में नहीं आये,, उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई ,,शोकत कुरैशी सदस्य के खिलाफ ,,,घाट गेट की वक़्फ़ सम्पत्ति को लेकर ,,,मुक़दमा दर्ज करवा दिया गया ,,टोंक वक़्फ़ सम्पत्ति के ऐतिहासिक विकास कार्यो को रोकने के लिए ,,,परेशानियां पैदा की जाने लगी ,,ऐतिहासिक जामामस्जिद के मुतव्वली को गैरक़ानूनी तरीके से हटाने की कार्यवाही हुई ,,,पुरे राजस्थान में अराजकता का माहौल कर दिया गया ,,वक़्फ़ बोर्ड की बैठक बुलाकर दो बार बेवजह स्थगित कर दी गयी ,,,,, झालावाड़ की करोडो करोड़ की वक़्फ़ सम्पत्ति खुर्द बुर्द कर दी गयी ,,अबूबकर नक़वी ने ज़िला कमेटियों के गठन के लिए वक़्फ़ बोर्ड के सदस्यो के हक़ के खिलाफ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ,,विधायक ,,सांसदों से डिज़ायर लेना शुरू कर दी ,,,अलवर कमेटी बनाने को लेकर एक लाख रूपये रिश्वत लेने का ओडियो वाइरल हुआ ,,,खेर बैठक में सदस्यो ने अबूबकर मास्टर सर को वक़्फ़ क़ानून पढाया ,,,सदस्यो ने विधिसम्मत फैसले लिए ,,अब भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी कहते है फैसले स्थगित कर दो ,,,कोन है अशोक परनामी वक़्फ़ बोर्ड कोई भाजपा कार्यालय ने ,, वक़्फ़ सदस्य कोई भाजपा कार्यकारिणी नहीं ,,,पिछले दिनों अल्पसंख्यक मोर्चे के मजीद कमांडो ने कोटा में असलम शेर खान चिंटू को ज़िला अध्यक्ष बनांया था ,,भाजपा विधायको ,,भाजपा सांसदों ,,,कार्यकर्ताओ ,,पदाधिकारियो के खिलाफ बेहिसाब मुक़दमे दर्ज है लेकिन वोह पदाधिकारी है निर्वाचित है ,,बस अशोक परनामी साहिब का एक फरमान जारी हुआ ,,असलम शेर खान को मजीद कमांडो ने एक ही रात में हटा दिया ,,सिर्फ इसलिए के असलम शेर खान चिंटू ,,सेफ्रॉन एजेंडे की जगह राष्ट्रवादी एजेंडे न्यायवादी कार्यवाही के प्रति समर्पित थी ,,,,खेर एक अध्यापक को वक़्फ़ बोर्ड जैसी संस्था सम्भलवाकर भाजपा ने अपने प्रशासनिक अक्षमता का परिचय दिया है ,,,वक़्फ़ बोर्ड के इतिहास में बैठको को लेकर ,,फेसलो को लेकर ,,अराजक माहौल को लेकर पहली बार ऐसा तमाशा बना है और भगवाकरण की दखल अंदाज़ी शुरू हुई है ,,रूपये लेने के ऑडियो वाइरल हुए है ,,,वक़्फ़ सम्पत्ति के क़ब्ज़ेदार ,,, आपराधिक मुकदमो से जुड़े लोगो को के खिलाफ कार्यवाही नहीं हुई है ,,,,बात मुख्यमंत्री तक पहुंची है ,मुख्यमंत्री ने क़ानूनी राय ली है ,,वक़्फ़ बोर्ड के खिलाफ तो कुछ नहीं किया जा सकता ,,वक्फबोर्ड भंग नहीं किया जा सकता लेकिन अबूबकर नक़वी को बुलाकर उनसे इस्तीफा लिया जा सकता है ,,पहले राष्ट्रवादी मुस्लिम मंच के इंद्रेश कुमार इनके प्रबल समर्थक थे ,,लेकिन उनके द्वारा कुछ सुझाये गए नामो को तरजीह नहीं देने और इनके खिलाफ इलज़ामात की फहरिस्त उन तक पहुंचे के बाद उन्होंने भी अब पल्ला झाड़ लिया है ,,,,कोंग्रेस भी पिछली सरकार में ,,समर्पित कार्यकर्ताओ को तिरस्कृत कर नोकर शाहों को मुस्लिम इदारों में लायी थी ,,वक़्फ़ बोर्ड ,,मदरसा बोर्ड ,,उर्दू एकेडमी में गेर सियासी लोगो नोकरशाहों की नियुक्ति के बाद इन इदारों का हश्र बुरा हुआ था जो आज भी सुधर नहीं पाया है ,,वही गलती भाजपा ने ,,समर्पित कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर एक नोकर शाह को इस पद पर नियुक्ति देकर की है ,,,भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को दखल अंदाज़ी देने की जगह इस गलती को सुधारना चाहिए ,,भाजपा सरकार में बैठे मंत्री मुख्यमंत्री को इस मामले में अबूबकर के खिलाफ आरोपो की जांच होने तक उन्हें पद से हटाना चाहिए ,,,नया चेयरमेन नियुक्त करना चाहिए ,,देखते है क्या होता है ,,,,,,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...