हमें चाहने वाले मित्र

02 दिसंबर 2015

दरवाजा नहीं खोला जायेगा !

अपनी शादी के पहले दिन पति और
पत्नी के बीच
शर्त रखी जाती है
कि किसी के लिए
भी दरवाजा नहीं खोला जायेगा !
..
...
उसी दिन उस लड़के के माता पिता आये और
अन्दर जाने के
लिए दरवाजा खट खटाया !
..
...
पति पत्नी एक दुसरे की तरफ देखते है।
...
..
पति अपने माता पिता के लिए
दरवजा खोलना चाहता है लेकिन उसे शर्त
याद आ जाती है। वह
दरवाज़ा नहीं खोलता है ओर उसके
माता पिता चले जाते है ।
...
......
कुछ समय के बाद उसी दिन लड़की के
माता पिता आते है और अन्दर जाने के लिए
दरवाजा ख़त खटाते है ।
..
...
पति पत्नी फिर एक दुसरे की तरफ देखते है
और उस समय भी वो शर्त याद करते है ।
..
...
पत्नी की आँखों में आंसू आ जाते हे वो अपने
आंसू पूछते हुए कहती हे : मै अपने माता पिता के
लिए
ऐसा नहीं कर सकती और दरवाजा खोल
देती है ।
..
पति कुछ नहीं कहता है ।।
..
...
कुछ समय के बाद उनके दो पुत्र जन्म लेते है ।
...
.....
इसके बाद उनको तीसरा बच्चा होता है जो एक
लड़की (बेटी) होती है ।।
..
...
वह पति अपनी पुत्री के जन्म लेने के
अवसर पर एक बहुत बड़ी और शानदार
पार्टी का आयोजन करता है और अपने
सभी दोस्तों और रिश्तेदारों को बुलाता है ।
..
....
...
फिर उसकी पत्नी उससे
पूछती है कि क्या कारण था जो उसने बेटी के
जन्म पर
इतनी बड़ी पार्टी का आयोजन
किया जबकि इससे पहले दोनों दोनों भाइयो के
जन्म पर ऐसा कुछ
नहीं किया ।।
...
....
पति अपने साधारण से शब्दों में बड़े प्यार से
उत्तर देता है :
क्योकि यही वो है जो एक दिन मेरे लिए
दरवाजा खोलेगी ।।
...
.....
"बेटिया बहुत स्पेशल होती है,
आपकी छोटी सी बेटी भले
ही आपके साथ कुछ समय के लिए
ही रहे .... लेकिन उसका दिल और प्यार
जीवनभर अपने माता पिता के लिए रहता है..

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...