हमें चाहने वाले मित्र

31 अगस्त 2015

पठान

पठान: वो जो टेबल पे आदमी बैठा है उस से हमारा दुश्मनी है।
दोस्त: टेबल पे तो 4 आदमी हैं।
पठान: वो जिसकी मूंछे हैं।
दोस्त: मूंछें तो सबकी हैं।
पठान: वो जिसके सफ़ेद कपडे हैं।
दोस्त: वो तो सबके सफ़ेद हैं।
पठान ने गुस्से में पिस्तौल निकाला और 3 आदमियों को गोली मार दी और जो बच गया उसकी तरफ इशारा कर के बोला इससे हमारा दुश्मनी है।
इसको हम नहीं छोड़ेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...