हमें चाहने वाले मित्र

13 अगस्त 2015

राहुल ने कहा- डरते हैं हमारे पीएम, अब लगता है उनमें नहीं है दम


नई दिल्ली: कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी ने गुरुवार को यह माना कि लोकसभा चुनाव हार जाने के बाद भी उन्हें लगता था कि नरेंद्र मोदी में दम है। लेकिन अब उन्हें लगता है कि पीएम डरपोक हैं। राहुल ने संसद का मानसून सेशन खत्म हो जान के बाद कहा- “...ठीक है, हम चुनाव हार गए। मुझे लगता था कि आदमी में दम है, लेकिन अब लगता है कि दम नहीं है। मैं मोदी जी से कह रहा हूं कि आपके लिए बड़ी अपॉरच्युनिटी है। ललित मोदी को पकड़ कर यहां लाएं, क्रिकेट की सफाई करें।'' राहुल ने यह भी कहा, “मोदी ने 15 लाख का वादा किया था। न खाऊंगा न खाने दूंगा का वादा किया था। लेकिन दुख की बात यह है कि मोदी संसद में ही नहीं आते। हमें एक बात समझ में आ गई कि पीएम डरता है। हम उन पर इतना दबाव डालेंगे कि ललित मोदी वापस आएगा और क्रिकेट की सफाई हो जाएगी।”
ललित मोदी के बहाने सुषमा और जेटली पर भी निशाना
राहुल ने कहा, ''सुषमा जी ने कल संसद में लंबी-लंबी बातें कीं। लेकिन हमने जो दो सवाल पूछे, उनका जवाब नहीं दिया। अरुण जेटली ने भी ललित मोदी को डिफेंड किया। मामला सिंपल है, आईपीएल क्रिकेट में दो नेटवर्क हैं। एक जिसमें देश के युवा बैटिंग, बॉलिंग, फील्डिंग देख सकते हैं। दूसरा नेटवर्क ललित मोदी का है। यह बंद कमरों में होता है। करप्शन का नेटवर्क। कल सुषमा जी और अरुण जेटली ने इस करप्शन के नेटवर्क को प्रोटेक्ट किया।''
राजीव गांधी पर लगे आरोपों को किया खारिज
सुषमा स्वराज द्वारा संसद में बुधवार को पूर्व पीएम राजीव गांधी पर लगाए गए आरोपों का जिक्र करते हुए राहुल ने कहा कि पिछले 30 साल से लोग इस तरह की बातें कर रहे हैं, लेकिन मेरे पिता को कोर्ट ने क्लीन चिट दी है। मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। 
एफटीआईआई का मुद्दा भी उठाया
राहुल गांधी ने फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में गजेंद्र चौहान को चेयरमैन बनाए जाने का मामला भी उठाया। राहुल गांधी ने कहा कि देश के संस्थानों पर औसत दर्जे के लोगों को थोपा जा रहा है और वे ऐसा नहीं होने देंगे। राहुल ने 1993 के मुंबई बम धमाकों के दोषी याकूब मेमन को फांसी दिए जाने से जुड़ी कुछ स्टोरीज चलाने के मामले में चैनलों को दिए गए नोटिस का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा, ''ये सरकार मीडिया का फ्रीडम छीनना चाहती है। मैं देश के लोगों की फ्रीडम को बचाने आया हूं। यहां लोगों को आरएसएस और नरेंद्र मोदी से बचाने आया हूं।''

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...