हमें चाहने वाले मित्र

13 नवंबर 2015

वक्फ बोर्ड से अबु सुफियान का पत्ता साफ,अकील अहमद को चार्ज


राजस्थान सरकार ने एक आदेश जारी कर वक्फ बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अबु सुफीयान को हटाकर पदस्थापन की प्रतीक्षा सुची मे रखा है। सुफियान की जगह मुख्य कार्यकारी अधिकारी का कार्यभार अस्थाई तौर पर अल्पसंख्यक मामलात विभाग के शासन सचिव अकील अहमद को सौंपा गया है।
सुफीयान को एपीओ करने के पिछे तरह तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। सुत्रों से मिली खबरों के अनुसार सुफीयान की कार्यप्रणाली से वक्फ मंत्री को नही भा रही थी।सता परीवर्तन के बावजुद काग्रेसी विचारधारा के लोगो़ के प्रति नरम रवैया और चैयरमैन लियाकत अली के साथ मिलकर मनमर्जी से मंत्री राजेन्द्र राठोड की सहमती के बिना कुछ बडी कमेटीया गठीत कर अपने व चैयरमेंन लियाकत अली के चहेते लोगों को फायदा पहुचाने के कारमाने भी इसकी प्रमुख वजह बताये जा रहे हैं। वहीं वक्फ मंत्री के निकटतम व अनुसुचित जनजाती आयोग के चैयरमेन द्वारा वक्फ मंत्री को लिखा पत्र भी चर्चा का विषय बना हुआ है जिसमे उन्होने नरहड दरगाह के सचिव के द्वारा किये जा रहे घपलो के बारे मे जानकारी वक्फबोर्ड को दिये जाने के बावजुद वापस उसी व्यक्ती को सचिव बनाने पर नाराजगी व्यक्त की थी। सुत्रो के अनुसार इस मामले को लेकर चिडावा प्रधान कैलाश मेघवाल ने मंत्री से मिलकर सारे मामले की जानकारी दी थी जिस पर मंत्री ने फोन पर सुफीयान को फटकार भी लगाई थी ।
गौरतलब है कि अबु सुफीयान पहले भी विवादों मे रहकर चर्चा का विषय बने रहे है। कुछ समय पहले भ्रष्टाचार की शिकायत करने सुफीयान के कार्यालय पहुंचे नरहड दरगाह के पुर्व वाईस चैयरमेन युनुस चौपदार के साथ बदसलुकी व देख लेने की धमकी देने का मामला भी सामने आया था जिसकी जांच मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा की जा रही थी। इन सभी कारनामो की कीमत सुफीयान को एपीओ होकर चुकानी पडी है ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...