हमें चाहने वाले मित्र

11 जनवरी 2016

खेत में सिंदूर डालकर चढ़ाई बेटे की बलि, जादू-टोने की किताब में पढ़ काटा सिर

पिता के हाथों भाई की बलि चढ़ाने की बात से घबराए- रोते बच्चे।
पिता के हाथों भाई की बलि चढ़ाने की बात से घबराए- रोते बच्चे।
रायगढ़(रायपुर). छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में रहने वाले रणविजय ने गरीबी दूर करने अपने बेटे की बलि चढ़ा दी। इस हत्या को उसने एक जादू-टोना की किताब पढ़कर अंजाम दिया। पुलिस ने आरोपी को उत्तरप्रदेश से अरेस्ट कर लिया है। जांच में पता लगा कि बलि चढाने के पहले उसने खेत में सिंदूर डाला और बेटे का सिर धड़ से अलग कर दिया।
जानिए कैसे सामने आया मामला....
- 7 दिसम्बर को कुछ लोगों को एक सूने खेत में 14 साल के लड़के की सिर कटी लाश मिली थी।
- इस लाश के चारों ओर सिंदूर के साथ-साथ खून पड़ा था।
- मौके पर चाकू मिला और पुलिस ने जांच शुरू की।
- खेत के पास मौजूद एक मोबाइल दुकान से मिले सीसीटीवी के फुटेज मिले।
- जिसके बाद ही लाश की शिनाख्त आर्यन स्कूल के पास रहने वाले चंदन भारती के रूप में हुई थी।
- फुटेज में साफतौर से चंदन के साथ नजर आ रहा शख्स उसका पिता ही था, जो घटना की रात से रहस्यमय ढंग से गायब हो गया था।
आठ टीमों ने की खोज....
आठ टीमें गठित की गई और पुलिस ने रणविजय की तलाश शुरू की। इस बीच मोबाइल शॉप से मिले टेलीफोन के आधार पर जब कॉल खंगाला गया तो मामले में हत्यारे पिता का कनेक्शन पूरी तरह से उजागर हो गया। बहरहाल पुलिस ने धारा 302, 201 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।
चाकू से रेत दिया गला
बुधवार की रात रणविजय ने अपने बेटे चंदन को उसकी मां से बात कराने के बाद खाना खिलाकर सुला दिया। बाद में आधी रात को अपने बड़े बेटे को साथ लेकर वह उसी अनुष्ठान करने वाले श्मशान के समीप खेत पर पहुंचा, जहां उसने पूजा पाठ कर एक धारदार चाकू से अपने बेटे का गला रेता और फिर उसे सिर धड़ से अलग करते हुए आधे घंटे तक मंत्रों का उच्चारण करने लगा। हत्या के बाद वह अपनी पत्नी के पास चला गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...