हमें चाहने वाले मित्र

21 जुलाई 2015

हर वकील:

हर वकील:एक सत्ता हैं।
उसका कण कण उसकी खुद की कमाई हैं।
उसका सदेव सजग रहना अपडेट रहना आदत और अनिवार्यता है।
वकील सागर से गहरा राजदार हैं।
वकील कर्तव्यनिष्ठ वफादार हैं।
वकील समय की मांग हैं। पीडितो की आस हैं।
वकील समाज के पथ प्रदर्शक हैं ।
वकील चिंतक हैं,सृजक हैं,विश्लेषक हैं ।
वकील सरस्वती का पुत्र हैं।
एसा विश्लेषक की पानी में से तेल निकाल दे।
एसा चिंतक की नया क़ानून रच दे।
एसा जादूगर की रस्सी
को साप और साप को रस्सी बना दे।
उसे सत्य का बोध हैं। और जिसे सत्य का बोध हैं वो बुद्ध हैं।
वकील:कानून का निर्माता,भोक्ता,रक्षक और प्रणेता हैं।
वकील हैं तो न्याय हैं। वह न्यायाधिकारी हैं।
वकील कोर्ट की रोंनक है।
वकील दुखियो का देवता हैं।
ओरो के दुखो को मिटान, अपने दुखो से बेखबर ओरो के लिये दोड़ता समाज सेवक हैं।
हर वकील आत्मविश्वास का साक्षात् अवतार हैं।
उसका सम्मान ही उसकी पुन्जी हैं। उसके पास इसके आलावा देने और खोने को कुछ नही।
वकील समाज की शान हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...