हमें चाहने वाले मित्र

21 मार्च 2016

WC: अमिताभ पर लगा गलत एंथम गाने का आरोप, पुलिस तक पहुंचा मामला



अमिताभ बच्चन ने भारत का नेशनल एंथम गाया।
अमिताभ बच्चन ने भारत का नेशनल एंथम गाया।
कोलकाता/इस्लामाबाद.अमिताभ बच्चन के खिलाफ दिल्ली के अशोक नगर पुलिस स्टेशन में भारत-पाकिस्तान मैच से पहले गलत एंथम गाने की शिकायत की गई है। शनिवार को कोलकाता में हुए भारत-पाकिस्तान मैच के पहले दोनों देशों के नेशनल एंथम गाए गए थे। अमिताभ बच्चन ने जन गण मन गाया था। किसने की शिकायत और क्या लगाए आरोप...
- अमिताभ के खिलाफ गलत तरीके से नेशनल एंथम गाने के मामले में दो शिकायत दर्ज की गई है।
- दिल्ली के अशोक नगर थाने में एक फिल्ममेकर ने अमिताभ पर नेशनल एंथम को तय समय (52 सेकंड) से ज्यादा देर (1 मिनट 22 सेकेंड) तक गाने का आरोप लगाया है।
- इसी तरह की एक और शिकायत मुंबई के जुहू पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई गई है।
-उल्हास पीआर नाम के शख्स ने आरोप लगाया है कि नेशनल प्रो कबड्डी लीग के दौरान भी अमिताभ ने गलत तरीके से नेशनल एंथम गाया था।
- कंपलेंट में कहा गया है कि अमिताभ ने न सिर्फ तय समय से ज्यादा देर तक नेशनल एंथम गया बल्कि 'सिंधु' शब्द को गलत तरीके से गाया।
- गौरतलब है कि इससे पहले अमिताभ पर 4 करोड़ लेकर नेशनल एंथम गाने के आरोप भी लगे थे। हालांकि इसे ऑर्गनाइजर ने खारिज कर दिया है।
सौरव गांगुली बोले, अमिताभ ने 30 लाख खुद खर्च किए
- आनंदबाजार पत्रिका से बातचीत में बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने सोशल मीडिया में चल रही अफवाहों को खारिज कर दिया।
- सौरव ने कहा, "अमिताभ स्पेशल हैं और उन जैसा कोई नहीं हो सकता। मैं उनका आभारी हूं। नेशनल एंथम गाने के लिए वो अपने खर्च पर आए। उन्होंने खुद की जेब से 30 लाख रुपए खर्च किए। जब मैंने उन्हें कुछ अमाउंट देना चाहा तो उन्होंने लेने से इनकार कर दिया। बच्चन ने मुझसे कहा- मैं आप लोगों के प्यार की वजह से यहां आया हूं। इसमें पैसे का सवाल ही नहीं है।"
शफकत बोले- ऑडियो ही खराब था, मैंने तो सही गाया
- इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि अमिताभ ने राष्ट्रगान गाने के लिए एक फूटी कौड़ी भी नहीं ली।
- सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने अफवाह फैलाई कि ईडन गार्डन में नेशनल एंथम गाने के लिए बच्चन ने चार करोड़ रुपए फीस ली थी।
- पाकिस्तान का नेशनल एंथम गाने वाले मशहूर क्लासिकल सिंगर शफकत अमानत अली खान अपने ही देश के लोगों के निशाने पर आ गए।
- ट्विटर पर पाकिस्तानियों ने शफकत को खूब खरी-खोटी सुनाई। उनकी बहुत बेइज्जती की गई।
- बुरी तरह फंसे शफकत ने अब सफाई दी कि स्टेडियम का ऑडियो सिस्टम ठीक नहीं था। वहां कुछ टेक्निकल प्रॉब्लम था। इसलिए लोगों को लगा कि उन्होंने कौमी तराना (राष्ट्रगान) सही नहीं गाया।
शफकत ने गलत गाया एंथम, ट्विटर यूजर्स बोले- इनसे अच्छा तो बच्चे गाते
- यूजर्स ने कहा था कि शफकत ने नेशनल एंथम गलत तरीके से गा दिया। मैच के बाद पाकिस्तानियों ने उन पर जमकर भड़ास निकाली थी।
- एक ट्विटर यूजर ने कहा कि शफकत ने नेशनल एंथम गाते हुए दो जगह गलती की।
- इस यूजर के मुताबिक, शफकत से बेहतर नेशनल एंथम तो देश का कोई भी बच्चा गा देता।
- कुछ लोगों ने कहा कि अमिताभ ने अपने देश के नेशनल एंथम को बहुत बेहतरीन तरीके से गाया।
क्या रिएक्शन थे शफकत पर लोगों के?
- ‎@SaayanAli ने तीखा हमला किया। उन्होंने कहा, "शफकत से बेहतर तो पहली क्लास में पढ़ने वाला बच्चा गा देता। हम तो मैच तभी हार गए थे, जब नेशनल एंथम ही गलत गाई गई थी।"
- ‏@hisBaajaness नाम के ट्विटर हैंडल पर यूजर ने कहा, "शफकत ने बेहद घटिया परफॉर्म किया। इससे बेहतर तो ये होता कि वो खुमारियां गा देते।"
- ‎@DrAwab ने कहा, "कोई तो शफकत को गाने की ट्रेनिंग दे। उन्हें बताए कि बड़े मौकों पर कैसे गाया जाता है।"
- @ejazhaider ने गलतियों की तरफ इशारा किया। उन्होंने लिखा कि शफकत ने नेशनल एंथम गाते हुए दो जगहों पर गलती की।
- ‎@AyeeshaMirza के मुताबिक, ऐसा लगा जैसे शफकत स्कूल में किसी समरी को पढ़ते हुए उसे भूल गए हों।
शफकत से अच्छे तो इमरान होते
- @Malghaniii से किए गए ट्वीट में कहा गया है कि शफकत से बेहतर तो वहां मौजूद इमरान खान पाकिस्तान का नेशनल एंथम गा सकते थे।
- हसन जैदी ने अपने ट्विटर अकाउंट @hyzaidi पर कहा, "रियाज जरूरी होता है। अमिताभ बच्चन शफकत के मुकाबले बहुत बेहतर नजर आए।"
- @viitvdotcom पर कहा गया कि शफकत तो अपने देश का नेशनल एंथम ही भूल गए।
कौन हैं शफकत अमानत अली?

- पाकिस्तान के क्लासिकल सिंगर हैं और पटियाला घराना से ताल्लुक रखते हैं।
- वह पाकिस्तानी रॉक बैंड फ्यूजन के मेन सिंगर्स में से एक हैं।
- 2007 में उन्हें पाकिस्तान का प्रेसिडेंट प्राइड ऑफ परफार्मेंस अवॉर्ड मिल चुका है।
- उनका फेमस सॉन्ग 'आंखों से सागर' सुनकर शंकर महादेवन ने रेडियो जॉकी को फोन किया और शफकत का मोबाइल नंबर लिया। उन्हें बॉलीवुड में ब्रेक दिया।
- कभी अलविदा न कहना फिल्म का सॉन्ग 'मितवा...' और सत्याग्रह का 'रस के भरे तोरे नैन' उनके हिट गाने हैं।
हार के बाद फिर टूटे टीवी, सड़कों पर टीम के खिलाफ नारेबाजी
- कराची और लाहौर में मैच खत्म होने के पहले ही लोग सड़कों पर उतर आए। टीम और खासकर कप्तान आफरीदी को लेकर जमकर नारेबाजी की।
- नाराज लोगों ने कहा कि अब बहुत हो चुका। आफरीदी को कप्तानी से इस्तीफा दे देना चाहिए।
- एलईडी और एलसीडी जैसे महंगे टीवी रैली निकालकर तोड़े गए।
- एक पाकिस्तानी क्रिकेटर ने नेशनल चैनल पर दो टूक कहा- "अब मैं समझ गया हूं कि हमारी टीम कभी क्रिकेट में भारत को हरा नहीं सकेगी।"
- एक फैन ने कहा कि पीसीबी बूढ़ों और नेताओं का अड्डा बन गया है।

1 टिप्पणी:

  1. Enjoy Online Gatha HoLI Offer,start publishing with OnlineGatha and Get 15% Off on ?#?BookPublishing? & Print on Demand Package, Offer valid till 23rd March: http://goo.gl/3xBEv8, or call us: 9129710666

    उत्तर देंहटाएं

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...