हमें चाहने वाले मित्र

28 सितंबर 2016

IAS अफसर का सुसाइड नोट- ‘CBI ने पत्नी-बेटी को बहुत मारा, टॉर्चर किया; कहा- वो हाल करेंगे कि मौत मांगोगे, दोनों का मर्डर हुआ है’




SUCIDE note of b k bansal and yogesh
बंसल के आरोपों पर सीबीआई ने जांच कराने की बात कही है।
नई दिल्ली.आईएएस अफसर बीके बंसल और उनके बेटे योगेश कुमार के चौंका देने वाले सुसाइड नोट बुधवार को सामने आए। दोनों ने सीबीआई पर परिवार को प्रताड़ित करने के आरोप लगाए हैं। बंसल ने अपना और बेटे का सुसाइड नोट जान देने से एक दिन पहले एक न्यूज एजेंसी को पोस्ट कर दिया था। नोट में उन्होंने लिखा, "सीबीआई के एक डीआईजी ने कहा था कि तेरी वाइफ और बेटी का वह हाल बना देंगे कि पूरा परिवार मौत मांगेगा, लेकिन मौत भी नहीं मिलेगी।" वहीं, योगेश ने सुसाइड नोट में परेशान करने वाले सीबीआई अफसरों के नाम लिखे हैं। इस बीच, सीबीआई ने कहा है कि आरोपों की जांच के बाद दोषी अफसरों पर कड़ी कार्रवाई होगी। नौ लाख रुपए लेते अरेस्ट हुए थे बंसल...
- बंसल पर आरोप था कि एक फार्मा कंपनी से टैक्स से जुड़ा मामला दबाने के लिए उन्होंने 50 लाख रुपए घूस की मांग की थी। उन्हें इसमें से 9 लाख रुपए घूस लेने के आरोप में सीबीआई ने गिरफ्तार किया था।
- आरोप था कि बंसल 176 करोड़ की ठगी के मामले को दबाने में मुंबई की एक फॉर्मा कंपनी की मदद कर रहे थे।
- जुलाई में जब वे हिरासत में थे, तब उनकी पत्नी अौर बेटी ने सुसाइड कर लिया।
- बंसल को इस बेस पर जमानत मिली कि उन्हें बेटे की देखभाल करनी थी और उन्हें डर था कि बेटा भी कहीं ऐसा कदम न उठा ले।
- हालांकि, दो महीने बाद बंसल और उनके बेटे योगेश ने भी सुसाइड कर लिया। दोनों की बॉडी 27 सितंबर को उनके घर पर मिली।
- 28 सितंबर को दोनों के सुसाइड नोट सामने आए जो उन्होंने जान देने से एक दिन पहले न्यूज एजेंसी पीटीआई को पोस्ट कर दिए थे।
सीबीआई का क्या कहना है?
- सीबीआई ने बयान जारी कर कहा है, ''बंसल के हाथ से लिखा कथित सुसाइड नोट मिला है। इसमें बंसल के खिलाफ रिश्वत मामले की जांच में कुछ सीबीआई अफसरों पर आरोप लगाए गए हैं। इन आरोपों की जांच होगी और इसके बाद ही दोषी अफसरों पर कार्रवाई होगी।''
पढ़ें आईएएस अफसर बीके बंसल का पूरा सुसाइड नोट
1# टॉर्चर की वजह से सुसाइड
- ''मैं यह सुसाइड नोट सीबीआई के टॉर्चर की वजह से कर रहा हूं। 18 जुलाई की रात को व 19 जुलाई की सुबह पूरी रात सीबीआई की लेडी ऑफिसर्स ने बहुत ही बुरी तरह टॉर्चर किया जो कि मेरी मिसेज ने अपनी फ्रेंड्स और नेबर्स को सुसाइड से पहले बताया। मेरी पत्नी को बहुत थप्पड़ मारे, नाखून चुभोए और गंदी-गंदी गालियां दीं।’’
आने वाली पुश्तें भी कांपेंगी
- ‘‘फोन पर डीआईजी ने बहुत ज्यादा टॉर्चर करने को बोला। मेरे सामने ही 18 जुलाई की दोपहर डीआईजी ने एक लेडी ऑफिसर को कहा था कि इतना टॉर्चर करना मां और बेटी को कि वे मरने लायक हो जाएं। मैंने डीआईजी से बहुत रिक्वेस्ट की लेकिन उन्होंने कहा कि तेरी वाइफ और बेटी को जिंदा लाश नहीं बना दिया तो मैं सीबीआई का डीआईजी नहीं। तुम्हारी आने वाली पुश्तें भी मेरे नाम से कांपेंगी और सीबीअाई को याद रखेंगी।’’
2# मेरी गलती पर पत्नी-बेटी को सजा क्यों
- ‘‘सीबीआई का डीआईजी महादुष्ट और महानीच है। उसने ही मेरे सामने दोनों लेडी ऑफिसर्स को मरणतुल्य टॉर्चर करने के ऑर्डर दिए थे। यह भी उतना जिम्मेदार है, जितना दोनों लेडी ऑफिसर। इसके अलावा एक बहुत मोटे हवलदार ने भी मेरी वाइफ के साथ बहुत गंदा व्यवहार और टॉर्चर किया। बहुत ही गंदी-गंदी गालियां मेरी वाइफ और डॉटर को दीं। अगर मेरी गलती थी तो मेरी वाइफ और डॉटर को क्यों सुसाइड करवाया गया?’’
3# मैं बड़े नेता का आदमी हूं
- ‘‘टॉर्चर करके यह सिम्पली दो लेडीज का मर्डर था। इसे सुसाइड नहीं कहा जा सकता। डीआईजी, दोनों लेडी ऑफिसर्स का और मोटे हवलदार का लाई डिटेक्टर टेस्ट करवाया जाए। सब सच सामने आ जाएगा। डीआईजी ने कहा था कि मैं एक बड़े नेता का आदमी हूं। मेरा कोई क्या बिगाड़ेगा। तेरी वाइफ और डॉटर का वो हाल करेंगे कि सुनने वाले भी कांप जाएंगे।’’
- ‘‘दूसरी रेड 18 जुलाई को लेडी ऑफिसर ने कहा था कि तेरे बेटे के और तेरे पति के टुकड़े-टुकड़े करके कुत्तों को डालेंगे। उनको इतना टॉर्चर किया कि वे मजबूर हो गईं सुसाइड करने के लिए। सीबीआई के डायरेक्टर को यह सब जांच करवानी चाहिए। इसलिए दोनों सुसाइड हुए। सुसाइड का पता चलने से पहले भी डीआईजी ने बहुत ही ज्यादा टॉर्चर किया और कहा कि तेरी वाइफ और डॉटर का वह हाल बना देंगे कि पूरा परिवार मौत मांगेगा। लेकिन मौत भी नहीं मिलेगी।’’
4# मर्डर जैसा टॉर्चर करती है सीबीआई
- ‘‘एक जांच ऑफिसर बहुत ही जिम्मेदार इंसान हैं। उन्होंने हर बार हौसला दिया कि अब कुछ भी गलत नहीं हाेगा। जो हो गया उसे भूल जाओ। भगवान उसे और उसके परिवार को सलामत रखे। लंबी उम्र दे और तरक्की दे। भगवान उसका भला करे।’’
- ‘‘मैंने सुना था कि सीबीआई टफ है। लेकिन इतना मालूम नहीं था कि डीआईजी, दो लेडी ऑफिसर और वह मोटा हवलदार जैसा मारने वाला (मर्डर जैसा) टॉर्चर भी सीबीआई करती है। यह दोनों (वाइफ और डॉटर) का मर्डर है सीबीआई द्वारा।’’
5# जीने की इच्छा खत्म हो गई
- ‘‘मैं, मेरी पत्नी और बेटी का सीबीआई द्वारा (सुसाइड करवाना) मर्डर करने से बहुत दुखी हूं और जीने की इच्छा समाप्त करके जा रहा हूं। अलविदा। भारत माता की जय हो।’
- ‘‘बालकृष्ण बंसल, एक्स डीजी, कॉर्पोरेट अफेयर्स, नई दिल्ली, 26.09.16’’
बेटे ने किया नामों का खुलासा
- योगेश ने सुसाइड नोट में लिखा है, ''मुझे सुसाइड के लिए मजबूर करने वाले सीबीआई के कुछ चुनिंदा अफसर हैं। डीआईजी, एसपी, डिप्टी एसपी, आईओ और एक हवलदार।''
- ''पांचों अफसरों ने मुझे अनऑफिशियली और ऑफ द रिकॉर्ड बहुत ज्यादा फिजिकली और मेंटली टॉर्चर किया। इसीलिए मैं सुसाइड का अनचाहा कदम उठा रहा हूं।''
- ''मेरी मम्मी और बहन को सीबीआई अफसरों ने इस हद तक टॉर्चर किया, इतना सताया, इतना रूलाया, इतना तड़पाया, इस हद तक परेशान किया कि उन्हें सुसाइड करना पड़ा।''
- ''हे भगवान! जो हमारे परिवार के साथ हुआ, ऐसा किसी हंसते-खेलते परिवार के साथ न करना।''

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...