हमें चाहने वाले मित्र

20 फ़रवरी 2011

राजस्थान में लडकियाँ पढाई में अभी भी पीछे

राजस्थान में सर्व शिक्षा अभियान,साक्षरता अभियान,बच्चों को शिक्षा गारंटी अधिक्र देने के बाद भी यहाँ इस बार करीब सात लाख लडकियाँ स्कूलों में जाने से वंचित हें और कई ६ से १४ साल की बच्चियां महंत मजदूरी कर रही हें चाइल्ड ट्रेफिकिंग के इस आंकड़े ने राजस्थान सरकार के महिला शिक्षा के मामले में पोल खोल कर रख दी हे ।
राजस्थान सरकार का बजट सभी के लियें शिक्षा के रूप में समर्पित था और इस लियें महिलाओं के लियें शिक्षा क्षेत्र में अनेक घोषणाएं की गयी थी पोषाहार के अलावा युनिफोर्म , किताबें,और शुल्क में छुट सभी सुविधाओं के अलावा एक अभियान के रूप में घर घर जाकर शिक्षा जाग्रति के लियें घर बेठी बच्चियों को स्कुल में प्रवेश देना था इसी दोरान राजस्थान में शिक्षा गारंटी कानून को अंगीकार किया गया लेकिन इन सब के बाद भी जो नतीजे सामने आये हें वोह शर्मनाक हे ।
राजस्थान में आंगन बड़ी पाठशालाएं,राजीवगांधी पाठशालाएँ,मदरसा शिक्षा , प्राथमिक शिक्षा ,सर्वशिक्षा अभियान साक्षरता ,निजी शिक्षा सभी प्रयासों के बाद भी लडकियों के पढ़ी में पिछड़ने से सरकार के सभी दावों की पोल खुल गयी हे अब देखते हें सरकार इस मामले में क्या नये कदम उठाती हे । अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...