हमें चाहने वाले मित्र

02 जुलाई 2018

,मस्जिद बदली बदली सी लगी

आज सोमवार को सुबह की अदालत का वक़्त बदलकर दस बजे से शुरू होने का पहला दिन था ,दोपहर ज़ोहर की नमाज़ ,अदालत के नज़दीक ढाई महीने में फिर पढ़ने का मौक़ा मिला ,मस्जिद बदली बदली सी लगी ,कई पुराने नमाज़ी साथियों से ढाई महीने बाद सलाम दुआ हुई ,,श्रीपुरा की मस्जिद भी बदली बदली लगी ,लेकिन बरकत उद्यान की ढांचा मस्जिद के पुनरनिर्माण के लिए कोई चारा जूही नज़र नहीं आयी ,,बरकत उद्यान की मस्जिद को तीन सालों से आज भी कलेक्टर के हुक्म नामे का मरम्मत के लिए इन्तिज़ार ,है ,ज़मीन आम मुसलमानान वक़्फ़ कमेटी कोटा की ,,मस्जिद मरम्मत का खर्चा आम नमाज़ियों ,सहयोगियों का ,वक़्फ़ बोर्ड राजस्थान सरकार के मुख्य कार्यकारी अधिकारी का अनापत्ति प्रमाणपत्र ,पास शुदा नक़्शा ,,सभी कुछ बार बार जिलाकलेक्टर कोटा की पत्रावली में लग चुके है ,स्वीकृति के लिए पत्रावली रखी है ,अल्पसंख्यक आयोग के भी निर्देश है ,,कोटा के अमन पसंद लोगो द्वारा कई बार जिला कलेक्टर से अपील की जा चुकी है ,,,किसी को कोई ऐतराज़ भी नहीं है ,न ट्रेफिक की प्रॉब्लम ,न क़ानून व्यवस्था की दिक़्क़त ,न अतिक्रमण ,न सरकारी खर्चे का मामला ,,क़ानूनी सभी पेचीदगियां पूरी दो वर्ष पूर्व से ही पढ़ी है ,कांग्रेस का वक़्फ़ बोर्ड भंग के बाद ,भाजपा सरकार का वक़्फ़ बोर्ड बना ,कोटा में जिला वक़्फ़ कमेटी के सदर ,,सचिव ,पदाधिकारियों की नियुक्ति हुई ,भाजपा सरकार में बूंदी ज़िले के अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य ,मंत्री दर्जा भाई अमीन पठान साहब ,,भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश पदाधिकारियों के साथ कई ज़िम्मेदार भाजपा समर्थित मेरे भाई जिनकी मंत्रियों ,सांसद ,विधायक के अलावा ,इस मस्जिद मरम्मत कार्य को बेवजह रोके रखने वाले अधिकारियो के साथ रोज़ उठ बैठ है ,,,,पूर्व प्रदेश वक़्फ़ बोर्ड सदस्य ,जिला वक़्फ़ कमेटी के पूर्व सदर निजामुद्दीन ,सांसद के नज़दीक है ,,घटाघर के वार्ड पार्षद कल्लू कुरैशी सहित दो पार्षद है ,,लेकिन अफ़सोस अल्लाह ने अब तक उनके ज़हन में इस मस्जिद के मरम्मत इजाज़त मामले में अगुवाई कर इजाज़त तुरंत दिलवाकर नमाज़ियों के लिए इस मस्जिद को शुरुआत करवाएं का ख्याल नहीं डाला ,है ,शायद अल्लाह ही की कोई मस्लेहत हो ,अल्लाह जिससे चाहता है उसके घर को बनाने का काम करवा लेता है ,और जिस बदनसीब को इस काम से अलग रखता है वोह कितना ही मज़बूत ,प्रभावशाली क्यों न हो ,वोह बदनसीब ही कहलाता है ,खेर अल्लाह से दुआ है वोह जल्दी ही ,वर्षो पुरानी ,क़दीमी ,,आस पास के व्यापारियों सरकारी कर्मचारियों के निरंतर इबादत के उपयोग में आ रही इस मस्जिद का मरम्मत निर्माण जल्दी शुरू करवाए ,जो प्रभावशाली ,सरकार में अपना पासा मज़बूत रखने के बाद भी इबादत के इस काम में आगे नहीं आ पाए है ,अपनी सरकार के नफरतबाज़ ब्यूरोक्रेट्स की रुकी क़लम से इंसाफ नहीं करा पाए ,है ,अल्लाह उनकी भी चुप्पी तोड़े ,अल्लाह उन्हें भी हिदायत दे ,आमीन ,,सुम्मा आमीन ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...