हमें चाहने वाले मित्र

20 सितंबर 2020

दैनिक हिंदुस्तान टाइम्स समाचार पत्र कोटा के ,, तेज़तर्रार पत्रकार ,,आबशार क़ाज़ी का आज जन्म दिन कोटा के सभी पत्रकार साथियों , समाजसेवकों ,उनके दोस्तों , मित्रों ने मिलजुलकर ,,खुशहाली ,सह्तयाबी ,कामयाबी की दुआओं के सिलसिले के साथ मनाया ,

 

दैनिक हिंदुस्तान टाइम्स समाचार पत्र कोटा के ,, तेज़तर्रार पत्रकार ,,आबशार क़ाज़ी का आज जन्म दिन कोटा के सभी पत्रकार साथियों , समाजसेवकों ,उनके दोस्तों , मित्रों ने मिलजुलकर ,,खुशहाली ,सह्तयाबी ,कामयाबी की दुआओं के सिलसिले के साथ मनाया ,, आबशार क़ाज़ी यूँ तो जयपुर में ही पले ,बढे ,पढ़े लिखे ,, उनका प्रारम्भिक जीवन जयपुर में ही रहा ,,क्योंकि उनके वालिद सगीर क़ाज़ी साहिब चालीस साल तक जयपुर सवाई मानसिंग अस्पताल में प्रभारी के रूप में कार्यरत रहे ,,,, आबशार क़ाज़ी छात्र जीवन से ही मिलनसार ,लोगों के दुःख दर्द देखकर ,उनके दर्द बांटने की हमदर्दी रखते थे ,लोगों के हक़ के लिए संघर्ष उन्हें अच्छा लगता था ,इसीलिए अंग्रेज़ी माध्यम के छात्र होने के नाते ,उन्हें देश के सबसे बढे अंग्रेजी अख़बार हिंदुस्तान टाइम्स में जब , संवाददाता का ऑफर मिला तो वोह हिंदुस्तान टाइम्स से जुड़कर ,हिन्दुस्तानियों की आवाज़ बन गए ,, आबशार क़ाज़ी जैसा नाम वैसा स्वभाव ,वैसा काम ,आबशार यानी ,खूबसूरत झरना ,,पानी का खूबसूरती से बहकर जो झरने का अंदाज़ बनता है ,उसे आबशार कहते है ,, और माशा अल्लाह आबशार क़ाज़ी की मिलनसार शख्सियत ,हंसमुख स्वभाव ,हमदर्दाना अंदाज़ , निष्पक्ष इमादनाराना रिपोर्टिंग ,,निर्भीकता ,खोजी खबर की क्षमता ,ने आबशार को कोटा में सभी का हर दिल अज़ीज़ बना दिया ,आज आबशार क़ाज़ी कोटा में चाहे प्रेस क्लब हो ,चाहे पत्रकारों के दूसरे संगठन हो ,समाजसेवी व्यापारिक संगठन हो ,,सभी के चहेते बने हुए है , आबशार क़ाज़ी के हिन्दुस्तान टाइम्स में रोज़ मर्रा कोटा को लेकर रष्ट्रीय स्तर की खबरे प्रकाशित होती है ,,कई खबरों के प्रकाशन पर इन्हे देश भर में शाबाशी भी मिली है ,आबशार क़ाज़ी आज कोटा में हिंदुस्तान टाइम्स के मुख्यसंवाददाता है ,, कोटा में ही इनका विवाह हुआ और इनकी शरीक ऐ हयात भी , आबशार क़ाज़ी में ऐसा घुली ,ऐसा मिली , के वोह इन्ही के रास्ते पर चल कर ,,पत्रकारिता से जुड़े ,पहले उनके आर्टिकल कोटा के समाचार पत्रों सहित ,,राष्ट्रिय स्तर की मैग्ज़ीनों में छपने लगे ,अब उन्होंने कोचिंग सिटी कोटा में ,, अंग्रेजी पत्रकारिता की शुरुआत की है ,कोटा की पत्रकारिता के इतिहास में ,,, किसान संदेश जागृति साप्तहिक ,,दैनिक अमर नायक पहला सांध्य दैनिक ,दैनिक जननांयक पहला हिंदी दैनिक अख़बार रहा है ,ऐसे ही अब ,रूबीना क़ाज़ी का कोटा से प्रकाशित अंग्रेजी अख़बार कोटा कॉलेग , लोगों के लिए ,पाठकों के लिए ,व्यापारियों ,चिकित्स्कों ,समसजेवीयो ,सियासी लोगों ,छात्र छात्राओं ,अधिकारीयों के लिए एक ज़रूरत बन गया है ,,,, आबशार क़ाज़ी को उनकी सालगिरह पर ,,एक बार फिर पुर खुलूस दुआओं के साथ ,कामयाबी ,सह्तयाबी ,खुशहाली ,,उम्रदराज़ी के बेशुमार दुआए ,बधाई ,, आबशार क़ाज़ी को जार के हरिमोहन शर्मा , धीरज गुप्ता तेज , क़य्यूम अली , श्याम रोहिड़ा , सुधींद्र गोड़ , सलीमुर्रहमान खिलजी ,डॉक्टर डी एन गांधी , के डी अब्बासी , ओमेंद्र सक्सेना , अनिल भारद्वाज , बद्री प्रसाद गौतम , डॉक्टर प्रभात कुमार सिंघल , के एल जेन , मुल्क राज अरोड़ा , चन्द्र प्रकाश चंदू , सहित सभी बधाइयां दे रहे है अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान
60 C
omments

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...