हमें चाहने वाले मित्र

22 अगस्त 2015

टोंक के केंद्र बिंदु पर स्थित यह बिल्डिंग मुबारक मंज़िल

टोंक के केंद्र बिंदु पर स्थित यह बिल्डिंग मुबारक मंज़िल नाम से जानी जाती है यह बिल्डिंग आपने आप में टोंक के इतिहास को समोह हुए है
यह बिल्डिंग टोंक के प्रथम नवाब मोहम्मंद अमीर खान के पुत्र अहमद अली खान के लिय 1800 में बनाई गई थी यह लभग दो सालो में बन कर तैयार हुई थी जिस पर 87 हज़ार और कुछ रुपये खर्चा आया था यह हवेली नवाबी टाइम से टोंक में तहजीब और अदब का मरकज रही और यही कारन रहा की टोंक की शाही फैमिली की लड़कियों को तालीम और रीतिरिवाज को सीखने के लिय यहा भेजा जाता था साथ ही कई नवाबजादियो का सुसराल रही यह पांच बत्ती क्षेत्र में बनने वाली पहली बिल्डिंग है जो लभग 11070 वर्ग फ़ीट के एरिया में है जिनमे एक तरफ नो सात सात फ़ीट चौड़े और 12 फ़ीट उचे दर (दरवाजे )है दूसरी तरफ सामने सात दर इनके मध्य भाग में शीशे जवाहरात और सोने के पानी का बेहतरीन पिचकारी वर्क से सुसज्जित एक 18 फ़ीट लबमी और 7 फ़ीट चौड़ी सह दरी है जिस में प्रवेश करने पर चारो तरफ आपने ही छायाचित्र दिखाई देता है जिसमे किया गया पिचकरी वर्क देखते बनता है वर्तमन में जवाहिरात और सोने से हुआ पिचकरी वर्क ख़राब हो चूका है सहदरी के आगे 45 फ़ीट लाबमे दो दालान और उनके दोनों और रहने के लिय आठ बड़े हाल है हवेली की लम्बाई 120 फ़ीट है और चौड़ाई 90 फ़ीट है साथ में दो सहदरिया है मध्य भाग ४५०० वर्ग फ़ीट खुला हुआ पूर्ण हवादार है इसके दरों पे की गई नक्काशी और कोडी की पोलिश इसे बेहद सुंदरता प्रदान करती थी टोंक मेंक्षेत्रफल की नज़र से यह तीसरी बड़ी हवेली है

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...