हमें चाहने वाले मित्र

30 जुलाई 2016

अगर दयासिह जैसा हाल सभी का होता रहे

सार्वजनिक रूप से अमर्यादित तरीके की बकवास करने पर अगर दयासिह जैसा हाल सभी का होता रहे ,,क़ानून अपना काम करे और ऐसे बकवासी भाइयो को जेल भिजवाया जाता रहे ,,तो यक़ीन मानिये देश में फ़ालतू बकवास कर अराजकता का माहौल बनाने और खुद को हीरो साबित करने वाले क़ानून के शिकंजे में होंगे और हालातो में खुद ब खुद सुधार होगा ,,आज ,,अरविन्द केजरीवाल हो ,,या फिर कोई और नेता हो ,,मानहानि और अपशब्दो के लिए क़ानूनी प्रक्रिया का सामना कर रहे है ,,,अगर ऐसा ही हाल ,,देश में माहौल बिगाड़ने वालो के खिलाफ भारतीय दण्ड संहिता की धारा 153 क ,,295 क सहित कई धाराओं में मुक़दमे दर्ज होकर कार्यवाही होने लगे तो बकवासी लोग सभी जेल में हो ,,और निरन्तर बकवास होने पर उनके खिलाफ हिस्ट्रीशीट खुल जाने पर उनकी ज़मानत के लाले पढ़ जाएंगे ,,राजस्थान में एक महाशय थे जिन्हें जब अजमेर की जेल में रहना पढ़ा ,,जेल में मच्छरों ने काटा तो सब ठीक हो गया ,,अगर देश में ओवेसी ,,योगी ,,साध्वी सहित जो भी कोई देश के क़ानून की मर्यादाओ के खिलाफ स्वतन्त्र अभिव्यक्ति के अधिकार का नाजायज़ फायदा उठाता है ,,उसके खिलाफ अगर कार्यवाही शुरू हो जाए तो यक़ीनन देश के हालातो में सुधार आने लगेगा ,,लेकिन उत्तर प्रदेश ने बकवासी भाइयो को शरण दे रखी है ,,,उनके खिलाफ क़ानून के डंडे का इस्तेमाल वोट के डर से नही किया गया ,,देश को भुगतना पढ़ रहा है ,,नसीमुद्दीन हो ,,मायावती हो ,,कोंग्रेस हो ,,भाजपा हो ,,सपा हो ,आप हो ,,में हूँ या फिर कोई और हो हमे मर्यादाये तो रखना ही होंगी ,,,वरना देश में समाजकंटको सा अराजकतामय माहौल होगा और हम खुद खुद को कभी माफ़ नहीं कर सकेंगे ,,अख्तर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...