हमें चाहने वाले मित्र

21 अगस्त 2015

श्रीनगर: फिर दिखे पाकिस्‍तान, ISIS के झंडे, इस बार बगदादी का फोटो भी नजर आया


श्रीनगर. भारत-पाकिस्तान के बीच रविवार को एनएसए लेवल की बातचीत से पहले माहौल गरमा गया है। पाकिस्‍तान में जहां ट्व‍िटर पर लोगों ने भारत के एनएसए अजीत डाभोल को 'शैतान' करार दिया, वहीं जम्‍मू-कश्‍मीर में पाकिस्‍तान, आईएसआईएस और लश्कर-ए-तैयबा के झंडे नजर आए। पिछली बार झंडों में यह लिखा था कि आईएस जम्मू-कश्मीर में जल्द आ रहा है। इस बार झंडों में आईएसआईएस सरगना बगदादी के फोटो भी नजर आए। वहीं, अलगाववादी नेता भारत सरकार के विरोध के बावजूद रविवार को पाकिस्‍तानी एनएसए सरताज अजीज से मुलाकात पर अड़े हैं। पाकिस्तान ने भी कहा है कि वह अपने प्लान के मुताबिक ही अलगाववादियों से मिलेगा।
लगातार छठे जुमे पर श्रीनगर में दिखे आईएस, लश्कर और पाकिस्तान के झंडे
शुक्रवार (21 अगस्‍त) को श्रीनगर में झंडे दिखाने की यह हरकत लगातार छठे जुमे पर की गई है। इससे पहले कब-कब दिखे झंडे?
- 17 जुलाई : शुक्रवार को श्रीनगर के नोहट्टा इलाके में एक मस्जिद में जुमे की नमाज के बाद विरोध भड़का। प्रदर्शनकारियों ने आईएसआईएस और लश्कर-ए-तैयबा के झंडे दिखाए।
- 24 जुलाई : श्रीनगर की जामिया मस्जिद में नमाज के बाद कुछ लोग आईएसआईएस का झंडा लिए नजर आए। उन्होंने नकाब पहन रखा था।
- 31 जुलाई : इसी मस्जिद के बाहर नमाज के बाद फिर आईएसआईएस और लश्कर-ए-तैयबा के झंडे दिखाए गए।
- 7 अगस्त : श्रीनगर की जामिया मस्जिद इलाके में एक बार फिर इस्लामिक स्टेट और पाकिस्तान के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के झंडे भी नजर आए। जो झंडे दिखाए गए उन पर लिखा था, ‘IS JK जल्द आ रहा है'।
- 14 अगस्त : पाकिस्तान की आजादी की सालगिरह पर जम्‍मू-कश्‍मीर के श्रीनगर में कई जगहों पर पाकिस्तानी झंडे लगे नजर आए। एक महिला अलगाववादी नेता दुख्तरान-ए-मिल्लत की चीफ आसिया अंद्राबी ने तो खुलेआम पाकिस्तानी झंडा लगा दिया और पार्टी वर्करों के बीच भाषण भी दिया। श्रीनगर में एक जगह आईएस का झंडा भी दिखा।
12 लड़कों का ग्रुप है इन घटनाओं के पीछे
पुलिस अफसरों के मुताबिक आईएसआईएस और पाकिस्तान के झंडे फहराने के पीछे 12 लड़कों का ग्रुप है। सीनियर पुलिस अफसरों के मुताबिक इंटेलीजेंस इनपुट और सीसीटीवी कैमरों से मिले फुटेज और फोटो के आधार पर इस ग्रुप से जुड़े लोगों की पहचान कर ली गई है और इन पर लगातार निगाह रखी जा रही है। इंटेलिजेंस एजेंसियां इस बात की भी जांच कर रही हैं कि इस ग्रुप को आखिर फंडिंग कहां से हो रही है।
इंडियन मुजाहिदीन कर रहा आईएस के लिए रिक्रूटमेंट
पिछले दिनों आई एक रिपोर्ट के मुताबिक, आईएसआईएस के लिए रिक्रूटमेंट करने वाले ऐसे 70 से 75 लोग भारतीय खुफिया एजेंसियों के रडार पर हैं। आईएसआईएस ज्वॉइन कर चुके इंडियन मुजाहिदीन के कुछ लोग भारत में रिक्रूटमेंट करने के लिए लोगों से संपर्क कर रहे हैं। ऐसे हैंडलर्स के होने की मौजूदगी खुफिया अफसरों ने भी मानी है। ये अफसर उस ऑपरेशन का हिस्सा रहे हैं, जो बीते एक साल में तेलंगाना के 17 यंगस्टर्स को आईएसआईएस ज्वाॅइन करने के लिए विदेश जाने से रोक चुके हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...