हमें चाहने वाले मित्र

09 अप्रैल 2016

हमारी भारतीय संस्कृति

मेरे दोस्तों ,,मेरी सहेलियों ,,हमारी भारतीय संस्कृति में ,,विनम्रता से नमस्कार करने का चलन आदिकाल से है ,,क्योंकि विनम्रता से दोनों हाथ जोड़कर आपने अगर किसी दूसरे को नमस्कार किया ,,अगर उसने जवाब दिया तो ठीक ,,जवाब नहीं दिया तो वह अपमानित होगा ,,आप नहीं ,,इस्लाम में क़ुरआनी आदेश के तहत ,,सामने वाले को ,,सलामत रहने की दुआ ,,अस्सलामो अलेकुम ,,हमने कहा ,,सामने वाले ने तुम भी सलामत रहो ,,वालेकुम सलाम कहकर जवाब दिया ,,तो ठीक है , लेकिन सामने वाले ने जवाब नहीं दिया तो अपमानित जवाब नहीं देने वाला ही होगा ,आप नहीं ,,,लेकिन ज़रा सोचो ,,आपने ,,हमने,, किसी के सामने शेक हेंड करने ,,हाथ मिलाने के लिए ,,हाथ बढ़ाया ,,और सामने वाले ने हाथ नहीं मिलाया ,,तो फिर तो देखने वालों के सामने आपका हाथ बढ़ा हुआ और सामने वाले का हाथ आप के लिए नहीं बढ़ने पर ,,आपका ही अपमान हुआ ना ,,तो दोस्तों हम मुस्लिम ,,नए साल मोहर्रम की बात करते है ,,लेकिन करते तो शेक हैंड ही ना ,,हम नवसंवत्र हिन्दू नए साल की बात करते है ,,लेकिन करते तो शेक हेंड ही ना ,,चाहे मोदी हो ,,चाहे मोलवी मौलाना ,,तो जनाब ,,मेरे सभी हिन्दू भाइयों को नवसंवत्र ,,नए साल पर दिली मुबारकबाद ,,बधाई ,,,,ईश्वर से,, अल्लाह से दुआ ,,हमारा देश तरक़्क़ी करे ,,खुशहाल रहे ,, मुसीबतों और झंझटों से मुक्त रहे ,,देश का इक़बाल पुरे विश्व में बुलंद रहे ,,तिरंगा लहराता रहे ,,सीमाएं सुरक्षित रहे ,,, जुमलेबाज झूंठे नेता ,,झूंठे सियासी लोग ,,जो देश की जनता को गुमराह कर कुर्सी हथियाते है ,,फिर वायदे भूल जाते है ,, वह किसी भी पार्टी ,,किसी भी दल के हो ,, वह लोग जेल में हो ऐसा क़ानून बने ,, देश में अमन ,,चेन ,,खुशहाली ,,भाईचारा ,,सद्भावना हो ,,,आप हमारी मस्जिदों की हिफाज़त करे ,,हमारे मज़हबी चलन का अदब करे ,,हम आपके मंदिरों की हिफाज़त करे ,, हम आपके मज़हबी चलन का सम्मान करे ,,आओ हम सब मिलकर राष्ट्रहित में आत्मचिंतन करे ,,इस नववर्ष की शुभकामनाओ के साथ ,,खुद को ओरिजनल राष्ट्रीयता की तरफ आत्मसात करे ,,,एक बार फिर मेरे सभी भाइयों ,,बहनो ,,माताओं ,,बुज़ुर्गों ,,सहेलियों को हिन्दू नव वर्ष की शुभकामनाये ,,मुबारकबाद ,,बधाई ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...