हमें चाहने वाले मित्र

28 जून 2020

दोस्तों मेरे भाई रफीक पठान के हाथ मे कैमरा नहीं , यह तीसरी आंख है , पत्रकार की निष्पक्ष कलम है , जिसका तहलका हम रोज़ देख रहे है ,

दोस्तों मेरे भाई रफीक पठान के हाथ मे कैमरा नहीं , यह तीसरी आंख है , पत्रकार की निष्पक्ष कलम है , जिसका तहलका हम रोज़ देख रहे है , आज इस कलमकार , सेवाभावी लुहावद सरपंच की सालगिराह है , उन्हें पुरखुलूस दुआओं के साथ दिली मुबारकबाद , बधाई , दोस्तों पत्रकार से सरपंच बने रफ़ीक़ पठान ने सरपंच मैनेजमेंट में दी बेस्ट ,,काम कर सभी को चौंका दिया है और कोटा का ही नहीं पुरे राजस्थान का भारत के पंचायत राज में नाम क़ायम किया है ,,,,,,यही वजह रही है महिला सीट होने पर भी ग्राम लुहावद वासियों ने , एक बार फिर इन्हें इनकी पत्नी श्रीमती संजीदा पठान को भारी वोटों से जिताकर खिदमत का मौका दिया है ,,,,,,,,दैनिक भास्कर में पूर्व प्रेस फोटोग्राफर के रूप में सर्वोच्च फोटोग्राफी का स्थान प्राप्त कर अपनी फोटो तकनीक से पाठकों का मन मोहने वाले रफ़ीक़ पठान कोटा ज़िले के इटावा क़स्बे की पंचायत ग्राम लुहावद से सरपंच का चुनाव लड़े ,,,बेहिसाब वोटों से चुनाव जीते एक विशेष गुट ने इनके खिलाफ सिर्फ इसलिए मुक़दमा कर दिया क्योंकि उनके सरपंच कार्यकाल में ढेरों अनियमितताएं थी और वोह चाहते थे के उनके कार्यकाल के भ्रष्टाचार और अनिमित्ता की जांच ना हो ,,लेकिन रफ़ीक़ पठान झुके नहीं ,,मुक़दमा खारिज हुआ ,,,फ़र्ज़ी पट्टे मामले में पुराने सरपंच जी को ज़मानत कराना पढ़ी ,,,,,रफ़ीक़ पठान अपने क्षेत्र में पहले से ही सक्रिय थे इसलिए उन्होेन पहले अपने इलाक़े की समस्याओं को जाना लोगों को सुना और फिर अपनी पंचायत लुहावद पंचायत को एक आदर्श पंचायत बनाने की कोशिशों में जुट गए ,,रफ़ीक़ पठान ने लुहावद नफरत के इस माहोल में नफरतबाज़ों को जवाब देने के लिए क़ौमी एकता के संगम का प्रतीक मदरसा खोला जहां हिन्दू मुस्लिम बच्चे सभी अपने अपने मज़हब की तालीम के साथ दुनिया की तालीम भी हांसिल कर रहे है ,,,,,,,,,,रफ़ीक़ पठान अपनी इस पंचायत के विकास के लिए जहां से भी बजट मिला ,,,जहां से भी मदद मिली लेकर आये ,,,,उन्होंने कब्रिस्तानों को विकसित किया ,,सुविधायुक्त बनाया ,,,,शमशानों की व्यवस्था में सुधार कर धर्मप्रेमियों के लिए अलग से स्थल बनाये ,,,मदरसो ,,स्कूल ,, पाठशाला का दायरा बढ़ाया ,, सर्वशिक्षा अभियान के तहत साक्षरता के कार्यक्रम को चरम सीमा पर पहुंचाया ,,,सभी को न्याय मिले इसके लिए लोकअदालत की भावना से प्रशासनिक कार्य निपटाये ,,प्रशासन इनके गांव में रहा ,,समस्याओं को गिनाया और समस्याओं का निस्तारण हुआ ,,,नाली ,,पटान ,,खरंजे ,,,, सड़के ,,,गरीबों को निजी मकान की सुविधा ,,,ग्रामपंचायत में बच्चों के मनोरंजन के लिए गार्डन ,,बुज़ुर्गों के सुबह की सेर के लिए खुली हवा ,, हरियाली ,,गार्डन ,,,,,,, सामुदायिक भवन ,,,,पुलिस सुरक्षा ,,,,गाँव के छोटे छोटे झगड़े आपस में समझाईश से निस्तारित करना इनका शोक रहा ,,,,हालात यह हुए के पूर्व सरकार में पंचायत राज मंत्री ,,पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने रफ़ीक़ पठान को इनके पंचायत विकास के इन कार्यों के लिए राष्ट्रीय स्तर समारोह में बेस्ट सरपंच का एवार्ड देकर पुरस्कृत किया ,, निजी रूप से बुलाकर शाबाशी दी ,,, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हो या फिर पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा सिंधिया सभी ने रफ़ीक़ पठान के विकास कार्यों को सराहा ,,और इनकी पीठ भी थपथपाई है ,,,,,अब रफ़ीक़ पठान का सरपंची कार्यकाल खत्म हुआ ,,,,,लोग यही सोच रहे थे लेकिन फिर चुनाव हुए फिर संजीदा पठान को इनके कार्य को लेकर वोट मिले यह चुनाव जीते फिर विकास के नारे के साथ मैदान में ग्रामवासियों के साथ खड़े है , अभी कोरोना काल मे यह इनकी पत्नी वहां ज़ेवक बन कर रहे ,,,,,रफीक पठान राजस्थान से प्रकाशित प्रदेश स्तरीय दो समाचार पत्रों में कोटा संभाग प्रकाशन का काम स्वतंत्र रूप से देख रहे जबकि खुद के समाचार पत्र का प्रकाशन भी लगातार चल रहा है ,,पत्रकारिता में इनकी प्रेस फोटोग्राफी आआज भी बेमिसाल है , इन्होंने प्रेस फोटोग्राफर पत्रकारिता में कई पुरस्कार प्राप्त किये है ,, आज भी कुछ लाजवाब फोटो जो कोटा पर्यटन , सियासत में चर्चित आइकॉन रहे उनका रिकॉर्ड कोई दूसरा पत्रकार नहीं तोड़ पाया है बहुमुखी प्रतिभा के धनी समस्याओं , विकास को तीसरी आंख कैमरे , पत्रकारिता , समाजसेवक , जनप्रतिनिधि , हर दिल अज़ीज़ , लोगों के चहेते , ,राजस्थान में एक मात्र सरपंच जिन्होंने जो कहा वोह किया और अपनी पंचायत को स्वर्ग बना दिया ऐसे भाई रफ़ीक़ पठान को सलाम ,,सेल्यूट ,,,,,बधाई,,,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...