हमें चाहने वाले मित्र

26 मार्च 2016

हिन्दुस्तान में अपनी तरह का एक अलग सी बी एस ई अंग्रेज़ी मीडियम इस्लामिक स्कूल,,,,, दारुल ,,अरकाम ,,पब्लिक स्कूल

हिन्दुस्तान में अपनी तरह का एक अलग सी बी एस ई अंग्रेज़ी मीडियम इस्लामिक स्कूल,,,,, दारुल ,,अरकाम ,,पब्लिक स्कूल के सालाना जलसे में आज नगरविकास न्यास के ऑडिटोरियम महावीर नगर में ,, एक तरफ सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा ,,के तराने के साथ तिरंगे को सलामी करते हुए ,,थल ,,जल और वायु सेना के सिपाहियों की दुश्मनो को ललकार थी ,,हिन्दुस्तान की सुरक्षा और ,,हिन्द की सरहद की तरफ आँख उठा कर देखने वालों की आँखें निकालने की फटकार थी ,,तो दूसरी तरफ ,,बच्चों के खेल ही खेल में ,,,इस्लामिक आदाब अखलाक ,,खाने ,,पीने की सलाहियतें ,,हदीस ,,क़ुरआन की शिक्षा ,,मानवता का पाठ सिखाते हुए बच्चों के रंगारंग कार्यक्रम थे ,,तो दूसरी तरफ अंग्रेज़ी मॉडर्न इस्लामिक स्कूल ,,के नमूने के तोर पर छोटे छोटे एल के जी ,,एच के जी के बच्चों का ,,ऐ से अल्लाह ,,बी से बिस्मिल्लाह ,,,माशा अल्लाह ,,सुभान अल्लाह ,,अल्हम्दु लिल्लाह ,,जैसे तराने थे ,,अल्हम्दु शरीफ का अंग्रेजी अनुवाद ,,अज़ान का अंग्रेजी अनुवाद था ,,तो रंगा रंग कार्यक्रम के तहत ,,,खेल खेल में हदीस और इस्लाम की सीख शामिल थी ,,जिसमे एक दसूरे की संकट के वक़्त मदद का जज़्बा ,,,,, प्रमुख रूप से समझाने का प्रयास किया गया था ,,,दारुल ,,अरकाम ,,पब्लिक स्कूल के इस पहले सालाना जलसे में बोलते हुए कोटा शहर क़ाज़ी अनवार अहमद ने कहा के इस्लाम की शुरआत ,,इंकार ,,इक़रार और अमल से होती है ,,नहीं है कोई अल्लाह के सिवा ,,इंकार है ,,मोहम्मद उसके रसूल है ,,इक़रार है और फिर इनके बताये हुए रास्तों पर चलना ,,अम्ल की ज़िंदगी है ,,उन्होंने कहा के इस्लाम शिक्षा और मानवता का पाठ पढ़ाता है ,,इंसानियत का जज़्बा सिखाता है ,,,,समारोह में बोलते हुए ,,राजस्थान अल्पसंख्य्क अधिकारी कर्मचारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष हारून खान ने कहा ,के इस स्कूल के छोटे छोटे मासूम बच्चों और स्कूल के टीचर्स को में साधुवाद देता हूँ जो उन्होंने इतने कम वक़्त में ऐसी बहतरीन तालीम का नज़ारा पेश किया ,,कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए अब्दुल रज़ाक जी पी एफ अधिकारी ने भी स्कूल का संचालन सराहनीय कदम बताया ,,,कार्यक्रम में खालिद बिन नदवी ने कहा के हम हमारे छात्र छात्राओं को देश का एक जवाबदार ,,ज़िम्मेदार नागरिक बनाना चाहते है ,,दुनियावी तालीम के साथ साथ दीनी तालीम की भी ज़रूरत है और दीन ,,दुनिया ,,आखिरत की तालीम देने के मक़सद से ही यह स्कूल का संचालन आपके शहर में शुरू किया गया है ,,,,कार्यक्रम को पूर्व आई जी आई पी एस यु निसार अहमद ने भी सम्बोधित किया ,,,कार्यक्रम में ख़ास तोर से कोटा संभाग अल्पसंख्य्क विभाग के अध्यक्ष अख्तर खान अकेला ,,मुख्य सचिव तबरेज़ पठान ,,,कोटा शहर अध्यक्ष अब्दुल करीम खान , आबिद अब्बासी ,,रफीक बेलियम ,,मुज़फ्फर राहीन ,,एस डी पी आई के राष्ट्रीय महा सचिव शफी मोहम्मद ,,नायब क़ाज़ी जुबेर अहमद ,,,अल्पसंख्य्क कर्मचारी संघ के आरिफ खान चैड़ियां ,,,शिक्षा विद शफी खान ,,, अज़ीज़ सिद्दीकी ,,गफ्फार मिर्ज़ा ,,एजाज़ खान अज्जू , अज़ीज़ शेर ,,गफूर अंसारी ,,सहित कई जिम्मेदारों शहरी मौजूद थे ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...