हमें चाहने वाले मित्र

18 दिसंबर 2015

आप के जेटली से 5 सवाल, कहा- झूठ भी खूबसूरती से बोलते हैं फाइनेंस मिनिस्टर

आप के जेटली से 5 सवाल, कहा- झूठ भी खूबसूरती से बोलते हैं फाइनेंस मिनिस्टर
नई दिल्ली. आप ने डीडीसीए स्कैम को लेकर वित्त मंत्री अरुण जेटली पर फिर निशाना साधा है। शुक्रवार को आप ने जेटली से पांच सवाल पूछे हैं। पार्टी के प्रवक्ता आशुतोष ने कहा, ''वित्त मंत्री डीडीसीए स्कैम से जुड़े सवालों का जवाब नहीं दे रहे हैं। वे आधा सच बोलते हैं और झूठ भी खूबसूरती से कहते हैं।''
#पहला सवाल
- आप नेता आशुतोष ने बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद का लिखा एक लेटर दिखाते हुए पूछा- ''यह (लेटर) 13 सितंबर को जेटली को भेजा गया था, जिसमें आजाद ने उन पर एक प्राइवेट कंपनी ट्वेंटी फर्स्ट सेंचुरी को गलत तरीके से लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया है।''
- ''लेटर में साफ है इस कंपनी को फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में कार्पोरेट बॉक्स बनाने के लिए पांच करोड़ 50 लाख रुपए की कमीशन दी गई है।''
- ''यह वही कंपनी है जिसके निदेशकों में से एक जेटली के रिश्तेदार हैं। इसका जवाब दें?''
#दूसरा सवाल
''आखिर ऐसी क्या आवश्यकता पड़ गई थी कि जेटली ने पब्लिक सेक्टर की एनजीसी पर हॉकी इंडिया को पांच करोड़ रुपए देने का दबाव डाला था?''
- ''यह सब तब हो रहा है जब जेटली वित्त मंत्री हैं और सारे सार्वजनिक उपक्रम उनके तहत आते हैं।''
#तीसरा सवाल
''दिल्ली में स्टेडियम बनाने के लिए एक प्राइवेट कंपनी ईसीआईए को 114 करोड़ रुपए दिए जाने बात कही जाती है। इसमें से 57 करोड़ रु. का ही हिसाब है। बाकी 57 करोड़ रुपये कहां गए? ''
#चौथा सवाल
''पता लगा है कि डीडीसीए ने नौ कंपनियों को स्टेडियम से जुड़े काम के लिए मोटी रकम अदा की। इनमें से पांच ऐसी कंपनियां हैं जिनके ईमेल, रजिस्ट्रेशन नंबर और यहां तक कि डायरेक्टर भी सब एक हैं। हम जानना चाहते हैं कि आखिर इन कंपनियों की असलियत क्या है? क्या जेटली इनका नाम बताने की जहमत उठाएंगे? ''
#पांचवां सवाल
''जेटली ने अपने ब्लॉग में बड़ी सफाई से उन पर लगे आरोपों का यह कहते हुए खंडन किया है कि कुछ छोटी- मोटी गड़बड़ियां हुई हैं और कुछ नहीं। पार्टी ने कहा कि वह ऐसा कहकर मुख्य मुद्दे से ध्यान बंटाने की कोशिश कर रहे हैं। हम उन्हें बताना चाहते हैं कि कंपनी कानून के तहत यह क्राइम का मामला है। छोटी -मोटी बात नहीं है। वे 'आधा सच और खूबसूरती से झूठ' बोलते हैं, क्या वे पूरा जवाब देंगें? ''
क्या है मामला?
- आम आदमी पार्टी ने गुरुवार को भी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जेटली पर डीडीसीए में घोटाले के आरोप लगाए थे।
- आप का आरोप था कि जेटली ने दिल्ली में 24 करोड़ का स्टेडियम 114 करोड़ में बनवाया।
- आप नेता राघव चड्ढा ने कहा था, ''मोदी जी! अपने सबसे भ्रष्ट मंत्री जेटली को हटाइए।
- जेटली ने सारे आरोपों को खारिज कर दिया था।
शाह ने आजाद से कहा- नहीं करें प्रेस कॉन्फ्रेंस
बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद शुक्रवार शाम को बीजेपी प्रेसीडेंट अमित शाह से मिले। बताया जा रहा है कि शाह ने उन्हें कहा कि वे रविवार को अरुण जेटली और डीडीसीए के मामले में कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करें।
जेटली के खिलाफ आप की मदद को तैयार ललित मोदी
- आईपीएल के पूर्व कमिश्नर ललित मोदी ने भी जेटली के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
- ललित ने ट्वीट कर आम आदमी पार्टी को जेटली पर लगे आरोपों के संबंध में मदद लेने का ऑफर दिया है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...