हमें चाहने वाले मित्र

18 जुलाई 2015

पुरी: भगवान जगन्नाथ की नबकलेबर रथयात्रा में भगदड़ के दौरान 2 मरे, 14 जख्मी

फोटो: पुरी में भगवान जगन्नाथ की नबकलेबर रथयात्रा के दौरान भगदड़ में जख्मी हुई महिला को ले जाते लोग।
फोटो: पुरी में भगवान जगन्नाथ की नबकलेबर रथयात्रा के दौरान भगदड़ में जख्मी हुई महिला को ले जाते लोग।
पुरी. ओडिशा के पुरी में भगवान जगन्नाथ की नबकलेबर रथयात्रा के दौरान भगदड़ के दौरान दो लोगों की मौत हो चुकी है और 14 लोग जख्मी हो गए हैं। मरने वालों में 65 साल की महिला बिजयलक्ष्मी मोहंती भी शामिल है। मोहंती भगवान जगन्नाथ के रथ को खींचने के दौरान ही नीचे गिर गई थीं।घायलों को कटक के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
कहां हुई भगदड़?
गजपति किंग पैलेस के पास, जो मुख्य मंदिर से एक किलोमीटर दूर है।
9 दिनों की यात्रा के पहले दिन बड़ी तादाद में जुटे लोग
कड़ी सुरक्षा के बीच इस सदी की पहली नबकलेबर रथयात्रा के दौरान देश-विदेश से लाखों भक्त 9 दिनों की यात्रा के पहले दिन शनिवार को पुरी पहुंचे। इस यात्रा के दौरान भगवान जगन्नाथ, भगवान बलभद्र और देवी सुभद्रा की मूर्तियां गुंडिचा मंदिर ले जाई जाएंगी और फिर वहां से वापस लाई जाएंगी।
कुछ दिनों पहले 14 जुलाई को आंध्र प्रदेश के राजमुंदरी जिले में पुष्कर मेले के दौरान हुई भगदड़ में 35 लोगों की मौत हुई थी।
क्या है नबकलेबर यात्रा?
पुरी में नबकलेबर हर 19 साल बाद होती है। इसमें भगवान जगन्नाथ, बलभद्र, सुभद्रा और सुदर्शन चक्र की पुरानी मूर्तियों को नई मूर्तियों से बदला जाता है।
2001 से 2014 तक भगदड़ ने ली 2500 जानें
नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के अनुसार 2001 से 2014 तक 3000 से ज्यादा भगदड़ की घटनाएं हो चुकी हैं। इन हादसों में अब तक करीब 2500 लोग मारे जा चुके हैं। इनमें से कुछ अहम घटनाओं पर नजर डालिए:
- महाराष्ट्र, जनवरी, 2005, जगह: मंधेर देवी मंदिर, 300 से ज्यादा लोगों की मौत, यह मंदिर सतारा जिला में है।
- राजस्थान, 2008, जगह: चामुंडा देवी मंदिर, 200 से ज्यादा लोगों की मौत, यह मंदिर जोधपुर में है।
- हिमाचल प्रदेश, 2008 : जगह: नैना देवी मंदिर, 100 से ज्यादा लोगों की मौत।
- केरल, 2011, जगह: सबरीमाला मंदिर, 100 से ज्यादा लोगों की मौत।
- मध्य प्रदेश 2013, जगह: रतनगढ़ माता मंदिर, 100 से ज्यादा लोगों की मौत, यह भगदड़ नवरात्रि के दौरान लगने वाले मेले में हुई थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...