हमें चाहने वाले मित्र

31 दिसंबर 2017

ऐ वर्ष 2017 तू खुद ,,अपनी खुद्दारी से पूंछ कर बता ,, ,तू राजस्थान के वकील साथियों के ज़मीर से पूंछ कर बता ,

ऐ वर्ष 2017 तू खुद ,,अपनी खुद्दारी से पूंछ कर बता ,, ,तू राजस्थान के वकील साथियों के ज़मीर से पूंछ कर बता ,सुप्रीम कोर्ट में लताड़ सुनने वाले वरिष्ठ वकीलों के दर्द से पूंछ कर बता ,,यह गुज़िश्ता साल ,,वकीलों के आत्मस्वाभिमान ,,आत्मसम्मान के लिए केसा रहा ,,वर्ष 2017 वकीलों के लिए क्या कुछ नहीं कर सका ,,खासकर राजस्थान ,उससे भी खासकर कोटा संभाग के वकीलों के लिए क्या हुआ ,,,राजस्थान में बारकोंसिल जो वकीलों की संस्था है क्या वहां लोकतंत्र बहाल हुआ ,,क्या वहां चुनाव हुए ,,क्या कल्याणकारी कोष से वकीलों का अतिरिक्त भला हुआ ,,कोई कल्याणकारी कार्यक्रम हुआ ,,कोई हिसाब किताब सार्वजनिक रूप से प्रत्येक सदस्य को बताने की व्यवस्था हुई ,,वकीलों को उनका हक़ मिले इसके लिए क्या कोई चिंतन ,,कोई मशवरा हुआ ,राजस्थान की हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ,,राजस्व बार एसोसिएशन ,,जिला और क़स्बा बार एसोसिएशन के पदाधिकरियों को बुलाकर क्या ,,किसी ने उनके क्षेत्रीय दुःख दर्द ,कामकाज में आने वाली बाधाओं के बारे में जानकारी ली ,,बैठके हुई ,भत्ते बने ,,खर्चे हुए ,,लेकिन वकील साथियो को क्या मिला ,,,सभी जानते है ,,खेर अब वर्ष 2018 में चुनाव होना है ,,मेरी इल्तिजा है अगर कोई भी सदस्य ,,कोई वकील साथी ,,वकीलों की समस्याओ पर बोला हो ,कुछ लिखा हो ,चिंता जताई हो तो सिर्फ उन सक्रिय लोगो में से ही आप वर्ष 2018 का पंचवर्षीय वकीलों का नेतृत्व चुने ,,पुरानो को देख लिया ,,,,नयों में से अच्छा नेतृत्व चुनना है ,,,तो फिर आप अपने ज़मीर को टटोलो ,बेहतर से बेहतर नेतृत्व को चुने ,चुनावी बरसात है ,,कई लोग आएंगे ,,कई लोग सुनाएंगे ,,कोई कैलेंडर बांटेगा ,,कोई पार्टियां देगा ,,कोई पार्टियां लेगा ,,कोई घर घर आएगा ,,कोई रिश्तेदारों ,,कोई नेताओ से प्रभाव डलवाएगा ,,कोई जाति समाज की बात करेगा ,लेकिन क्या वकीलों के हक़ के लिए बेहतर नेतृत्व के लिए यह सब सही होगा ,, अगर नहीं तो वकील सदस्य साथियो ,अंतरात्मा को टटोलो ,वोट मांगने वालो से एक सवाल ज़रूर पूंछो ,,उन्होंने क्या कभी किसी मंच से ,,बोलकर ,लिखकर वकीलों की कोई समस्या कोई आवाज़ उठाई है ,,अगर चुप्पी है तो फिर ऐसे व्यक्ति को चुनकर आप क्या करोगे ,चुनाव के पहले सभी बोलते है ,सभी वायदे करते है ,लेकिन फिर पांच साल रोना पढ़ता है ,,कोटा संभाग के साथियों कोटा के वकीलों को प्लाट मिले ,,उनकी क़ीमत को लेकर पांच साल में कोई समाधान नहीं हुआ ,,हर चुनाव में वायदा ,,वकीलों से ठगी रही ,,मुख्यमंत्री तक से शिष्ट मंडल मिलकर साधारण सभा को स्थिति नहीं बता ,,,सका ,,,,जज से मर्यादाओं में काम करने का निवेदन किया तो अवमानना में वकील को सजा दिलवाने का प्रयास हुआ ,,,पारिवारिक न्यायालयो में पक्षकारो की शिकायत पर वकील नेतृत्व समझाइश करने गया तो ,, राजकार्य में बाधा का मुक़दमा लगा दिया ,,नगरविकास न्यास ,,वकीलों के प्लाट की दरों को लेकर सुध नहीं ले रहा ,,सरकार चुप्पी साधे बैठी है ,,वकील हाथ पर हाथ धरे बैठे ,है ,बाक़ी वकीलों को प्लाट योजना का क्या हुआ ,,,कोटा में पारिवारिक न्यायालय ,,,किरायाअधिकरण ,,फेमिली कोर्ट ,,,,चेक अनादरण कोर्ट ,,सब दूरदराज़ क्षेत्रो में ,,वकील अदालतों में इधर से उधर फूटबाल ,,वारंट निकलेंगे , मामले ,ख़ारिज होंगे ,,अजीब दर्द है इन बेदर्दों का ,,वकील के निधन के बाद शोकसभा में रोने भी नहीं दिया ,,पुरे दिन काम ,शोकाकुल वकीलों को आवाज़ देकर शोकसभा छोड़कर बहस करने ,गवाही लेने के लिए बाध्य किया जाता है ,,बूंदी ,,बारां ,,झालावाड़ ,,क्षेत्रीय वकीलों को भूखंड ,उनके आवास व्यवस्था के लिए क्या हुआ ,,, अदालतों में न्यायिक अधिकारियो का रवय्या केसा है ,,वकीलों की निजी समस्या क्या है ,,एडवोकेट रमेश कुशवाह ,,नोटेरी अधिनियम के तहत विधिवत नोटेरी करने पर भी ,,गिरफ्तार किये गए ,,मदनलाल गुप्ता एडवोकेट से ट्रेफिक पुलिस अभद्रता करती है ,,थाने का एक छोटा सिपाही ,,,,वकीलों को लूटने वाला कहता है ,,एकेडमिक व्यवस्थाएं नहीं ,,,,अब चुनाव में कोटा में तो मनोजपुरी ,,,बारां में भाई दिलीप सिंह पंवार है ,,बूंदी ,,,झालावाड़ सहित क्षेत्रीय परिषदों में कुशल नेतृत्व है ,,वकीलों के लिए वर्ष 2018 स्वाभिमान का वर्ष हो सकता है ,लेकिन बार कौंसिल ऑफ राजस्थान में सुप्रीमकोर्ट की लताड़ के बाद लोकतंत्र बहाली की शुरुआत है ,फिर वही ज़ंग लगे कारतूस आपकी हिफाज़त के लिए आना चाहते है ,,,कुछ धन बल पर मैदान में है ,लेकिन वकील साथियो अंतरात्मा की आवाज़ टटोले ,,अगर इन अव्यवस्थाओ के खिलाफ कोई एक शब्द भी बोला हो ,,एक शब्द भी किसी मंच पर लिखा हो ,तो ऐसी शख्सियत को आपके वोट ,,प्रथम वरीयता के वोट का अधिकार है ,,,,एडवोकेट अख्तर खान अकेला ,,प्रत्याक्षी ,,,बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान वर्ष 2018 चुनाव ,प्रथम वरीयता वोट का आकांक्षी ,,,,,,,जिला एवं सेशन ,,न्यायलय परिसर कोटा राजस्थान ,,आजीवन सदस्य राजस्थान हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ,,,,,,,जयपुर बेंच ,,,,,मोबाइल 09829086339 ,,09414939811

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...