हमें चाहने वाले मित्र

24 जनवरी 2016

भारत के पहले श्री लगाकर श्री भारत के नाम से अधिसूचना जारी करवाने की मांग को लेकर कलात्मक प्रदर्शन

कोटा के प्रसिद्ध कलाकार ,,समाज सुधार चिंतक ,,श्री कर्मयोगी सेवा संस्थान के ,,अध्यक्ष राजाराम कर्मयोगी के नेतृत्व में सोमवार को ज़िलाकलेक्टर पर ,,प्रदर्शनी के माध्यम से आम लोगों में ,,भारत का नाम सम्मान से लेने के लिए ,,भारत के पहले श्री लगाकर श्री भारत के नाम से अधिसूचना जारी करवाने की मांग को लेकर कलात्मक प्रदर्शन के बाद ,,कोटा कलेक्टर के ज़रिये ,,राष्ट्रपति महोदय ,,प्रधानमंत्री महोदय ,,लोकसभा अध्यक्ष के नाम ज्ञापन भेजा जाएगा ,,राजाराम कर्मयोगी का कहना है ,,के भारत एक सम्मानीय शब्द है ,,हमारा भारत विश्व गुरु है ,,विश्व का सबसे बढ़ा लोकतंत्र है ,,,फिर भी भारत के नाम के पहले श्री नहीं लगने से भारत के सम्मान में कम में कमी है ,,ऐसे में भारत के पूर्व श्री शब्द जोड़कर ,,श्री भारत के रूप में पहचान बनाना आवश्यक है ,,ताके भारत के लोग और विदेश के लोग जो भी हो वोह भारत का नाम सम्मान से श्री लगाकर ,,सम्बोधित करे ,,,,चर्चा के दौरान चिंतन अनछुए मुद्दो पर भी हुआ ,,एक राष्ट्रपति शब्द जो भारत राष्ट्र का पति बनता है ,,हर पांच साल में बदल जाता है ,,इस शब्द से महिलाओ के सम्मान में कमी आती है ,,एक महिला प्रतिभा पाटिल भी राष्ट्रपति बनी ,,लेकिन उन्हें महिला होने के बाद भी पुर्लिंग शब्द के तहत ,,राष्ट्रपति ही कहना मजबूरी रहा ,,जबकि राष्ट्राध्यक्ष ,,शब्द उपयुक्त है ,,राष्ट्रपक्षी मोर ,,राष्ट्रिय पशु शेर ,,राष्ट्रिय पुष्प कल ,,यानि बाक़ी दूसरे पशु ,,दूसरे पक्षी ,,दूसरे फूल तो राष्ट्र के लिए कोई अहमियत रखने वाले ही नहीं रहे ,,,,,इस मामले में राजाराम कर्मयोगी ,,अध्ययन और चिंतन कर कुछ नए सुझावों के साथ एक अलग से ज्ञापन भारत सरकार को जागरूक करने के लिए अनोखी प्रदर्शनी के साथ देने का विचार बना रहे है ,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...