हमें चाहने वाले मित्र

28 सितंबर 2015

किसान स्वाभिमान रैली की कुछ ख़ास झलकियाँ

प्रदेश युथ कांग्रेस के आह्वान पर आज कोटा में आयोजित किसान स्वाभिमान रैली की कुछ ख़ास झलकियाँ रही ,,,,,,,,,,,,,,,सचिन पायलेट ,,का अल्पसंख्य्क विभाग की तरफ से कुन्हाड़ी पुलिया पर धूमधाम से स्वागत किया गया ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,रैली में सम्बोधन के दौरान जब भरत सिंह ने एक पैढ़ के नीचे सभी जानवरो के एक साथ बैठने की कहानी सुनाई तो कायर्कर्ताओ में कोंग्रेसियो की जानवर से तुलना को लेकर खुसुर फुसुर होने लगी ,,,रैली में अधिकतम लोग अल्पसंख्यक ,,दलीत ,गुर्जर समाज के थे ,,,,,,,,,,,,,,रैली में जब शानति धारीवाल बोलरहे थे तो कार्यकर्ताओ में चर्चा थी के किसानो की आवाज़ उठाने वाले शांतिधरीवाल सबसे बढ़े नेता है और वोह इसी स्थान पर इस मुद्दे को लेकर इस रैली से अपने अकेले के दम पर तीन गुना रैली कर चुके है ,,,,,,,,रैली के मंच का संचालन अव्यवस्थित था ,,,रैली में आने वाले लोगों के लिए पानी की व्यवस्था भी टेंकर वाले किये जाने से कई लोग प्यासे रहे ,,,,,रैली में राष्ट्रिय कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर राजा ने सचिन पायलेट से शादी करने की जब बात कही तो सभी आवाक रह गए ,,,,,,,,,,,,रैली में दलित समाज के लोगों को नहीं बोलने को लेकर चर्चा रही ,,रैली में मंच पर क्षमता से कई गुना लोगों को देखकर सभी फब्तियां कस रहे थे ,,,,,रैली के बाद कलेक्टर को नीचे बुलाकर ज्ञापन देने के मामले में पुलिस और कार्यकर्ताओ के बीच तीखी नोक झोंक हुई ,,,,,,रैली में कार्यकर्ताओ की ज़िद के बाद भी पुलिस का संयम लाजवाब था ,,,,,,,,,,ज्ञापन की ज़िद पर अड़े कार्यकर्ताओ और पुलिस भिड़ंत में कई बार भागादौड़ी का माहोल रहा ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,रैली में पूर्व सांसद रामारायण मीना को नहीं बुलाने की भी चर्चा रही ,,,,,,रैली में सचिन पायलेट के व्यक्तित्व के प्रशंसकों के बीच चर्चा थी के अगर भविष्य में सचिन पायलेट स्वागत कर्ताओ के उत्साह को देखकर गाढ़ी से उत्तर कर माला और साफा पहनना नहीं सीखे तो कुछ दिनों में स्वाभिमानी कार्यकर्ता इनका मान सम्मान करना बंद कर देगा ,,,रैली में तुलनात्मक अशोक गेहलोत के गाढ़ी से उतारकर कार्यकर्ताओ का उत्साह बढ़ाकर उनसे विनम्रता से मिलने और सचिन पायलेट के व्यवहार की भी तुलना की जा रही थी ,,,,,,,,,,,,,,,राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की पुत्री कांग्रेस की राष्ट्रिय प्रवक्ता सुष्मिता मुखर्जी के कोटा होने के बावजूद भी उनके रैली में आने या उन्हें निमंत्रित नहीं करने को लेकर काफी गर्मागर्म चर्चा होती रही ,,,,,,,,,,,,,,,,,,रैली में युथ कांग्रेस के कोटा से निर्वाचित प्रदेश सचिव इसरार अहमद की उपेक्षा को लेकर भी चर्चा रही ,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...