हमें चाहने वाले मित्र

22 जुलाई 2015

समर्पित शख्सियत का दुसरा नाम युवा शक्ति भानु प्रताप सिंह

खामोशी से बिना कोई शोर शराबे के अपने क्षेत्र में अपने लोगों ,,,अपने कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर कांग्रेस पार्टी को ज़िंदाबाद कहकर मज़बूती की कोशिश में जुटी समर्पित शख्सियत का दुसरा नाम युवा शक्ति भानु प्रताप सिंह है ,,,,,,,,,जी हाँ दोस्तों बचपन से कांग्रेस के प्रति समर्पित इस युवा स्मार्ट शख्सियत ने ग्रामीण क्षेत्र में खुद को स्थापित किया ,,संघर्ष और ग्रामीण क्षेत्र में इंसाफ की लड़ाई में खुद को साबित किया ,,और कोटा ग्रामीण क्षेत्र खासकर पीपल्दा ,,सुल्तानपुर के इर्द गिर्द गाँवों में ग्रामीणो के सामाजिक सरोकार के साथ उनमे हिलमिल कर उनके दुःख दर्द बांटे ,,,यही वजह रही के कांग्रेस संगठन में युवा संगठन के चुनाव हो या फिर लोकसभा क्षेत्र के चुनाव हो भानु प्रताप सिंह ने हर चुनाव ज़िम्मेदारी से लड़ा और अधिकतम वोटो से जीत कर खुद को कांग्रेस में ज़िंदाबाद भी किया ,,,,,भानु प्रताप सिंह को जब कांग्रेस ने टिकिट नहीं दिया तो सुल्तानपुर क्षेत्र के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इन्हे जबरन जिला परिषद सदस्य के लिए खड़ा किया और विकट परिस्थितियों के बाद भी भानु की लोकप्रियता ही थी के यह इस विकट चुनावो में सभी दूसरे प्रत्याक्षियों को परास्त कर सुल्तानपुर क्षेत्र के सिरमौर बने ,,,,अपने क्षेत्र से भानु को जीवंत लगाव है वोह गांव में जाते है ,,उनके दुःख दर्द पूंछते है ,,,उनकी तकलीफे कैसे दूर हो समस्याओं का समाधान कैसे हो इस पर विचार करते है ,,संघर्ष करते है और फिर लोगों का दिल जीत कर उनमे हर दिल अज़ीज़ हो जाते है ,,,ज़िलापरिषद में इस बार महिला सीट थी इनके समर्थको की मांग रही के भानु नहीं तो भाभी जी ,,बहु जी ,,यानि भानु की शरीके हयात को चुनाव लड़ाया जाए ,,चुनाव की सारी ज़िम्मेदारी क्षेत्रीय लोगों की थी और एक बार फिर भानु प्रताप ने जनता की अदालत में ख़्हुद को साबित कर दिखाया ,,भानु की पत्नी क्षेत्र में फिर से निर्वाचित हुई ,,,,,,,इनके क्षेत्र में किसानो के पास बीज की समस्या हो ,,पानी की समस्या हो ,,खाद की समस्या हो ,,शिक्षा ,, स्कूल ,,फीस ,,किताबों की समस्या हो ,,निजी समस्या हो ,,वाद विवाद हो सभी का निस्तारण भानु बना साहब चुटकियों में करते है ,,,अभी हाल ही में युथ कांग्रेस के चुनाव में परीक्षा की घड़ी थी लेकिन भानु का चुनाव मैनेजमेंट ही था के विरोधियों के सभी प्रयासों के बाद भी भानु युथ कांग्रेस के अध्यक्ष निर्वाचित हुए ,,भानु पद लेकर नहीं बैठे हर चुनाव में ,,कांग्रेस के हर कार्यक्रम में अपनी टीम के साथ कांग्रेस ज़िंदाबाद करने में जुटे रहे और कामयाबी भी हांसिल की है इनके प्रभावशाली निर्वाचन क्षेत्रो में कांग्रेस पिछड़ती नहीं है ,,और दूसरे क्षेत्रों में भी भानु अपने कार्यव्यवहार से भाजपा के वोटों में सेंध लगाकर कांग्रेस के हक़ में मतदान करवाते है ,,,, भानु प्रताप यूँ तो किसान है ,,खेतीहर है लेकिन इनके दूसरे व्यवसाय के साथ साथ स्कूल संचालन का व्यवसाय है और शिक्षाविद होने के नाते भानु अपने क्षेत्र सुल्तानपुर के बच्चो को ,,युवा पीढ़ी को आधुनिक ,,सस्ती ,,सुलभ शिक्षा देने का काम भी कर रहे है ,,भानु प्रताप सुल्तानपुर क्षेत्र से कोई भी कांग्रेस का नेता अगर निकले तो उसका गर्मजोशी से अपने समर्थको के साथ स्वागत करते है ,,भानु खुद कांग्रेस के लिए लड़ते है लेकिन अपने चहेते कांग्रेस के समर्पित उपेक्ष्ति कार्यकर्ताओं के लिए भी वरिष्ठ नेताओ से ऐसे कार्यकर्ताओं को उनका सम्मान ,,उनका हक़ दिलवाने के लिए विनम्रता से टकरा जाते है ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,हाल ही में सदस्य्ता अभियान के दौरान भी भानु प्रताप ने अपने क्षेत्र के ग्रामीण लोगों को अधिकतम सदस्य बनाकर रिकॉर्ड बनाया है ,,,,,,,,,,इसीलिए युवा नेता भानु प्रताप कोटा देहात के क्षेत्रो में ज़िंदाबाद है ,,,,,,,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...