हमें चाहने वाले मित्र

13 सितंबर 2015

झाबुआ ब्लास्ट: गुस्साई भीड़ को देख रोड पर बैठे CM, लगे हाय-हाय के नारे


पेटलावद (झाबुआ). मध्य प्रदेश के पेटलावद में हुए धमाकों में मरने वालों का आंकड़ा 89 पहुंच गया है। इस बीच, रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पेटलावद पहुंचे। ब्लास्ट में घायलों का हाल जानने के लिए वह सुबह 10 बजे यहां के हॉस्पिटल पहुंचे। जैसे ही वह हॉस्पिटल से निकले सैकड़ों की संख्या में मौजूद लोगों ने उन्हें घेर लिया। उनका काफिला रोक दिया। जब सीएम समझाने के लिए आगे बढ़े तो लोगों ने पुलिस-प्रशासन हाय..हाय.. के नारे लगाए। इसके बाद सीएम चौहान भी रास्ते पर ही लोगों के बीच बैठ गए। (झाबुआ
* लोगों ने मांग की, पीड़ित परिवार में से किए एक को सरकारी नाैकरी मिले और 10-10 लाख रुपए दिए जाएं।
* आरोपी राजेंद्र कासवा को तुरंत अरेस्ट करने की मांग उठी है।
* सीएम के सामने प्रदर्शन कर रहे लोगों ने कहा- दोषी सभी अफसरों को सस्पेंड किया जाए। यदि एेसा नहीं हुआ तो हम आपको यहां से आगे नहीं जाने देंगे।
सीएम को माननी पड़ी मांग
* लोगों की मांग के बाद सीएम ने घोषणा की कि मरने वालों की फैमिली को सरकार 10 लाख रुपए का मुआवजा देगी। साथ ही कहा कि यदि इलाज में 10 लाख रुपए तक भी खर्च होंगे तो सरकार देगी। इसके पहले शनिवार को ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपए की राहत राशि मंजूर कर दी थी, जिसे लोग नाकाफी बता रहे थे।
* सीएम चौहान ने कहा- मैं इस पूरे मामले की न्यायिक जांच करवा रहा हूं। इसमें जो भी दोषी है, उसे बख्शा नहीं जाएगा। अपराधी को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाऊंगा। जब तक उन्हें सजा नहीं मिलेगी। चुप नहीं बैठूंगा।
* सीएम ने यह भी कहा कि अब इस प्रकार की सामग्री को खोजने के लिए तलाशी अभियान चलाया जाएगा। जाे भी पकड़ाएगा उसे कड़ी सजा मिलेगी।

* विरोध कर रहे लोगों से सीएम ने कहा- आप लोगों का दर्द मैं समझता हूं। मैं इस दुख की घड़ी में आपके साथ हूं। मुझे पता था कि आप लोग बहुत ही गुस्से में होंगे, फिर भी मैं आपके बीच आया हूं। क्योंकि इस दुख की घड़ी में मैं आपसे दूर रहीं रह सकता। मैं यहां आया हूं। अब व्यवस्था सुधरने तक यहीं रहूंगा, मुझे जाने की कोई जल्दी नहीं है। विरोध के बाद भी शिवराज काफी शांत नजर आए।
* उन्हाेंने कहा- मैं यहां पर उन सभी पीड़ित परिवारों से मिलने आया हूं, जो हादसे में शिकार हुए हैं। मैं शहर ही नहीं गांवों में भी सभी के घरों तक जाउंगा। सरकार मुआवजा तक ही नहीं रुकेगी। पीड़ित परिवार को अन्य सभी प्रकार की सहायता देगी। जो जहां मुझसे मिलेगा, चर्चा करेगा वहीं करूंगा। चाहे फिर वह रास्ता हो या फिर होटल।
कैसे हुआ था हादसा?
पेटलावद के नया बस स्टैंड क्षेत्र में शनिवार सुबह करीब सवा आठ बजे एक होटल में ब्लास्ट हुआ। लोग कुछ समझ पाते उसके पहले ही होटल से लगे यूरिया गोदाम में अवैध रूप से रखी, जिलेटिन राॅड व डेटोनेटर में जबरदस्त धमाका हुआ। आसपास खड़े लोगों के चिथड़े उड़ गए। विस्फोट की चपेट में पास की चक्की, शो रूम, भोजनालय, ऑटो गैरेज भी आ गए। तीन मकान पूरी तरह ढह गए। जिस गोदाम में धमाका हुआ, उसके मालिक गंगाराम व उसकी फैमिली के चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। यह गोदाम राजेंद्र कांसवा ने खाद-बीज रखने के लिए किराए पर ले रखा था।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...