हमें चाहने वाले मित्र

20 सितंबर 2016

निरीक्षण फार्मूले से ,,प्रदेश के निष्क्रिय पढ़े पदाधिकारियो में अफरा तफरी का माहौल

प्रदेश कोंग्रेस कमेटी कोंग्रेस के पदाधिकारियो को रिचार्ज करने के लिए ,,प्रदेश प्रभारी गुरुदास कामत ,,सहप्रभारी मिर्ज़ा इरशाद बेग ,,प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलेट के निरीक्षण फार्मूले से ,,प्रदेश के निष्क्रिय पढ़े पदाधिकारियो में अफरा तफरी का माहौल है ,,जबकि जो अध्यक्ष बदले जाने की अफवाहों का दंश झेल रहे है ,,वोह अपने लेखे जोखे की निष्क्रियता को लेकर शर्मिंदा से लग रहे है ,,राजस्थान में प्रदेश कोंग्रेस के पक्ष में जनता का भारी जनसमर्थन मिल रहा है ,,इधर प्रदेश कोंग्रेस कमेटी के ज़िला प्रभारियों से लेकर ग्रासरूट कार्यकर्ताओ ,,ब्लॉक अध्यक्षो ,,ज़िला अध्यक्षो द्वारा किये गए कार्यो की समीक्षा का परफॉर्मा बनाया है ,,,उसे भर कर देने में प्रत्येक ब्लॉक और ज़िला पदाधिकरी को पसीने आ रहे है ,,मजबूरी में अधिकतम पदाधिकारियो को झूँठ का सहारा लेना पढ़ेगा ,,लेकिन क्रॉस वेरिफिकेशन में ऐसे झूँठ लिखकर ब्यौरा देने वाले अगर पकड़े गए तो बस फिर उनकी खेर नहीं ,,वैसे भी कोंग्रेस के सहप्रभारी ,,अपने सहयोगियों के साथ जिलेवार बैठक ले रहे है ,,इसी क्रम में प्रदेश के सह प्रभारी मिर्ज़ा इरशाद बेग ,,प्रदेश उपाध्यक्ष मुमताज़ मसीह ,,प्रदेश सचिव विक्रम वाल्मीकि ने आज ,,बारां ,,झालावाड़ के पदाधिकारियो की क्लास ली है ,,,,,,,,,बुधवार इक्कीस सितम्बर को ,,सुबह दस बजे ज़िला कोंग्रेस कमेटी कोटा के अध्यक्ष शहर के पांच ब्लॉक अध्यक्ष और फिर दो बजे कोटा देहात की ज़िला अध्यक्ष ,,ग्रामीण क्षेत्र के सात ब्लॉक अध्यक्षो की लेखे जोखे की क्लास का वक़्त है ,,,,,,प्रदेश कोंग्रेस कमेटी की तरफ से भेजे गए ब्यौरे में प्रत्येक ब्लॉक अध्यक्ष को विधानसभा ,,लोकसभा ,,ज़िलाप्रभारियो के नाम ,,कार्यकारिणी का विवरण और फिर जनवरी से जून तक प्रत्येक माह की मासिक बैठक की दिनाक ,,कार्यवाही विवरण ,,उपस्थित पदाधिकारियो के नाम,,अनुपस्थित पदाधिकारियो के नाम और तीन बार अनुपस्थित पदाधिकारियो की सुचना देने की पाबन्दी है ,,,,वैसे तो प्रदेश के चार सो ब्लॉक अध्यक्ष ,,लगभग चालीस ज़िला अध्यक्ष अपना विवरण हाल ही में प्रदेश कोंग्रेस कमेटी में दे चुके है ,,लेकिन अब भौतिक सत्यापन के साथ साथ पदाधिकारियो की क्लास भी ज़रूरी हो गयी है ,,,सभी जानते है के कोंग्रेस की जिला कार्यकारिणियों ,,ब्लॉक कार्यकारिणियों की बैठके ,,एक दो अपवादों को छोड़कर कही भी विधिवत और नियमित नहीं हुई है ,,सभी ज़िले और ब्लॉक ,,क्षेत्र के भाईसाहब के नियंत्रण में होने से ,, उनकी मर्ज़ी से ही चलाये गए है ,,,कोंग्रेस की मंशा ,,निष्पक्षता ,,विधान और सक्रियता के हिसाब से नहीं चले है ,,ज़िलाप्रभारियो को इस मामले में सक्रिय करने और उनसे संवाद स्थापित करने के लिए कल जयपुर में प्रदेश कोंग्रेस कमेटी के सहप्रभारी और उपाध्यक्ष मुमताज़ मसीह ने बैठक भी आयोजित की है ,,,कोंग्रेस की सक्रियता के लिए ज़रूरी है के ब्लॉक और ज़िलों द्वारा दी गयी सुचना का क्रॉसवेरिफिकेशन करने के लिए पृथक से पर्यवेक्षको की नियुक्ति हो और झूँठ का पुलन्दा लिख कर देने वालो के खिलाफ कार्यवाही भी हो जबकि बेहतर काम करने वालो को पुरस्कृत भी किया जाए ,,,,,,,,वैसे तो आगामी दिनों में ब्लॉक अध्यक्षो में भारी उथल पुथल होने जा रही है ,,लेकिन वर्तमान हालातो में संगठन की यह सक्रियता ,,संगठन को और मज़बूत करने की दिशा में ज़रूरी क़दम है ,,अब ज़िला प्रभारियों पर भी ज़िम्मेदारियाँ सौंपी गयी है ,,लेकिन कांग्रेस संगठन को हर कार्य्रकम हर बैठक सिर्फ और सिर्फ कोंग्रेस कार्यालयों में ही करने के निर्देश देना होंगे ,,कोटा कोंग्रेस कार्यालय अभी तक सूना सूना सा लगता है ,,कई कार्यक्रम भाइसाहबो के कार्यालयों से निजी स्तर पर बिना कोंग्रेस कार्यालय की बैठक के होते रहते है ,,कोंग्रेस कार्यालय कोटा में नियमित खुलता है वहां ब्लॉक और दूसरे पदाधिकारियो की उपस्थिति सुनिश्चित करना होगी ,,कोंग्रेस कार्यालय को मज़बूत करने के लिए वहां सुचना पट्ट पर हर सुचना चस्पा करना अनिवार्य होगी और ,,कोई भी पार्टी का पदाधिकारी अगर कोटा आये तो वोह सर्किट हाउस की जगह कोंग्रेस कार्यालय ही अधिकतम समय गुज़ारे ,,विधिवत पूर्व सुचना कोंग्रेस कार्यालय को दे ,,अगर ऐसा सम्भव हुआ तो विरोधाभास भी नहीं होंगे और ,,पूर्व मंत्रियो विधायको की कोंग्रेस कार्यालय पर एक एक दिन उपस्थिति अनिवार्य होगी तो ,,कोंग्रेस कार्यालय में लोगो की आवाजाही भी बढ़ेगी ,,,देखते है अब इस नए मज़बूत फार्मूले से कोंग्रेस फेविकोल की तरह मज़बूत हो मज़बूत होकर उभरती है ,,यहां फिर झूंठी सूचनाओ के आधार पर मिले परफॉर्म रिकॉर्ड का हिस्सा बनते है ,,वैसे अभी सदस्यता का नया सेशन जनवरी 2016 से शुरू हो गया है इस कोंग्रेस सदस्यता नए सेशन के कई पदाधीकारी विधिवत सदस्य भी नहीं बने है ,,केवल दो दर्जन के लगभग ही अभी कोटा कोंग्रेस के नए सेशन के सदस्य है ,,ऐसे में इस तरफ भी पदाधिकारियो को जागरूक कार्यक्रम चलाना होगा ,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...