हमें चाहने वाले मित्र

03 जनवरी 2018

15 दिसम्बर 2015 को कार्यकारिणी सदस्यों के घोषित नतीजों को 3 जनवरी को होने वाली पुनर्मतगणना ने बदल दिया है

कोटा अभिभाषक परिषद वर्ष 2018 कार्यकारिणी के चुनाव में 15 दिसम्बर 2015 को कार्यकारिणी सदस्यों के घोषित नतीजों को 3 जनवरी को होने वाली पुनर्मतगणना ने बदल दिया है ,,नए नतीजों के अनुसार ,,हारे हुए घोषित प्रत्याक्षी राधेश्याम गोढ़ निर्वाचित घोषित हुए है जबकि पूर्व में आठ नंबर पर जीते हुए प्रत्याक्षी मयंक नामा को हारा हुआ घोषित किया गया है ,,,कोटा अभिभाषक परिषद के चुनाव में कार्यकारिणी सदस्य के प्रत्याक्षी राधेश्याम गोढ़ को पहले निर्वाचित घोषित किया ,,,उन्होने मालाएं पहनी ,,फिर अचानक उन्हें हारा हुआ घोषित ,,किया ,,,गोढ़ की तरफ से पुनर्मतगणना का प्रार्थना पत्र पेश हुआ ,,,जिसे निर्वाचन अधिकारी भगवती प्रसाद शर्मा ने ख़ारिज कर दिया ,,इस मामले में राधेश्याम गोढ़ में निर्वाचन ट्रिब्यूनल के समक्ष पुनर्मतगणना को लेकर चुनौती दी थी ,,,ट्रिब्यूनल के नरेंद्र गुप्ता ,,,जमील अहमद ,,हरीश शर्मा ,,ने पुनर्मतगणना का प्रार्थना पत्र मंज़ूर कर ,आज सभी 15 कार्यकारिणी सदस्यों के वोटो की गिनती करवाई ,,जिसमे वोटो में काफी अंतर् तो था ही ,लेकिन आठ नंबर पर घोषित मयंक नामा को ग्यारहवे नंबर पर आने से हारा हुआ घोषित किया जबकि ,,राधेश्याम गोढ़ को नवें नंबर पर आने से जीता हुआ घोषित किया गया ,,पूर्व और वर्तमान मतगणना में कई प्रत्याक्षियों के वोटो का काफी अंतर् आया है ,,,इकराम हुसैन के पहले 354 वोट गिने थे जो अब 350 रह गए इनके चार वोटो को पहले ज़्यादा गिना गया था ,,,ऋचा शुक्ला सर्वाधिक वोट 913 लेकर प्रथम नंबर पर थी जिनके एक वोट बढ़कर 914 वोट हो गए ,,इसी तरह से कुँजबिहारी नागर के 17 वोट बढ़कर 690 के स्थान पर 707 ,,,दिनेश पालड़िया के 28 वोट बढ़कर 419 की जगह 447 वोट हुए जबकि देवेंद्र सिंह के 430 में से 29 वोट कम हो जाने से 401 वोट रह गए ,मनोज सुनवलका एवं संगीता कुमारी के वोटों में कोई अंतर् नहीं निकला ,,जबकि मयंक नामा के 10 वोट कम होने से उनके वोट 581 की जगह 571 वोट रह जाने से वोह आठवें नंबर से ग्यारहवें नंबर पर आ जाने से घोषित जीत के बाद आज हारे हुए घोषित हुए ,,इसी तरह से महाबाहु सिंह के 4 वोट बढे ,,राधेश्याम गोढ़ 551 वोट होने से पहले हारे हुए घोषित थे जो अब 25 वोट बढ़ने से 576 वोट हो जाने पर ,,नवें नंबर पर हारे हुए प्रत्याक्षी से निर्वाचित घोषित हुए ,,,,राधेश्याम शर्मा के 28 वोट बढ़ने से उनके 581 वोट हुए ,,,,शोरीना बेगम के 6 वोट बढ़ने से 761 वोट हुए जबकि सुनीता शर्मा के 48 वोट बढ़ने से 740 वोट हो गए ,,सौरभ शृंगी के 48 वोट बढ़ने से 572 वोट हो गए ,,हितेश जेन के 7 वोट बढ़ने से 674 वोट हो गए ,,अभिभाषक परिषद के इतिहास में कार्यकारिणी चुनाव को लेकर यह दूसरी बार मतगणना हुई है पहले भी क़रीब कुछ साल पहले ऐसे ही पुनर्मतगणना में काफी वोटो का अंतर् आने से जीते हुए हारे थे और हारे हुए जीते घोषित हुए थे ,,राधेश्याम गोढ़ को संवैधानिक संघर्ष के बाद कार्यकारिणी सदस्य के रूप में निर्वाचन पर दिली मुबारकबाद ,,अभिभाषक परिषद को आगामी चुनाव में अब कार्यकारिणी सदस्यों की मतगणना के दौरान पूर्ण सतर्कता और नंबर काटकर गिनने की जगह ,,पृथक पृथक गिनने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया जाने लगा है ,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...