हमें चाहने वाले मित्र

23 सितंबर 2012

पति को छोड़ना मंजूर, गुटखा नहीं: मियां-बीवी ने दी तलाक की अर्जी



भिवानी. पति, पत्नी और 'वो' के चलते कई परिवार टूटे होंगे लेकिन यहां भिवानी में आए एक मामले में मियां बीवी के बीच 'गुटखा' आ गया। बात अब तलाक तक पहुंच गई है। गुटखे की लत छोडऩे की बजाय पत्नी अपने पति को ही छोडऩा चाहती है।
वाकया कुछ इस तरह है। जिले की एक महिला ने एसपी कार्यालय में शिकायत देते हुए कहा कि उसकी शादी दिल्ली क्षेत्र में हुई है। मगर, अब पति व ससुराल वाले उसे दहेज के लिए मारते-पीटते हैं। वहां से इस मामले को जिला महिला सेल में भेज दिया गया। सेल में दोनों पक्षों को सुनवाई के लिए बुलाया गया, तो महिला ने वही आरोप दोहराया और ससुराल वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। वहीं उसके पति ने बताया कि वह छह हजार रुपए महीने की नौकरी कर रहा है। उसकी पत्नी को गुटखा खाने की लत है। वह एक दिन में 50 गुटखे तक खा जाती है। जब उसे रोका जाता है तो वह झगड़ा करती है। युवक ने बताया कि वह कई बार अपनी पत्नी को समझा चुका है। मगर उसकी आदत नहीं छूट रही। इसी कारण एक दिन गुस्से में उसने उसे दो थप्पड़ मार दिए थे। इसके अलावा परिवार के किसी सदस्य ने उसे कभी कुछ नहीं कहा। इसी बीच महिला तपाक से बोली वह पति को छोड़ सकती है, लेकिन गुटखा खाना नहीं बंद कर सकती। गुटखा उसे बहुत प्यारा है।
हालांकि इसके बाद भी बेचारे पति ने अपना घर टूटने से बचाने के लिए कहा कि सबकुछ पहले जैसा हो जाएगा, यदि वह गुटखा खाना छोड़ दे। मगर बीवी अड़ी रही। महिला ने साफ कहा कि वह पति को छोडऩा पसंद करेगी। कोशिशों के बावजूद जिला महिला सेल में दोनों पक्षों में कोई सहमति नहीं बन पाई। अब तलाक के लिए पति-पत्नी ने भिवानी के जिला एंव सत्र न्यायालय में अर्जी लगाई है। वहीं मामला चल रहा है।
महिला की शिकायत हमारे पास आई थी। हमने उस शिकायत पर दोनों पक्षों को आमने-सामने किया तो पता चला कि महिला को गुटखा खाने की लत है। यहां दोनों पक्षों में समझौता कराने का प्रयास किया गया। लेकिन उनमें सहमति नहीं बन पाई। -एएसआई कृष्णा, इंचार्ज महिला सेल।

3 टिप्‍पणियां:

  1. शाबाश इसे कहते हैं नारी सशक्तिकरण !क्यूं सही कहा ना ?

    उत्तर देंहटाएं
  2. अति-सशक्तिकरण ...और अति सर्वत्र वर्ज्ययेत ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. अजी गुटखा खाने वालों की बात ही और है पति में वह बात कहाँ जो गुटखे में है .आदत के चुटके में है .मुख शोभा बोले तो ओरल कैंसर में है .सुखी परिवार के लिए स्वदेश गुटखा ही हमेशा खाइए .....

    ram ram bhai
    मुखपृष्ठ

    मंगलवार, 25 सितम्बर 2012
    आधे सच का आधा झूठ

    उत्तर देंहटाएं

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...