हमें चाहने वाले मित्र

20 अप्रैल 2016

,,सोचता हूँ

मेरे देश के प्यारे ,,बहनो ,,भाइयों ,,सोचता हूँ ,,में चाय की दूकान पर बैठ कर ,,चाय बेचने का प्रचार शुरू कर दूँ ,,में जनता से विदेशो में लोगों का रखा ,,काला धन ,,पीला धन ,, नीला धन ,,सफेद धन ,,सभी तरह का संतरंगी धन ,,भारत में लाने का वायदा कर लूँ ,,सभी लोगों के खाते में पन्दरह लाख नहीं पचास लाख रूपये जमा करवाने का वायदा कर लूँ ,,,,मेरा सीना सत्तर इंच का बयान करूँ ,,विश्व को हिन्दुस्तान में शामिल करने का भाषण दूँ ,,सवा अरब लोगों को रोज़गार देने का वायदा कर लूँ ,,फिर तो भाइयों में देश का प्रधानमंत्री पूर्ण बहुमत से बन जाऊँगा न ,,मेरे कुछ साथियों को घबराने की ज़रूरत नहीं है ,,,मेरी पार्टी का अध्यक्ष उन्हें ही बनाऊंगा ,,मंत्री दर्जा जेड सुरक्षा तो मामूली बातें है ,,चुनाव हार भी गयी तो यूँ ही चुटकियों में चुनाव बुरी से हारने के बाद भी ,,मेरे चमचो को मंत्री तो बनाऊंगा ,,अख़बार वाले जो मेरे होंगे उन्हें पद्म श्री दिलवाऊंगा ,,,,,,,,,,,,,,,चुप रहूँगा ,,विश्व घूमूंगा और क्या बोलो ,,अगला प्रधानमंत्री का फार्मूला मेरे पास आ गया है ,,अब तो मेरा प्रधानमंत्री बनना निश्चित है ,,अख्तर

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...