हमें चाहने वाले मित्र

28 अक्तूबर 2019

जी हाँ दोस्तों ,, राजीव आचार्य कोटा उत्तर ब्लॉक के सक्रिय अध्यक्ष है

एक आचार्य जो राजीव है , सुल्तानपुर रतलाम के सुल्तान हुए ,फिर कोटा ज़िले में ही पढ़ लिखकर ,यहाँ कांग्रेस ज़िंदाबाद करते हुए ,वर्तमान हालातों में,, नगरनिगम चुनाव में दो उपमहापौर होने के बाद ,,कोटा उत्तर के महापौर चुनाव प्रबंधन में जुट गए है ,, जी हाँ दोस्तों ,, राजीव आचार्य कोटा उत्तर ब्लॉक के सक्रिय अध्यक्ष है ,,वोह स्वायत्तशासन मंत्री शान्तिकुमार धारीवाल के निर्देशों पर अपने ब्लॉक क्षेत्र में जिला कांग्रेस अध्यक्ष रविंद्र त्यागी के नेतृत्व में अभी से तैयारियों में जुट गए है ,, राजीव आचार्य पुनर्सीमांकन के लिए अपने क्षेत्र में नियमानुसार प्रबंधन को लेकर प्रयासरत हो गये है ,इनके कोटा उत्तर ब्लॉक क्षेत्र में ,आने वाले मतदाताओं की भाग संख्या के रूहझान के अनुसार ,,क्षेत्रीय मुद्दों के निराकरण को लेकर यह अपनी टीम के साथ लगातार सक्रिय है ,, ग्राम सुल्तानपुर ,रतलाम के ताल में 6 मार्च 1982 को जन्मे भाई राजीव आचार्य इनके पिता श्री महेंद्र आचार्य के साथ कोटा पहुंचे ,,यहाँ प्रारम्भिक शिक्षा के बाद चिल्ड्रन सीनियर हायर सकेंडरी स्कूल में ही छात्र संघ चुनाव की प्रक्रिया के साथ ,,छात्र राजनीति से जुड़ गए ,स्कूल में खेल कूद सहित अन्य गतिविधियों में शामिल रहकर ,राजीव आचार्य कुशल वक्ता होने के कारण छात्र ,छात्राओं की समस्याओं के समाधान को लेकर चिंतित रहे ,फिर कोटा राजकीय महाविधयालय में ग्रेजुएशन के बाद मास्टर डिग्री पास की ,छात्र जीवन में राजकीय महाविधायलय में राजीव आचार्य ,,छात्र छात्राओं की शैक्षणिक और खेलकूद समस्याओं के निराकरण ,उनके स्वाभिमान मान सम्मान के लिए संघर्ष करते रहे ,अनेकों बार सरकारी अधिकारीयों से टकराव का माहौल बना ,छात्र हित संघर्ष में राजीव आचार्य को पुलिस और अधिकारियों से विवाद के कारण क़रीब नो से भी अधिक फौजदारी मुक़दमों का सामना करना पढ़ा ,राजीव आचार्य छात्र राजनीति में छात्र संघ के प्रमुख सलाहकार रहे ,,इनके कार्यकाल में छात्र छात्राओं को प्रवेश सुविधाओं में आ रही कठिनाइयों को दूर करने का फार्मूला मिला ,,सांस्कृतिक ,खेलकूद गतिविधियों का माहौल रहा ,,छात्र छात्रों के बीच एक भरोसे का माहौल बना ,, शैक्षणिक गतिविधियों ,,सेमीनार कार्यक्रम हुए ,,खुद राजीव आचार्य एक अनुशासित ऍन सी सी केडेट के रूप में एयरविंग में लगातार प्रशिक्षण लेते रहे ,आपात स्थिति में रक्तदान ,समाजसेवा सहित कई शिविरों में हिस्सेदार रहे ,,इसी दौरान छात्र संघ अध्यक्ष रामेश्वर सूंवालका के साथ राजीव आचार्य को छात्र राजनीति का गुरुज्ञान ,मिला और राजीव आचार्य स्वायत शासन मंत्री शानतिकुमार धारीवाल के तेज़तर्रार ,समर्पित ,सर्वसमाजहितकारी , विकाशसील राजनितिक गतिविधियों से इतने प्रभावित हुए के वोह सियासत में शान्तिधारीवाल को समर्पित हुए ,उनके नेतृत्व में ,निर्देशों में राजीव आचार्य यूथ कांग्रेस के पदाधिकारी बनाए गये ,छात्रों सहित युवाओं की समस्याओं को लेकर इन्होने कई संघर्ष किये ,,कांग्रेस संगठन की रीती रीतियों को समझकर ,समर्पण भाव से हर चुनाव में राजीव आचार्य ने ,सूझबूझ के साथ इनकी अपनी क्षेत्रीय भा भाग संख्याओं सहित आस पास के क्षेत्र में लोगों को कांग्रेस के पक्ष में जोड़कर मतदान के लिए उत्प्रेरित किया ,,इनके क्षेत्र में विकट परिस्थतियों में भी कांग्रेस का परचम बुलंद रहा ,,, कांग्रेस संगठन चुनाव के दौरान राजीव आचार्य पर भरोसा जताकर ,संगठन के चुनाव पर्यवेक्षकों ने शांति धारीवाल के आशीर्वाद से इन्हे कोटा उत्तर विधानसभा के एक ब्लॉक का अध्यक्ष चुनकर ज़िम्मेदारी सम्भलाई ,,, राजीव आचार्य अपनी इस ज़िम्मेदारी को अपने कार्य क्षेत्र में आने वाली सभी भाग संख्याओं ,सभी वार्डों में लगातार सम्पर्क में है ,,वार्डों की समस्याओं को लेकर लगातार अधिकारीयों से सम्पर्क कर उनका निराकरण करवाते है ,,शान्तिधारीवाल का बूथ मैनेजमेंट गुर सीखने की कोशिश कर , राजीव आचार्य उनके आशीर्वाद से लगातार मतदाताओं के सम्पर्क में है ,,, राजीव आचार्य लगातार बूथ कार्यकर्ताओं से सम्पर्क में है यह नुक्क्ड़ बैठके आयोजित कर ,बूथ कार्यकर्ता साथियों का उत्साहवर्धन करते है ,,हाल ही में नगर निगम के कोटा में दो उपमहापौर की घोषणा के बाद ,भविष्य में वार्डों के पुनर्सीमांकन को लेकर राजीव आचार्य सक्रिय हो गए है ,,कोटा उत्तर महापौर महिला एस सी आरक्षित है ,,,इस क्षेत्र की वार्डसंख्याओं के आधार पर यहां अब रोज़मर्रा डिजिटल व्यवस्थाओं के साथ तैयारियां चल रही है ,,राजीव आचार्य ने बूथ मैनेजमेंट को लेकर कई कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित करवाए जबकि हाल ही में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती कार्यक्रम के तहत कोटा उत्तर क्षेत्र में इनके ब्लॉक के कार्यकर्ताओं का गांधीवादी विचारधारा के प्रचार को लेकर बूथ मैनेजमेंट और कांग्रेस ज़िंदाबाद के नारे को एक साथ जोड़ते हुए ,कुन्हाड़ी स्थित संजोग रिसोर्ट में बढ़ा ऐतिहासिक सम्मलेन कर इन्होने नेतृत्व का विश्वास जीता है ,, राजीव आचार्य ,सहज ,सरल , हंसमुख , स्वभाव के है ,, लोगों की दुःख तकलीफ में काम आना इनके लिए ख़ुशी की बात होती है ,,वर्तमान में राजस्थान सरकार ने राजीव आचार्य को डेयरी बुथ कमेटी आवंटन समिति सहित कई अन्य समितियों में भी ज़िम्मेदारी दी है ,, राजीव आचार्य कहते है ,वोह स्वायत्तशासन मंत्री शान्तिकुमार धारीवाल से प्रभावित ,है ,,उनके सियासी गुरु के साथ साथ शांति धारीवाल उनके मार्गदर्शक है ,, वोह कहते है उन्हें गर्व है के शान्तिकुमार धारीवाल कोटा में ही नहीं पूरे राजस्थान में एक लोहपुरुष ,,तेज़तर्रार निर्भीक ईमानदार नेतृत्व , के साथ साथ ,,विकास पुरुष ,सोंदर्यकरण योजनाओं के क्रियान्वन करने वाले ज़िम्मेदार ,आम जनता की समस्याओं का तत्काल समाधान करने वाले नेतृत्व की छवि रखते है , जबकि कार्यकर्ताओं के साथ हमेशा वोह खड़े मिलते है ,,ऐसे नेतृत्व को अपना उस्ताद बनाकर ,राजीव आचार्य खुद को धन्य समझते है ,, अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...