हमें चाहने वाले मित्र

12 सितंबर 2015

सभी धर्मो को साथ लेकर चलने वाला भारत देश ,

सभी धर्मो को साथ लेकर चलने वाला भारत देश ,,,धर्मनिरपेक्ष संविधान वाला भारत देश ,,सभी धर्मो की मान मर्यादाओ का सम्मान करने वाले विधि क़ानून प्रावधान वाला देश ,,मेरा भारत महान ,,,,इस देश में इन दिनों सरकारों की नौसिखिये आदेशो की वजह से देश में धर्म को धर्म से लड़ाने ,,,आस्थाओ को आस्थाओ से लड़ाने की साज़िशें रची जा रही है ,,सरकार और कुछ राज्य सरकारों का योजनाबद्ध षड्यंत्र धर्म को धर्म से लड़ाने का रहा है ताके देश में अनावश्यक गृह युद्ध ,,अराजकता का माहोल हो और महंगाई ,,भ्रष्टाचार ,,कालाबाज़ारी ,,मिलावटखोरी ,,राजनीती का अपराधीकरण ,,कालाधन वापसी ,,पाकिस्तान की नापाक हरकतों के खिलाफ भारत के हमले के वायदे ,,चीन से भारत की ज़मीन छुड़ाने के वायदों सहित बेरोज़गारों को नौकरी ,,गरीबो को इंसाफ ,,आरक्षण की बीमारी के इलाज की बात कोई उठा ना सके और सभी धर्म आपस में एक दूसरे को कोसते रहे ,,लड़ते रहे ,,मेरे भारत वासियो हमे सावधान रहना होगा ,,सरकार की इन साज़िशों का शिकार होने से बचना होगा ,,सभी धर्म से जुड़े लोग सभी सियासी पार्टियो में पार्टियो की इस हद तक गुलामी में है के उन्हें धर्म ,,धर्म के सिद्धांत ,,देश ,,समाज से कोई मतलब नहीं वोह तो बस अपने नेताओ के गुलाम है ,,,दोस्तों इन दिनों जेन समाज को आगे कर कहीं मांस का व्यापार बंद किया जा रहा है तो कहीं बकरा ईद की छुट्टी को खत्म किया जा रहा है ,,यह समाज को समाज से लड़ाने की कोशिश है ,,एक धर्म की आस्था मांस दूर रहती है तो उसे दूसरे धर्म की आस्थाओ पर अधिकार नहीं है ,,हमारा देश महान है ,,हमारे देश की दूसरी आस्थाओ ने कभी भी धर्म के नाम पर धार्मिक आत्महत्या का विरोध नहीं किया ,,हमारे देश के किसी धर्म ने हमारे देश के क़ानून सड़को पर निर्वस्त होकर घूमना अपराध होने के बाद भी धार्मिक आस्था होने के कारण इसका विरोध नहीं किया जबकि जिनकी आस्था नग्न प्रदर्शन देखने की नही है उनकी महिलाओ के लिए तो सड़को पर यह सार्वजनिक प्रदर्शन गलत ही रहता है ,लेकिन दोस्तों ह्मारा देश महान है ,,,कभी किसी दूसरे धर्म मज़हब की निजी आस्थाओ पर हमला नहीं किया ,,आप मांस नहीं खाते कोई बात नहीं ,,लेकिन दुसरो को मांस खाने से रोकना आपके देश का क़ानून नहीं है ,,अपनी अस्थायी दुसरो पर थोपना ,,दुसरो को मजबूर करना हमारे देश का क़ानून नहीं ,,और कोई भी धर्म इस मामले में दखल अंदाज़ी नहीं करता ,,कोई भी धर्म अपने धर्म की आस्था दुसरो के धर्म पर थोपने की चाहत नहीं रखता लेकिन फिर भी कुछ सियासी लोग कुछ सरकार सियासत के नाम पर धर्म से धर्म को लड़ा रहे है ,,खान पान ,,रहन सहन ,,,सबकी अपनी निजी विचारधारा है ऐसे में थोपा थापी के निर्देश इस देश में नहीं चलेंगे ,,यहां हिन्दू भाई ,,सिक्ख भाई ,,ईसाई ,,,मुस्लिम , ,बोहरा ,,सिंधी भाई ,,,,दक्षिण ,,,पश्चिम ,,बिहार ,,कलकत्ता ,,आसाम सभी की अलग अलग आस्था है ,,कोई चूहे खाने की बात करता है ,,कोई मच्छर से भी बचता है ,,तो कोई भूखे रहकर मर जाता है ,,तो कोई शस्त्र पूजा करता है ,,कोई मदिरापान करता है ,,कोई मांस खाता है ,,सबकी अस्थाये अलग लेकिन देश एक है इसीलिए मेरा भारत महान है सो प्लीज़ मेरे धर्म से जुड़े देशवासियो किसी के बहकावे में ना आये सरकार की सियासत को बंद करने के लिए खुल कर मिलजुलकर ऐसी साज़िशों का विरोध करे जो धर्म को धर्म से लड़ाने के लिए व्यूह रचनाये रची जा रही है ,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...