हमें चाहने वाले मित्र

25 दिसंबर 2015

पच्चीस दिसम्बर है ,,ख़ास दिन है

कल पच्चीस दिसम्बर है ,,ख़ास दिन है ,,ईद मिलादुन्नबी के बाद का दूसरा दिन है ,,,शुक्रिया अदा करने का वार शुक्रवार का दिन है ,,,अहिंसा का पाठ पढ़ाने वाले जीसस का क्रिसमस का दिन है ,,बच्चो को सांताक्लॉस द्वारा उपहार देने का दिन है ,,,साल का सबसे बढ़ा दिन है ,,,लेकिन पच्चीस दिसम्बर ,,,बढे से भी बढ़ा बहुत बढ़ा दिन है ,,,,,,,,,,,,,,,इस दिन मेरे बढे साले मोहम्मद अहमद खान उर्फ़ भय्यू भाई ,,मेरे मंझले साले आरिफ खान उर्फ़ कमर भाई का जन्म दिन है ,,,,,,,,,,,,मंझले साले साहिब अंग्रेजी तारीख से जन्म दिन मनाते है ,,जबकि बढे साले साहब का जन्म दिन चाँद की तारीख से मनाया जाता है ,,,पच्चीस दिसंबर को दोनों तारीखे अंग्रेजी और चाँद की तारीख एक साथ होने से टोंक की उमर मंज़िल में दोनों भाइयों के जन्म दिन एक साथ मनाये जा रहे है ,,सुबह मंझले साले का जन्म दिन मनाया जाएगा ,,,सभी जानते है मंझले साले हमारी मंझली सलेज के रिमोट से चलने वाले टी वी है ,,इसलिए सुबह उमर मंज़िल में घास फूंस ही खाना पढ़ेगा ,,,,,बढे साले साहब हमारी बढ़ी सलेज साहिबा से डरते नहीं बहुत ,,बहुत डरते है ,,इसलिए शाम को इस ख़ुशी में पठानो और साहिबजादों का खाना ,,खिलाने का हुक्म हुआ है ,,किसी की मजाल जो इस हुक्म को टाल दे ,,,,बढ़े साले साहिब भय्या भाई ,,,,मंझले साले साहिब कमर भाई को उनकी सालगिरह पर बहुत बहुत बधाई ,,मुबारकबाद ,,,,,अल्लाह इन्हे दुनिया की तमाम खुशिया ,,सह्त्याबी ,,उम्रदराज़ी के साथ अता फरमाये ,,और यह इनकी कमांडरों के जाल में कितना ही फड़फड़ाये लेकिन रिमोट से ही चलने वाले टी वी बने रहे ,,पत्नी के हाथ का रिमोट आवाज़ कम करने का बटन दबाये तो आवाज़ कम हो ,,म्यूट हो तो आवाज़ बंद हो ,,तेज़ वॉल्यूम हो तो आवाज़ तेज़ हो ,,चैनल बदलने का बटन दबे तो चैनल बदल जाए ,,रंग जैसे चाहे वैसे हो जाए ,,,,,,,,,,,,बस उमर मंज़िल में प्यार ही प्यार हो ,,,मोहब्बत के साथ खुशहाली ही खुशहाली हो ,,,,,,,,अल्लाह सभी को यह दिन मुबारक करे ,,,आमीन ,,सुम्मा आमीन ,,,,,,खुसूसी बात यह है के हमे झूंठे मुंह भी नहीं बुलाया इसलिए हम चाह कर भी नहीं जा पाएंगे ,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...