हमें चाहने वाले मित्र

21 अगस्त 2015

पाकिस्तान के अड़ियल रुख के बाद कैंसल हो सकती है NSA लेवल की बातचीत

भारत-पाकिस्तान में एनएसए लेवल की बातचीत से पहले की गरमागरमी और कश्‍मीर में लगातार सीजफायर तोड़े जाने से नाराज लोकल लोगों का क्‍या कहना है, यह ऊपर वीडियो पर क्लिक कर सुनें।
नई दिल्ली. भारत-पाकिस्तान के नेशनल सिक्युरिटी एडवाइजर्स के बीच 23-24 अगस्त को होने वाली मीटिंग खटाई पड़ती दिख रही है। दोनों देशों के बीच तल्खी खुलकर सामने आ गई है। माहौल गरमाने की बड़ी वजह है कश्मीरी अलगाववादी। पाकिस्‍तान अलगाववादी नेताओं से मुलाकात पर अड़ा है। उसने कश्मीर को ही असली मुद्दा बताया है। वहीं, भारत ने कहा है कि पाकिस्तान के एनएसए सरताज अजीज का अलगाववादी नेताओं से मिलना ठीक नहीं होगा। भारत के एनएसए अजीत डोभाल भी सिर्फ आतंकवाद के मुद्दे पर ही बात करेंगे। हालांकि, दोनों देशों ने बातचीत रद्द करने का एलान नहीं किया है।
इस बीच यूएन ने दोनों देशों के बीच बातचीत को जरूरी बताया है। एक बयान जारी करके यूएन दोनों देशों से बातचीत करने की अपील की है। वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान के एनएसए सरताज अजीज शनिवार दोपहर प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान बातचीत रद्द करने का एलान कर सकता है।
इस मामले से जुड़े शुक्रवार के 10 डेवलपमेंट्स पर नजर डालिए:
1. पाकिस्तान सरकार के सूत्रों के मुताबिक 24 अगस्त की सुबह एनएसए सरताज अजीज हुर्रियत नेता एसएएस गिलानी से मुलाकात करेंगे।

2. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने साफ किया कि भारत को नई शर्तें मंजूर नहीं हैं। पाकिस्तान की नई शर्तों के साथ बातचीत संभव नहीं है। पाकिस्तान ऊफा में तय हुए बातचीत के एजेंडे से पीछे हट रहा था। भारत अब भी पाकिस्तान के साथ बातचीत के लिए तैयार है।

3. मोदी सरकार के सूत्रों ने बताया कि अलगाववादी नेताओं को दिल्ली नहीं आने दिया जाएगा। एहतियातन उन्हें अरेस्ट भी किया जा सकता है। भारत पाकिस्तान से सिर्फ आतंकवाद पर बात करेगा।

4. इस्लामाबाद में पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भारतीय हाई कमिशन को बताया कि अलगाववादियों से मुलाकात नहीं करने की भारत की सलाह हम नहीं मानेंगे। असल मुद्दा तो कश्मीर है जो विवादित है। हुर्रियत के नेता ही कश्मीरी आवाम के असली नुमाइंदे हैं। हमने भारत को बातचीत का एजेंडा बता दिया है। रूस के उफा में मोदी-नवाज के बीच रजामंदी से तय मुद्दों पर बात होगी, जिनमें कश्मीर जैसे पेंडिंग मुद्दे भी शामिल हैं।

5. पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता काजी खलीलुल्लाह ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीरी लोगों से बातचीत जारी रखेगा। उन्होंने कहा कि यह पुरानी परंपरा है कि पाकिस्तानी हाई कमीशन अलगाववादी नेताओं को बुलाता रहा है। उनसे राय-मशविरा होता रहा है।

6. पाकिस्तान ने कहा, "हम भारत की नहीं सुनेंगे। डिप्लोमेसी में हमें शर्त नहीं चाहिए। हम भारत से ‘डिक्टेशन’ नहीं लेंगे। तय शेड्यूल के मुताबिक अलगाववादियों से रविवार को ही मुलाकात होगी।"

7. भारत ने पाकिस्तान को मैसेज भिजवाया था कि उसके एनएसए सरताज अजीज जब बातचीत के लिए भारत आएं, तो उन्हें हुर्रियत नेताओं से मुलाकात नहीं करनी चाहिए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने शुक्रवार को अपने ट्वीट्स में इसकी जानकारी दी। भारत ने कहा है कि अजीज का हुर्रियत नेताओं से मिलना ठीक नहीं होगा।

8. एनएसए लेवल की बातचीत से पहले पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ ने आर्मी चीफ राहिल शरीफ और आईएसआई चीफ रिजवान अख्तर के साथ मीटिंग की है। इससे बातचीत में पाकिस्तानी आर्मी और आईएसआई का एजेंडा हावी रहने के आसार हैं।

9. अलगाववादी नेता शब्बीर शाह ने भी कहा कि वह अपने डेलीगेशन के साथ शनिवार को दिल्ली पहुंचेंगे और रविवार को सरताज अजीज से मुलाकात करेंगे।

10. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने दो अलगाववादी नेताओं सैयद अली शाह गिलानी और शब्बीर शाह को हिरासत में ले लिया।
क्या है मामला?
भारत के एनएसए अजीत डोभाल और पाकिस्तानी एनएसए सरताज अजीज के बीच 23-24 अगस्त को दिल्ली में बातचीत होनी है। पाकिस्तानी हाई कमिश्नर अब्दुल बासित ने मंगलवार रात कश्मीरी अलगाववादियों को न्योता भेजकर 23 अगस्त को दावत पर बुलाया है। यानी पाकिस्तान उसी दिन कश्मीरी अलगाववादियों से मिलना चाहता है जिस दिन डोभाल की अजीज के साथ मीटिंग होगी।
एजेंडे पर भी अलग दावे
विकास स्वरूप ने ट्वीट में यह जानकारी भी दी कि भारत एनएसए लेवल की बातचीत के लिए अपना एजेंडा पाकिस्तान को 18 अगस्त को ही भेज चुका है। लेकिन गुरुवार को पाकिस्तान के आला अफसरों ने बताया कि अभी बातचीत का एजेंडा ही तय नहीं है। एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने इनके हवाले से बताया कि बातचीत का एजेंडा खुला हो सकता है। इसमें आतंकवाद और एक-दूसरे की चिंता से जुड़े मसले हो सकते हैं।
बेटे के उलट फारूख अब्दुल्ला ने साधा हुर्रियत पर निशाना
जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूख अब्दुल्ला ने शुक्रवार को हुर्रियत नेताओं को जमकर खरी-खोटी सुनाई। एक इंटरव्यू में अब्दुल्ला ने कहा, “हुर्रियत नेता चाहते ही नहीं कि भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत हो। अगर हुर्रियत नेताओं में दम होता तो वे चुनाव लड़ते। पूर्व रॉ अफसर ए.एन. दुलत ने तो अपनी किताब में साफ लिखा है कि हुर्रियत नेताओं को भारत और पाकिस्तान, दोनों से फंड मिलता है। इसलिए वे नहीं चाहते कि हालात सुधरें।”
एक बार रद्द हो चुकी है फॉरेन सेक्रेटरी लेवल की बातचीत
बता दें कि हुर्रियत नेताओं से मिलने की जिद की वजह से ही पिछली बार भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिवों की बातचीत पिछले साल अगस्त में रद्द कर देनी पड़ी थी। दरअसल, दोनों देशों के बीच जब भी टॉप लेवल की बातचीत का प्रस्ताव सामने आता है, पाकिस्तान उसके पहले ही हुर्रियत नेताओं को मिलने के लिए न्योता भेज देता है। भारत का कहना है कि हुर्रियत कॉन्फ्रेंस कश्मीर की जनता की आवाज नहीं है और अगर पाकिस्तान को बातचीत ही करनी है तो वह भारत सरकार से करे।
भारत पुख्ता सबूत के साथ देगा 60 आतंकियों की लिस्ट
भारत पाकिस्तान को करीब 60 मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों की लिस्ट सौंपेगा। इन आतंकियों के खिलाफ पुख्ता सबूतों के साथ करीब 1400 पेज का डॉजियर तैयार किया गया है।
इन मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों के नाम दिए जाएंगे
कंधार कांड के दौरान छोड़ा गया मौलाना मसूद अजहर, हिजबुल का कमांडर मोहम्मद सलाहुद्दीन, लश्कर-ए-तैयबा का चीफ हाफिज सईद, अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम, इंडियन मुजाहिदीन का रियाज भटकल, मुंबई आतंकी हमले का मास्टर माइंड जकी-उर रहमान लखवी, मुंबई सीरियल ब्लास्ट्स का गुनहगार टाइगर मेमन, आईएसआई का मेजर इकबाल, अब्दुर्रहमान पाशा, छोटा शकील, आमिर रजा खान, मेजर शामीर अली।
भारत और पाकिस्तान के बीच एनएसए लेवल मीटिंग में उठ सकते हैं ये मुद्दे
भारत पाकिस्तान
* भारत टेररिज्म के मुद्दे पर अपनी बात रखेगा। इसके संकेत मोदी सरकार ने पहले ही दे दिए हैं। * पाकिस्तान के पीएम हाउस के बयान में कहा गया है कि पाकिस्तान की इंटरनल सिक्युरिटी से जुड़े मुद्दों पर चर्चा होगी।
* भारत यह मुद्दा उठा सकता है कि पाकिस्तान भारत पर हमले कराने के लिए अपने कई टेररिस्ट ग्रुप्स का इस्तेमाल कर रहा है। * अगर भारत ने लश्कर-जमात का मुद्दा उठाया तो पाकिस्तान समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट, बलूचिस्तान, बॉर्डर पर फायरिंग का मुद्दा उठा सकता है।
* पिछले कुछ महीनों से पाकिस्तान की तरफ से लगातार सीजफायर तोड़ने के मसले को भी भारत की तरफ से उठाया जाएगा। * पाकिस्तान दोनों देशों के बीच फॉरेन सेक्रेटरी लेवल की बातचीत फिर शुरू करने की मांग रख सकता है।
* भारत नावेद और पंजाब के गुरदासपुर में आतंकी हमले को अंजाम देने वाले आतंकियों से जुड़े सबूत सौंप सकता है। * पाकिस्तान भारत के सामने पेशावर अटैक का मुद्दा उठा सकता है। उसका आरोप है कि इसमें भारत का हाथ था।
* अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम, मुंबई आतंकी हमले में तेज ट्रायल की मांग की जाएगी। * सीजफायर तोड़ने के आरोपों पर उलटा पाकिस्तान भारत को जिम्मेदार ठहरा सकता है। पिछले दिनों पाकिस्तानी हाई कमिश्नर अब्दुल बासित इसके संकेत दे चुके हैं।
EXPERT VIEW: पाकिस्तानी हमारे सिर पर बैठ रहे हैं, मनमानी कर रहे हैं
इस मुद्दे पर पूर्व डिप्लोमैट और पाकिस्तान में भारत के हाई कमिश्नर रहे जी पार्थसारथी ने कहा- पिछले साल पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित की हुर्रियत नेताओं से मुलाकात के बाद भारत ने फॉरेन सेक्रेटरी लेवल की बातचीत बंद कर दी थी। पाकिस्तान से साफ कहा था, ‘हमसे बात करो या अलगाववादियों से।' लेकिन अब उसने रुख बदल दिया है। इससे लगता है कि मोदी सरकार की पॉलिसी ही साफ नहीं है। तब सोचा ही नहीं था कि आगे यदि इस तरह के हालात बने तो कैसे निपटेंगे? मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद ने अलगाववादी नेताओं को नजरबंद किया। किसके कहने पर? फिर तीन घंटे में छोड़ दिया। उन्होंने कानून-व्यवस्था के मद्देनजर फैसला लिया क्योंकि वे अलगाववादियों से मुठभेड़ नहीं चाहते। लेकिन केंद्र टकरा सकता है। यदि मैं फैसला लेता तो हुर्रियत वालों को दिल्ली आने देता। उन्हें यहां जेल में डाल देता। कश्मीर लौटा देता। इससे दुनिया को संदेश गया कि हम हिल गए हैं। अब यदि आपने मिलने दिया तो लोग कहेंगे कि पहले आपने फॉरेन सेक्रेटरी लेवल की बातचीत बंद क्यों की? पाकिस्तानी हमारे सिर पर बैठ रहे हैं। मनमानी कर रहे हैं। हमारे देश में आकर अलगाववादियों से मिल रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...