हमें चाहने वाले मित्र

21 अप्रैल 2016

इस कोटा शहर में

सूना है ,इस अंधे ,,गूंगे ,,बहरे ,,सियासी उपेक्षित ,,पत्रकारिता क्षेत्र के चापलूस लोगों के इस कोटा शहर में कल राजस्थान की मुख्य्मंत्री श्रीमती वसुंधरा सिंधिया और राजस्थान के राज्यपाल महोदय कोटा पहुंचे थे ,,न तो प्रतिपक्ष ने कोई प्रतिकार किया ,,ना ही ,,सत्ता में उपेक्षित लोगों ने कोटा को सम्मान दिलवाने की बात की ,,न एयरपोर्ट ,,न सियासी प्रतिनिधित्व कुछ भी तो नहीं ,,खेर सत्ता से जुड़े लोग तो मजबूर बेबस लाचार थे ,,,प्रतिपक्ष के लोगो की तो गठबंधन जोड़ियां बनने से वह खामोश थे ,,लेकिन पत्रकारों का क्या ,,उन्हें हर मुद्दे पर सवाल उठकर महारानी साहिबा को मुख्य्मंत्री झालावाड़ के आलावा पुरे राजस्थान जिसमे कोटा भी शामिल है ,,का होने का अहसास दिलाना चाहिए था ,,अफ़सोस जिस कोटा ने राजस्थान को राज्य बनाने में क़ुरबानी दी ,,आहुति दी ,,उस कोटा जिले के किसी भी विधायक को न तो मंत्री बनाया गया है ,,इस कोटा जिले को मुख्य्मंत्री की जन सुनवाई से उपेक्षित रखा गया है ,,यहां फैक्ट्रियां बन्द है ,,अस्प्तालों में लूट ,,क़ानून व्यवस्था लचर ,,,एयरपोर्ट ,,आई एल ,,किसानो के मुद्दे ,,महिला अत्याचार के मुद्दे हवा हवाई हो गए ,,वाह महारानी साहिबा आपका जलवा ,,आपका हुनर ,,सवाल करने वाले भी आपके आगे पीछे हाथ बांधे खड़े थे ,,सुपर हिट बधाई ,,इस कोटा के साथ जो पुरे देश को ,,पुरे राज्य को अपना पेट काट कर ,,अपनी सुविधाएं काट कर ,,इंजीनियर ,,डॉकटर ,,सी ऐ वगेरा देता है ,,यह कोटा सभी को पानी ,,बिजली ,,,पत्थर ,,कोटा डोरियां ,,रोज़गार देता है ,,इस कोटा के साथ इस कोटा वालों के साथ जो उपेक्षा की गई है और कल जो गठबंधन ,,जी हुज़ूरी दिखी सच यह कोटा अब तो इसी उपेक्षा के लायक हो गया है ,,,यहां क्रान्ति है लेकिन क्रान्ति नहीं ,,यहां इन्साफ है लेकिन इंसाफ नहीं ,,यहां ओम है ,,प्रह्लाद है ,,भवानी है ,,हीरा है विद्या है ,,चन्द्र है लेकिन वाह कोटा वाह ,,शाबाश कोटा की जनता जिन्होंने ऐसे लोगों को चुना ,,ऐसी पत्रकारिता को भाव दिया ,,शाबाश कोटा शाबाश ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...