हमें चाहने वाले मित्र

11 अगस्त 2016

वेलकम बेक टू ,,जांबाज़ पुरस्कृत फोटो जर्नलिस्ट ,,रफ़ीक़ पठान ,,इन दैनिक भास्कर कोटा ,

वेलकम बेक टू ,,जांबाज़ पुरस्कृत फोटो जर्नलिस्ट ,,रफ़ीक़ पठान ,,इन दैनिक भास्कर कोटा ,,,,,,जी हां दोस्तों ,,प्रेस फोटोग्राफर में जाना माना हुनरमन्द ,,ख्यातनाम ,,रफ़ीक़ पठान को कोन नहीं जानता ,,दुर्लभ ,,कलात्मक सहित कई विशिष्ठ एंगल के फोटो प्रकाशन को लेकर ,,रफ़ीक़ पठान भास्कर की साख को कई बार ऊंचा नाम दे चुके है ,,रफ़ीक़ पठान फिर से पिछले कुछ दिनों से भास्कर में अपने फोटोग्राफ दे रहे है ,,सच मानिये तो ,,में खुद भास्कर सहित कई दैनिक समाचार पत्रों का नियमित ग्राहक ,,नियमित पाठक हूँ ,,लेकिन पिछले कुछ वर्षो से जब ,,रफ़ीक़ पठान इनके लुहावद गाँव के लोगों की ज़िद ,,उनके प्यार के आगे समर्पित होकर रिकॉर्ड तोड़ वोट से जीतकर सरपँच बन गए तो ,,सच में भास्कर रोज़ पड़ता तो था ,,लेकिन भास्कर ,,रफ़ीक पठान के फोटो के बगैर ,,कुछ फीका फीका सा नज़र आता था ,,अब पिछले कुछ दिनों से भास्कर में कुछ फोटू देखकर ,,में अचम्भित हुआ ,,फोटू का एंगल ,,अंदाज़ देखते ही में समझ गया ,,प्रेसफोटोग्राफी का लॉयन फिर से ,,फोटो पत्रकारिता में आ गये है ,,रफ़ीक़ पठान जो करते है ,,दिल से करते है ,,पिछले दिनों जब यह लुहावद के सरपँच रहे ,,तो रिकॉर्ड तोड़ विकास कार्यो के लिए इन्हें राजस्थान सरकार ने और फिर भारत सरकार के तात्कालिक प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह ने बेस्ट सरपँच एवार्ड से सम्मानित किया ,,रफ़ीक़ पठान ,,प्रेस फोटोग्राफर रहे तो ,,इनकी फोटोग्राफी के सभी क़ायल रहे ,,राज्य सरकार ,,जिला प्रशासन ,,खुद दैनिक भास्कर सम्पादक मण्डल ने इनके दुर्लभ ,,खूबसूरत ,,मुंह बोलती फोटोग्राफी के लिए कई बार सम्मानित किया ,,रफ़ीक़ पठान पिछले कई दिनों से फोटो ग्राफी की दुनिया से अलग थलग थे ,,लेकिन फोटोग्राफी उनका व्यवसाय नहीं शोक रहा है ,,इसीलिये इस कलात्मक शोक के लिए उन्होंने ,,हमेशा नयी तकनीक के महंगे से महंगे ,,कैमरे खरीदे है ,,इनका कैमरा कैमरा नहीं ,,एक दर्पण ,,एक ऐ के फोर्टी सेवन है ,,,जो हर बुराई को आईना दिखाती ही ,,डराती है ,,,,पिछले दिनों रफ़ीक पठान सपरिवार उमराह ,,पवित्र यात्रा पर मक्का मदीना गए तो इन्होंने अपनी फोटोग्राफी विधा का सकारात्मक उपयोग किया ,,हर पवित्र जगह ,,हर पवित्र इबादत के तोर तरीक़ो को इन्होनें कैमरे में क़ैद कर ,,कोटा के लोगो के लिए ,,सोशल मिडिया पर ,,,लाइव टेलीकास्ट किया ,,,शायद इसी दौरान ,,इस पवित्र धरती मक्का शरीफ पर ,,रफ़ीक़ पठान के दिल में एक बार फिर ,,सब कुछ छोड़ कर ,,क़ुदरत ने उन्हें जो हुनर दिया है ,,उस फोटोग्राफी की तरफ ,,आने को मजबूर किया ,, अब रोज़ दैनिक भास्कर कोटा संस्करण में रफ़ीक़ पठान के ,,,एक से बढ़ कर एक ,,जीवन्त ,,मुंह बोलते फोटो देखने को मिल रहे है ,,रोज़ सुबह ,,चाय के नाश्ते के साथ ,,भास्कर अब लज़ीज़ लगने लगा है और खूबसूरत दिखने लगा है ,,,शाबाश रफ़ीक पठान ,,वेलकम रफ़ीक़ पठान ,,धन्यवाद भास्कर सम्पादक मंडल ,,जो भाई रफ़ीक पठान को फिर से ,,इस फोटोग्राफी कार्य के लिए मौका दिया ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...