हमें चाहने वाले मित्र

06 अक्तूबर 2020

ब्लड मेन , प्लाज़्मा डोनर मेन ,, भाई धीरज गुप्ता तेज , हमे आप पर गर्व है ,

 

ब्लड मेन , प्लाज़्मा डोनर मेन ,, भाई धीरज गुप्ता तेज , हमे आप पर गर्व है , ,कोरोना के खिलाफ जंग में , कविताओं का प्रेरक प्रकाशन से जागरूकता कार्यक्रम ,फिर कोरोना नेगेटिव के बाद ,प्लाज़्मा डोनेशन में तीन बार , लगातार ,प्लाज़्मा डोनेशन का कोटा का ही नहीं ,राजस्थान का ही नहीं ,,पुरे देश में विश्व में एक प्लाज़्मा डोनेशन , प्रेरणा मामले में , इतिहास बनाया है ,रिकॉर्ड बनाया है ,, सीधे छह लोगों की ज़िंदगियों को बचाना , फिर घर में भाई पंकज को प्लाज़्मा डोनेशन के लिए प्रेरित कर , एक साथ एक ही परिवार के दो सदस्यों का प्लाज़्मा डोनेशन , कोटा का कोरोना की जंग में ,,गर्व से देश भर में , विश्व भर में सर ऊँचा कर देता है ,भाई धीरज हम तुम्हारे शुक्रगुज़ार है ,, *तीसरा प्लाज्मा दान*,, ऐतिहासिक महादान के बाद ,धीरज गुप्ता तेज कहते है ,,,,,
ईश्वर की अनुकंपा ही कहूंगा कि कोरोना पॉज़िटिव होने की वजह से मेरा प्लाज्मा अन्य रोगियों की जान बचाने में काम आ रहा है। आज तीसरी बार प्लाज्मा दान करने का सौभाग्य मिला, यानि अब तक कोविड-19 से पीड़ित छह जिंदगियों के लिए कुछ कर पाया। आगे भी यह सेवा जारी रखूंगा। सबसे खास बात तो यह रही कि मेरे अनुज पंकज गुप्ता ने भी मेरे साथ तीसरी बार प्लाज्मा दान किया। राजस्थान में तो मेरी जानकारी में यह पहला उदाहरण होगा, तीसरी बार प्लाज्मा दान और दो भाइयों का एक साथ होना। यह तो शुरुआत है, और भी ऐसे लोगों को आगे आना चाहिए जिन्हें ईश्वर ने सक्षम बनाया है, ताकि हमारा देश कोरोना से अपनी जंग को जीतने में जल्दी ही कामयाबी हासिल करे,, धीरज गुप्ता के इस पुनीत कार्य के लिए परिवार जनो का भी पूरा सहयोग है ,इनके पिता श्री की प्रेरणा ,पत्नी एडवोकेट नोटेरी अनीता गुप्ता और बच्चों का भी सराहनीय विशवास है ,सभी को
बधाई
,,
बहुमुखी प्रतिभा के धनी ,,,मेरे भाई धीरज गुप्ता तेज राजस्थान सरकार कोटा सम्भाग से जन अभाव अभियोग निराकरण समिति में प्रभारी सदस्य भी रहे है ,,धीरज गुप्ता तेज एक तेज़ तर्रार शख्सियत के धनी है ,,वोह दूरसंचार समिति ,,रेलवे परामर्शदात्री समिति ,,पत्रकार एवम साहित्यकार कल्याण समिति के सदस्य भी रहे है ,,धीरज गुप्ता तेज के इस मनोनयन पर कोटा सम्भाग के पत्रकारों के चेहरे खिल उठते है ,,धीरज गुप्ता छात्र जीवन से ही समाजसेवा क्षेत्र से जुड़े रहे है ,,यह सांस्कृतिक कार्यक्रमो में अव्वल रहते है ,,इन्होंने ऍन सी सी में रहकर भी एक अनुशासित केडेट के रूप में कई समाजसेवी कार्य किये ,, जबकि इन्हें चलता फिरता ब्लड बैंक भी कहा जाता है ,,विभिन्न संस्थाओ से जुड़ कर इन्होंने खुद भी रक्तदान किया ,,कई रक्तदान शिविर लगाए ,,और रक्तदान एक महादान का नारा देकर कोटा में जन्मदिनों और धार्मिक कार्यक्रमो के दौरान आम लोगो में दलगत सियासत ,,मज़हबी विचारधारा से अलग हट कर ,,लोगो में रक्तदान का जज़्बा पैदा किया ,,,धीरज गुप्ता तेज पत्रकारिता में मुखर रहे ,,विभिन्न समाचार पत्रो में कार्यरत होने के बाद इन्हें प्रेस क्लब कोटा में लगातार कई बार प्रेस क्लब सचिव निर्वाचित किया गया ,,बाद में प्रेस क्लब सदस्यो की मांग पर इन्हें प्रेस क्लब अध्यक्ष का चुनाव लड़ना पढ़ा और यह लगातार प्रेस क्लब सचिव हरिमोहन शर्मा के साथ अध्यक्ष बने रहे ,,,प्रेस क्लब कोटा का वर्तमान भवन निर्माण की नींव से लेकर तीसरी मन्ज़िल तक जो भी निर्मित है वोह सब धीरज गुप्ता और उनकी टीम की महनत का ही नतीजा है ,,पत्रकारों पर हुए कई ज़ुल्म ज़्यादती की घटनाओ के खिलाफ धीरज गुप्ता ने हमेशा आवाज़ बुलन्द की है,,छोटे मंझोले समाचार पत्र मालिको के लिए विज्ञापन के लिए संघर्ष किया ,,उन्हें अधिस्वीकृत करवाने ,,पेंशन ,,लेबटोप दिलवाने से लेकर अत्यंत रियायती दर पर पत्रकारों को भूखण्ड दिलवाने में कामयाबी हांसिल की ,,,,,,,प्रेस क्लब की नींव की ईंट से लेकर ,,आज के कंगूरे तक पूरा योगदान भाई धीरज गुप्ता तेज का रहा है ,,प्रेस क्लब कोटा में देश की कई जानी मानी हस्तियां ,,मीट द प्रेस में बुलाकर उन्हें पत्रकारों से मुखातिब किया ,,कई कार्यशालाएं कई शिविर आयोजित किए जबकि जार पत्रकार संगठन के राष्ट्रिय और प्रदेश अधिकारी होने के नाते इनके आतिथ्य में पत्रकारों को प्रशिक्षित और ज्ञानवर्धन करने की कई कार्यशालाएं आयोजित की गयी ,,,धीरजगुप्ता को यारो का यार कहा जाता है ,,अपनों के लिए संघर्ष के वक़्त इन्हें खुद के नफे नुकसान की फ़िक्र नहीं होती ,,यही वजह है के इनके कंधो पर चढ़कर कई लोग आज आर्थिक रूप से सम्पन्न भी हो गए है ,,जबकि कई लोग महत्वपूर्ण ओहदों पर बैठे है ,,,,,धीरज गुप्ता पत्रकार होने के साथ साथ मुखर वक्ता भी है ,,इनकी मूंछे ,,इनकी पहचान है ,,धीरज गुप्ता , पूर्व,मुख्यमंत्री वसुंधरा सिंधिया ,,उनके पुत्र सांसद दुष्यंत के प्रथम वफादारों में से है वोह दो दशक से इस परिवार के साथ सभी सियासी यात्राओं में मुखर रहे है और मिडिया मैनेजमेंट का काम भी इन्होंने सम्भाला है , जनअभाव अभियोग निराकरण समिति के चेयरमेन श्रीकृष्ण पाटीदार के साथ कोटा सम्भाग प्रभारी सदस्य के रूप में यह आम जनता की कसौटी पर शतप्रतिशत खरा उतरे ,,और कोटा सम्भाग में आने वाले सभी ज़िलों की समस्याओ के समाधान के लिए आम जनता के साथ जन सुनवाई कार्य्रकम आयोजित कर लोगो को प्रशासनिक उत्पीड़न से इन्साफ दिलाया ,,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...