हमें चाहने वाले मित्र

14 सितंबर 2016

कोटा कलेक्ट्रेट के बाहर पिछले 76 दिनों से चम्बल शुद्धिकरण की मांग को लेकर ,,चलाया जा रहा ,,चम्बल बचाओ संघर्ष समिति ,,का धरना आज राकेश शर्मा राकू और कोटा उत्तर विधायक प्रह्लाद गुंजल के मध्य लिखित सहमति के बाद ,,अगले परिणामो के इन्तिज़ार तक स्थगित कर दिया गया

कोटा कलेक्ट्रेट के बाहर पिछले 76 दिनों से चम्बल शुद्धिकरण की मांग को लेकर ,,चलाया जा रहा ,,चम्बल बचाओ संघर्ष समिति ,,का धरना आज राकेश शर्मा राकू और कोटा उत्तर विधायक प्रह्लाद गुंजल के मध्य लिखित सहमति के बाद ,,अगले परिणामो के इन्तिज़ार तक स्थगित कर दिया गया है ,,,,विदित रहे के कोटा चम्बल में लगातार गन्दे नालो के गिरने के कारण चम्बल नदी जो कोटावासियो की श्रद्धा और पूजा का केंद्र होने और खुशहाली का ज़रिया होने से ,,इसकी सफाई की मांग को लेकर ,, चम्बल बचाओ संघर्ष समिति के संरक्षक ,,राकेश शर्मा राकू के नेतृत्व में सलीम भाई के प्रबन्धन के साथ कई कार्यकर्ता पिछले 76 दिनों से धरने पर बैठे थे ,,,चम्बल बचाओ संघर्ष समिति की मांग थी के चम्बल में पढ़ने वाले गन्दे नालो का आज तक कोई विकल्प नहीं तलाशा है ,,चम्बल के अवरोध के लिए नदी में बढे बढे पत्थर ,,बहाव को खराब कर रहे है ,,,जबकि चम्बल में लगातार गन्दगी होने से चम्बल का पानी ,, इंसानों ,,जानवरो के पीने लायक़ तो किया ,,खेती और कपड़े धोने लायक़ भी नहीं बचा है ,,,,कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर चल रहे इस धरने पर आज ,,कोटा उत्तर विधायक प्रह्लाद गुंजल पहुंचे ,,उन्होंने राकेश शर्मा और संघर्ष समिति के सदस्यो से वार्ता की ,,प्रह्लाद गुंजल ने साफ़ किया के चम्बल शुद्धिकरण का मुद्दा राजनितिक नहीं है ,,बल्कि प्राकृतिक मसला है ,,जो इस कोटा शहर की जनता से जुड़ा है ,,में इस मुद्दे पर ,,आप लोगो के साथ हूँ ,,प्रह्लाद गुंजल ने कहा के इस मामले में विधायक बनते ही उन्होंने ,,चंद्रघटा के नाले की सफाई और तकनीकी मामले में इंजीनियरों से बात की थी लेकिन डेढ़ सो करोड़ की पूर्व योजना ,,तकनीकी कमियों के कारण कामयाब नहीं हो सकी ,,उन्होंने कहा के इस मामले में उन्होंने गोदावरी धाम के नाले और दूसरे नालो की तकनीकी रिपोर्ट भी देखी है ,,अन्य अधिकारियो ,,मंत्रियो ,,मुख्यमंत्री से भी चर्चा की है ,,लेकिन चम्बल की दोनों तरफ बढ़ी पिचिंग वाल ,,बनाई जाकर ,,इन नालो का बहाव ,,वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के साथ ,,इसी अनुपात की गहराई में खोदकर ले जाना ही इसका हल है ,,इस तर्ज़ पर वोह इंजीनियरो से चर्चा कर रहे है ,,उन्होंने कहा के रीर के अधिकारियो से इस मुद्दे पर चर्चा हुई है ,,डी पी आर बन रही है ,,अगर रीर अपना पक्ष ,,तकनीकी रिपोर्ट के साथ सही तरह से रखने में कामयाब हुई तो राज्य सरकार की मदद से ,,केंद्र सरकार इस मामले में पांच हज़ार करोड़ से भी अधिक का बजट दे सकती है ,,,चम्बल बचाओ संघर्ष समिति के राकेश शर्मा राकू ,,अख्तर खान अकेला ,,सलीम भाई ,,पूर्व पार्षद बुआ जी सहित सभी ने प्रह्लाद गुंजल से इस मामले में लिखित आश्वासन देने को कहा ,,तो प्रह्लाद गुंजल ने इस मुद्दे पर की गयी कार्यवाही ,,समर्थन और भविष्य की कार्यवाही की जानकारी देने के आश्वासन के साथ इस मुद्दे के स्थाई समाधान के प्रयास करने को लेकर लिखित सहमति पत्र खुद की लेखनी में लिखा ,,उन्होंने कहा आज हिंदी दिवस भी है ,,मुझे खुद अपनी हसलेखनी में ,, हिंदी भाषा में पत्र लिखने का अवसर दिया है ,,प्रह्लाद गुजंल ने चम्बल बचाओ संघर्ष समिति के नियमित रजिस्टर में ,,लिखित में आश्वासन देने के बाद ,,संघर्ष समिति के सदस्यो ने ,,अग्रिम कार्यवाही होने तक ,,धरने को स्थगित रखने की घोषणा करते हुए ,,धरना समाप्त किया ,,धरना स्थल पर विधायक प्रह्लाद गुजंल ने ,,राकेश शर्मा राकू को माला पहना कर ,,धरना स्थगन की घोषणा के बाद स्वागत किया जबकि ,प्रह्लाद गुजंल के समर्थन के बाद सभी साथियो ने चम्बल बचाओ संघर्ष समिति ज़िंदाबाद ,,प्रह्लाद गुंजल ज़िंदाबाद के नारो के साथ प्रह्लाद गुंजल को फूल मालाओ से लाद दिया ,,धरना स्थल पर धरने की आंशिक सफलता के बाद मिठाइयां बांटी गयी ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...