हमें चाहने वाले मित्र

15 नवंबर 2016

दोस्तों ,,आदरणीय नरेन्द्र मोदी ने ,,कालेधन और आतंकवाद के सफाये के लिए आम आदमी से ,,,पचास दिन मांगे है ,,जाओ दे दिए

 दोस्तों ,,आदरणीय नरेन्द्र मोदी ने ,,कालेधन और आतंकवाद के सफाये के लिए आम आदमी से ,,,पचास दिन मांगे है ,,जाओ दे दिए ,,लेकिन जो लोग ,,आम आदमी के लिए नरेन्द्र मोदी के दिशा निर्देशो की पालना नहीं कर रहे ,,जो लोग इन निर्देशो का उलंग्घन कर नरेन्द्र मोदी के आदेशो को बदनाम कर रहे है ,,,ऐसे लोगो के खिलाफ निश्चित तोर पर ,कार्यवाही होना चाहिए लेकिन,,, सवाल यह है ,,के ऐसा करे कोन ,,,जो लोग परेशांन होते है वोह सरकार को कोसते तो है ,,लेकिन शिकायत नहीं करते ,,शिकायत अगर करते है तो कार्यवाही नहीं होती ,,लेकिन कोटा में एक आम नागरिक,,ज़ाहिद हुसेन निवासी बॉमबे योजना आर के पुरम ने ,, नरेन्द्र मोदी द्वारा रिज़र्व बैंक के ज़रिये जारी आदेश,,, जिसमे मेडिकल स्टोर पर ,,दवा खरीद के लिए हज़ार ,, पांच सो रूपये ,,,चलाने का आदेश है ,,उसकी पालना नहीं करने पर ,,ज़ाहिद हुसेन ने आज जिलाकलेक्टर ,,ड्रग इंस्पेक्टर ,,मुख्य चिक्तिसा स्वास्थ्य अधिकारी ,,, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रिज़र्व बैंक को शिकायत की है ,,शिकायतकर्ता ,,ज़ाहिद हुसेन ने बताया के ,,उनके बेटे ज़ुल्फ़िक़ार को डेंगू बीमारी होने के कारण ,,उन्होंने अपने बेटे को डॉक्टर हरी सक्सेना को वल्लभबाड़ी में दिखाया ,,उन्होंने जो दवा लिखी वोह चार सो तेतीस रूपये की थी ,,जिसे खरीदने वोह ,,पार्थ मेडिकल स्टोर ,,कोटरी रोड कोटा पर गए ,,दवा मांगी जो कुल चार सो तेतीस रूपये की थी ,,पांच सो रूपये का नॉट दिया तो मेडिकल स्टोर संचालक ने दवा देने से इंकार कर दिया ,,उसका कहना था यह नॉट बन्द है ,,यहां नहीं चलेंगे ,,ज़ाहिद हुसेन ने कहा ,,मेरे पास दूसरे रूपये नहीं है ,,मेरे बेटे को जल्द दवा की ज़रूरत है ,,में बेटे की देखभाल करने वाला अकेला हूँ ,,इसलिए लाइन में लगकर नॉट भी नहीं बदलवा सका आप पूरा नॉट रख लो में बाक़ी दवा बाद में ले जाऊंगा ,,,,लेकिन पार्थ मेडिकल स्टोर के संचालक आपे से बाहर हो गए ,,वोह नरेदंर मोदी को भी भला बुरा कहने लगे ,,उन्होंने कहा के मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता ,,जाओ में शिकायत नहीं करता ,,ज़ाहिद हुसेन ने कही से ,,मुख्य चिकित्सा अधिकारी के मोबाइल नम्बर लिए ,,उसे मोबाइल पर बात की ,,लेकिन उन्होंने लिखित में शिकायत देने को कहा ,,,ज़ाहिद हुसेन का कहना था के ऐसे न जाने कितने मरीज़ ,,अस्पताल और मेडिकल स्टोर की वजह से परेशानी में होंगे ,,कोई शिकायत नहीं करता इसलिए कार्यवाही नहीं होती ,,,इसलिए ज़ाहिद हुसेन ने अपने परेशानी छोड़ कर ,,इस मामले की लिखित शिकायत ,,कोटा ज़िला कलेक्टर ,, मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी ,ड्रग कंट्रोलर ,,,को की साथी ही स्पीड पोस्ट से सम्पूर्ण विवरण ,,प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ,,वित्त मंत्री अरुण जेठली ,,रिज़र्व बैंक गवर्नर को भी कार्यवाही करने को लेकर शिकायत की है ,,ज़ाहिद हुसेन की शिकायत में उन्होंने ऐसे मेडिकल स्टोर जो जनहित में जारी रिज़र्व बैंक के आदेशो की पालना नहीं करते ,,,आम लोगो को परेशांन करते है ,,यहां तक के आम लोगो से छुट्टा रुपया लेकर ,,बढे नोटों में बदलकर अपने बिल का हिसाब बताकर खाते में जमाकराकर मज़े कर रहे है ,,,उनके खिलाफ कार्यवाही होना चाहिए ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,देखते है कोटा ज़िलाकलेटर इस मामले में ड्रग कंट्रोलर से ऐसे मेडिकल स्टोर का लाइसेंस निलम्बित करवाते है ,,,कोई कार्यवाही करते है या नहीं ,,,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...