हमें चाहने वाले मित्र

29 सितंबर 2015

Google CEO के 73 साल के ससुर ने की दूसरी शादी, पिचाई की पत्नी ने दी बधाई


Google CEO के 73 साल के ससुर को माला पहनाते हुए उनकी 65 साल की नई पत्नी माधुरी शर्मा।
Google CEO के 73 साल के ससुर को माला पहनाते हुए उनकी 65 साल की नई पत्नी माधुरी शर्मा।
कोटा. गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई के 73 साल के ससुर होलाराम हरियानी ने 65 साल की वृद्धा माधुरी शर्मा से शादी कर ली। हरियानी की पत्नी नीलू का 2 साल पहले और उनसे शादी करने वाली माधुरी शर्मा के पति राजेश का 4 साल पहले निधन हो गया था। दोनों अकेले थे, सत्संग में मेल-मुलाकात हुई, बात हुई और फिर 23 सितंबर को दोनों ने आर्य समाज में शादी कर ली। दोनों कोटा के नयापुरा में रहते हैं, मंगलवार को इनका रिसेप्शन भी हुआ।
सत्संग में हुई मुलाकात, सुंदर की पत्नी ने दी बधाई
माधुरी मूलत: कोटा से ही हैं, जिनकी शादी दिल्ली के राजेश शर्मा से हुई थी। राजेश मिलिट्री की रोड कंस्ट्रक्शन विंग में थे। उनकी 4 साल पहले मौत हो चुकी। माधुरी के इकलौते बेटे भारत की भी रोड एक्सीडेंट में अकाल मौत हो गई थी। वे दिल्ली से करीब दो साल पहले ही कोटा आईं और यहां नयापुरा स्थित चंबल रेजीडेंसी में फ्लैट खरीद यहीं रहने लगी। पॉलिटेक्निक से रिटायर्ड प्रोफेसर हरियानी मुंबई में रहते थे, करीब सालभर से कोटा में हैं। यहां सिविल लाइन में उनका किराए का मकान है। उनका एक बेटा अमित न्यूजर्सी में एक कंपनी में प्रोजेक्ट मैनेजर हैं, जबकि बेटी अंजलि सेन फ्रांसिस्को में रहती हैं। अंजलि के पति सुंदर पिचाई गूगल के सीईओ हैं। हरियानी ने बताया कि कुछ माह पहले ही दोनों जयपुर गोल्डन के निकट स्थित एक आश्रम में सत्संग में मिले। विचार मिले तो दोनों ने शादी का मन बना लिया। बकौल, हरियानी उन्होंने अपने बच्चों को यह बात बताई तो वे खुश हुए। बोले, इससे बढ़िया कुछ नहीं हो सकता। इस मसले पर सुंदर से बात नहीं हुई, क्योंकि वे इन दिनों व्यस्त हैं। सुंदर की पत्नी अंजलि ने फोन कर माधुरी को बधाई भी दी।
अपने विरोध में आए, डटकर खड़ी हुई माधुरी
माधुरी के अन्य परिवार वाले तो इस निर्णय के पक्ष में हैं, लेकिन कोटा में रहने वाले उनके पीहर वाले खिलाफ। बकौल, माधुरी सिविल लाइंस में रहने वाली उनके भतीजे, भतीजी को इस बात का पता लगते ही लोगों को भड़काना शुरू किया। उनकी नजर मेरी संपत्ति पर थी। सोसायटी के लोगों ने उन्हें खूब परेशान किया। लेकिन मैंने वही किया, जो मुझे अच्छा लगा। इस उम्र में अकेले एक-एक दिन बिताना कितना मुश्किल होता है, यह मैं जानती हूं। मैंने पति की मौत के बाद चार साल अकेले बिताए हैं। पति की मौत के बाद अमरीका में रहने वाली मेरी चचेरी बहनों ने मुझे दूसरी शादी के लिए प्रेरित किया और अब मैंने यह कर लिया।

मेरे दोनों बच्चे विदेश हैं। मुंबई में मेरा मकान है, अब हम वहीं रहेंगे। यह हर व्यक्ति का अधिकार है कि वह सुखी जिंदगी जिए। मैंने बच्चों को बताया तो वे बड़े खुश हुए। उनकी सहमति से निर्णय किया। इनका (माधुरी) धर्म के पति समर्पण मुझे पसंद आया। - होलाराम हरियानी
हमने हालात से मुकाबला किया। मैं जानती हूं अकेले एक-एक दिन कैसे कटता है। मुझे ये (हरियानी) पसंद आए और शादी का निर्णय कर लिया। बहुत खुश हूं। लोगों ने खूब परेशान किया, लेकिन मैं पीछे नहीं हटी। मैं तो कहती हैं, ऐसे और लोग भी आगे आएं और कदम उठाएं। - माधुरी शर्मा

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...