हमें चाहने वाले मित्र

28 जून 2015

सफलता के 20 मँत्र " 👏


👏1.खुद की कमाई से कम
खर्च हो ऐसी जिन्दगी
बनाओ..!
👏2. दिन मेँ कम से कम
3 लोगो की प्रशंसा करो..!
👏3. खुद की भुल स्वीकारने
मेँ कभी भी संकोच मत
करो..!
👏4. किसी के सपनो पर हँसो
मत..!
👏5. आपके पीछे खडे व्यक्ति
को भी कभी कभी आगे
जाने का मौका दो..!
👏6. रोज हो सके तो सुरज को
उगता हुए देखे..!
👏7. खुब जरुरी हो तभी कोई
चीज उधार लो..!
👏8. किसी के पास से कुछ
जानना हो तो विवेक से
दो बार...पुछो..!
👏9. कर्ज और शत्रु को कभी
बडा मत होने दो..!
👏10. ईश्वर पर पुरा भरोसा
रखो..!
👏11. प्रार्थना करना कभी
मत भुलो,प्रार्थना मेँ
अपार शक्ति होती है..!
👏12. अपने काम से मतलब
रखो..!
👏13. समय सबसे ज्यादा
कीमती है, इसको फालतु
कामो मेँ खर्च मत करो..
👏14. जो आपके पास है, उसी
मेँ खुश रहना सिखो..!
👏15. बुराई कभी भी किसी कि
भी मत करो,
क्योकिँ बुराई नाव मेँ
छेद समान है,बुराई
छोटी हो बडी नाव तो
डुबो ही देती है..!
👏16. हमेशा सकारात्मक सोच
रखो..!
👏17. हर व्यक्ति एक हुनर
लेकर पैदा होता है बस
उस हुनर को दुनिया के
सामने लाओ..!
👏18. कोई काम छोटा नही
होता हर काम बडा होता
है जैसे कि सोचो जो
काम आप कर रहे हो
अगर वह काम
आप नही करते हो तो
दुनिया पर क्या असर
होता..?
👏19. सफलता उनको ही
मिलती है जो कुछ
करते है
👏20. कुछ पाने के लिए कुछ
खोना नही बल्कि कुछ
करना पडता है

Maine aapko MANTAR dia
Aap bhi kisi ko do
Kyoki GYAN baatne se
GYAN badhta hi 🌾🌻🌾🌻🌾🌻🌾🌻🌾🌻
"रिश्ता" दिल से होना चाहिए, शब्दों से नहीं,
"नाराजगी" शब्दों में होनी चाहिए दिल में नहीं!
🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟
सड़क कितनी भी साफ हो
"धुल" तो हो ही जाती है,
इंसान कितना भी अच्छा हो
"भूल" तो हो ही जाती है!!!
🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟
आइना और परछाई के
जैसे मित्र रखो क्योकि
आइना कभी झूठ नही बोलता और परछाई कभी साथ नही छोङती......
🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟
खाने में कोई 'ज़हर' घोल दे तो
एक बार उसका 'इलाज' है..
लेकिन 'कान' में कोई 'ज़हर' घोल दे तो,
उसका कोई 'इलाज' नहीं है।
🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟
"मैं अपनी 'ज़िंदगी' मे हर किसी को
'अहमियत' देता हूँ...क्योंकि
जो 'अच्छे' होंगे वो 'साथ' देंगे...
और जो 'बुरे' होंगे वो 'सबक' देंगे...!!
🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟🌿🐟
अगर लोग केवल जरुरत पर
ही आपको याद करते है तो
बुरा मत मानिये बल्कि
गर्व कीजिये क्योंकि "
मोमबत्ती की याद तभीj आती है,
जब अंधकार होता है।"

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...