हमें चाहने वाले मित्र

01 फ़रवरी 2016

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति को चौराहे से तोड़कर ,,सोन्दयर्करण ,,विकास के नाम पर ले बेरहमी से ठेले में डाल कर ले गए

एक तरफ भारत के प्रधानमंत्री राष्ट्रपिता महात्मागांधी के आदर्श और अहिंसा की मार्केटिंग अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कर रहे है ,,,वही दूसरी तरफ उनकी पार्टी भाजपा के लोग ,,राजस्थान में सांगोद नगरपालिका के चेयरमेन ,,,भाजपा के प्रतिनिधि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मूर्ति को चौराहे से तोड़कर ,,सोन्दयर्करण ,,विकास के नाम पर ले बेरहमी से ठेले में डाल कर ले गए ,,वोह भी तब ,,जब महात्मा गांधी की हत्या के दिन शहीद दिवस के रूप में उन्हें देश भर में ,,विश्व भर में याद किया जा रहा था ,,,,,इस मामले को सांगोद के गांधी समर्थको में आक्रोश व्याप्त हो गया है ,,सांगोद में इस घटना से उपजे आक्रोश के बाद कार्यकर्ताओं ने सांगोद थाने में दोषी लोगों को दंडित करने के लिए फौजदारी मुक़दमा दर्ज करवाया और पूर्व मंत्री भरत सिंह के नेतृत्व में ज़िलाकलेक्टर कोटा के समक्ष प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया ,,,भरत सिंह के नेतृत्व में ,,क्रांति तिवारी ,,उस्मान मिर्ज़ा ,,एडवोकेट अख्तर खान अकेला ,,,तबरेज़ पठान ,,दिलीप सिंह ,,सांगोद ब्लॉक अध्यक्ष कुन्ज बिहारी सोनी ,,,कपिल बनानी ,,समीउल्लाह अंसारी ,, मनोज दुबे ,,सहित दर्जनो कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया ,,बाद में ज़िलाकलेक्टर डॉक्टर रवि सुरपुर को भरत सिंह के नेतृत्व में ज्ञापन दिया ,,,ज़िलाकलेक्टर बैठक में व्यस्त थे लेकिन भरत सिंह को देखते ही उन्होंने बैठक से अलग अवकाशगर में जाकर ज्ञापन लिया ,,भरत सिंह ने कलेक्टर से साफ़ शब्दों में कहा के ,,राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जिस दिन पुरे देश में शहीद दिवस बनाया जा रहा था ,,उसी दिन सांगोद नगरपालिका के इशारे पर महात्मा गांधी की मूर्ति तोड़ कर हटा दी गई ,,इतना ही नहीं ठेले पर एक लावारिस लाश की तरह मूर्ति को रखवाकर अज्ञात स्थान पर ले गए जो कतई बर्दाश्त के लायक नहीं है ,,भरत सिंह कहा के इस घटना के ज़िम्मेदार लोगों के खिलाफ कठोर कार्यवाही होना ज़रूरी है ,,उन्होंने कहा के सांगोद के प्रशासनिक अधिकारी की खामोशी और लापरवाही भी संदिग्ध है उनके खिलाफ भी कार्यवाही ज़रूरी है ,,भरत सिंह ने इस घटना के खिलाफ फौजदारी मामले में भी कठोर कार्यवाही की मांग करते हुए कलेक्टर से कहा के आप इस सम्बन्ध में रिपोर्ट मुख्यसचिव और ज़िम्मेदार लोगों को भी भेजे ,,,,कलेक्टर ने भरत सिंह की पूरी बात धैर्य संयम से सुनी ,,और कहा के यह गंभीर घटना है ,,इस को प्रशासन ने गंभीरता से लिया है ,,,,तुरंत आपकी शिकायत मिलते ही इस मामले में ऐ डी एम स्तर के अधिकारी से इस मामले की जांच शुरू करवा दी गई है ,,जो भी दोषी होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा क्योंकि क्योंकि ,, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पुरे देश के सर्वमान्य है ,,,,,,,,,,,इस मामले में सांगोद के लोगों की शिकायत पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 153 बी के तहत मुक़दमा दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है ,,,,,,,,घटना गंभीर है ,,वैसे महापुरुषों की मूर्ति की सुरक्षा के मामले में विशिष्ठ नियमावली बनाकर ज़िलाकलेक्ट्रो को आवश्यक निर्देश भी जारी किये हुए है ,,वैसे भी ज़िलाकलेक्टर सहित कई ज़िम्मेदार लोगों की बैठक में लिए गए निर्णय के बगैर किसी भी महापुरुष की मूर्ति से छेड़छाड़ अपराध की श्रेणी में आता है ,,,,,,इस मामले में एम्ब्ल्म एक्ट भी बना हुआ है ,,राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की शहादत के दिन ,महात्मागांधी की मूर्ति के साथ तोड़फोड़ सच में निंदनीय है ,,लेकिन अभीतक वरिष्ठ लोगों की इस मामले में कोई पर्तिकिर्या नहीं आना गंभीर बात है ,,,,,,,,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...