हमें चाहने वाले मित्र

10 जुलाई 2015

अमेठी: राहुल गांधी के भांजे रेहान ने नहीं खाई रोटी, गांववालों से की अंग्रेजी में बात

गांव के पूर्व प्रधान के घर खाना खाते रेहान वाड्रा।
गांव के पूर्व प्रधान के घर खाना खाते रेहान वाड्रा।
लखनऊ. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका और कारोबारी रॉबर्ट वाड्रा के बेटे रेहान अपने मामा राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी पहुंचे। उनके साथ दो दोस्त भी थे। अमेठी के एक गांव में उन्होंने खाने का लुत्फ उठाया। लेकिन रोटी नहीं खाई। चारपाई पर मच्छरदानी में रात भी बिताई। रात में 10 बजे सोने के बाद रेहान अगले दिन सुबह 9 बजे उठे। रेहान और उनके दोस्तों ने नाश्ते में पराठा, आलू, टमाटर और मटर की सब्जी और दही का मजा लिया। गांववालों ने बताया कि रेहान और उनके साथी गांव में घूमे भी और कुछ लोगों से बात की, लेकिन अंग्रेजी में बोलने की वजह से किसी को कुछ समझ नहीं आया।
गांववालों से की घंटों बातें
रेहान वाड्रा और उनके दोस्त मंगलवार को तीन लग्जरी कारों से अमेठी के गौरीगंज के कौहार गांव पहुंचे। उनका पहला पड़ाव एक सेल्फ हेल्प ग्रुप की अध्यक्ष सीमा का घर था। यहां से वे गांव घूमने निकल गए। रेहान और उनके दोस्तों ने गांववालों से घंटों बातें की। वह अंग्रेजी में बात कर रहे थे, इसलिए उन्होंने कई बातें साथ आए अधिकारियों से जानीं जो गांववालों से हिंदी में बातें जानकर रेहान को अंग्रेजी में बता रहे थे। रेहान और उनके दोस्तों को देखने के लिए लोगों की भीड़ जुट गई। रेहान ने मंगलवार दोपहर का खाना एक ढाबे पर खाया। इसके बाद वे गांव के पूर्व प्रधान राम अवध पांडे के घर चले गए। रात का खाना वहीं खाया और वहीं मच्छरदानी लगवाकर सो गए। बुधवार सुबह वे मुंशीगंज के एक गेस्ट हाऊस चले गए।
राजनीति में दिलचस्पी रखते हैं रेहान
पिछले साल 16 जुलाई को रेहान वाड्रा अपने दोस्तों के साथ संसद की कार्यवाही देखने पहुंचे थे। इससे पहले, लोकसभा चुनाव में वह अपने मामा के साथ रोड शो में भी नजर आए थे। रेहान वाड्रा का फेसबुक पेज बताता है कि वह अभी से राजनीति में दिलचस्पी ले रहे हैं। हालांकि, वह पिछले कई महीनों से एक्टिव नहीं हैं, लेकिन इससे पहले वे लगातार राजनीतिक पोस्ट्स टाइमलाइन पर डालते रहे हैं। उन्होंने महंगाई को लेकर बीजेपी पर निशाना साधने वाले कई पोस्ट शेयर किए थे। इसके अलावा, सहारनपुर दंगे पर उनके मामा द्वारा जताए गए दुख को भी साझा किया था।
रेहान के आने पर हुई खुशी
स्वयं सहायता समूह से जुड़ी सीमा कहती हैं कि प्रियंका गांधी के बेटे रेहान उनके घर आए इससे सबको बहुत खुशी हुई। पूरे गांव वाले उनके घर को घेरे हुए थे। रेहान के साथ उनके दोस्तों की मेहमाननवाजी करके सीमा अपने आप को काफी खुशनसीब बता रही थीं। उन्‍होंने कहा कि दोस्‍तों के साथ रेहान जब आए तो उनको घर के बरामदे में बिठाया गया। उन्‍होंने बिस्‍कुट खाकर पानी पिया। इस दौरान रेहान अपने दोस्तों से अंग्रेजी में बात करते रहे। रात में वे सभी घर के बाहर तख्‍त पर बैठकर घर की बनी दाल, चावल, रोटी और आलू परवल की सब्जी खाई। रेहान ने देसी घी की तड़का लगी दाल भरपेट खाई।
12 बजे रात तक नहीं आई लाइट
सीमा के भाई सुशील कुमार पांडे ने बताया कि रात में घर के बरामदे में सभी के लिए चारपाई पर बिस्तर लगाया गया। मच्छरदानी की व्यवस्था की गई थी। वे सभी थोड़ी देर बात करने के बाद रात करीब दस बजे सो गए। सुशील ने बताया कि उस दिन भी लाइट रोज की तरह रात 12 बजे आई थी।

सुबह नाश्ते में खाया पराठा
सीमा बताती हैं कि रेहान और उनके दोस्त सुबह करीब साढ़े नौ बजे सोकर उठे। उसके बाद घर में ही सभी फ्रेश हुए और नाश्ता किया। सुबह के नाश्ते में उन्हें पराठा, आलू, टमाटर और मटर की सब्जी और दही परोसा गया। इसे उन्‍होंने बड़े ही चाव से खाया। सीमा ने बताया कि रेहान चाय नहीं पीते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...