हमें चाहने वाले मित्र

24 दिसंबर 2017

बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान यही वेलफेयर राशि 1250 रूपये प्रति सदस्य लेकर वकील साथी के निधन पर मात्र ढाई लाख रूपये परिजनों को देती है

परमसम्मानीय वकील साथियों ,,राजस्थान बार कौंसिल के पंचवर्षीय चुनाव मार्च में लगभग होना तय है ,,मतदाता सूचियों के लिए 31 दिसम्बर तक आपत्तियां मांगी है ,,जल्द ही निर्वाचन की अधिसूचना जारी हो जायेगी ,चुनाव में यूँ तो बहुत मुद्दे है ,लेकिन एक महत्वपूर्ण बात जो सामने आयी है उसे ज़रा आप भी चिंतन कीजिये ,,वोट किसी को भी दीजिये लेकिन मुद्दों पर चिंतन ज़रूर कीजिये ,,कोटा अभिभाषक परिषद के सदस्यों से वेलफेयर फंड में 90 रूपये प्रतिवर्ष लेकर ,,सदस्यों के निधन पर ,,दो लाख रूपये उनके परिजनों को दिए जाते है ,,जबकि बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान यही वेलफेयर राशि 1250 रूपये प्रति सदस्य लेकर वकील साथी के निधन पर मात्र ढाई लाख रूपये परिजनों को देती है ,कोटा में 90 रूपये प्रतिवर्ष वेलफेयर शुल्क पर दो लाख और बारकोंसिल में 1250 रूपये प्रतिवर्ष में मात्र ढाई लाख ,,बहुत बढ़ा फ़र्क़ नहीं है ,,इस फ़र्क़ को हमे मिटाना है ,अगर वकीलों की हितकारी सदस्य निर्वाचित हुए तो इस राशि को ढाई लाख रूपये से कम से कम पंद्रह लाख रूपये करवाना है ,,,,,,बार कौंसिल के चुनाव की अधिसूचना निकट भविष्य में जारी होना है ,,अभी तक ,,बार कौंसिल की वेबसाइट पर ,,बार कौंसिल निर्वाचन नियम ,,अपलोड नहीं किये गए है ,,इस नियम की प्राप्ति के लिए सशुल्क प्राप्त करने की बाध्यता लगाई गयी है ,,,जबकि पिछले कई कार्यकालों में ,,बार कौंसिल और वेलफेयर फंड राशि की आमद खर्च का विस्तृत ब्योरा भी उपलब्ध नहीं कराया है ,,वेलफेयर फंड का उपयोग कहाँ किस मद में कितना किया गया ,,किस सदस्य को कितनी राशि बीमारी के इलाज के लिए दी गयी ,,उक्त फंड का उपयोग कहाँ कहाँ हुआ इसकी विस्तृत जानकारी बार कौंसिल की वेबसाइट पर उपलब्ध होना चाहिए ,,बार कौंसिल के सभी फंड की आमद खर्च वेबसाइट पर सभी सदस्यों के अवलोकन के लिए अपलोड जल्द ही करना चाहिए ,,और मदवार ,,एक एक मद विस्तृत रूप से अपलोड हों जिसमे किस सदस्य को इलाज के लिए दूसरी व्यवस्था के लिए क्या राशि दी गयी ,, वर्तमान में कितनी राशि जमा है ,,किस पर कितनी बकाया है ,,इसकी जानकारी भी होना चाहिए ,,, सदस्यों को उनकी राशि के उपयोग के बारे में जानकारी होना चाहिए ,,यह नियमों में भी है ,,,,यात्रा भत्तों ,वेतन भत्तों ,,अल्पाहार ,,मेज़बानी खर्च सहित सभी खर्च इसमें शामिल होना चाहिए ,,इससे पारदर्शिता का सिद्धांत भी लागू होगा ,,कल कोटा के एक बार कौंसिलर से मेने आमद खर्च पर चर्चा की तो उन्होने ,, सुचना के अधिकार के तहत यह जानकारी प्राप्त करने का सुझाव दिया ,,लेकिन एक संस्था का सदस्य उसी संस्था के आमद खर्च हिसाब किताब के लिए अगर सुचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगे तो अजीब सा लगता है ,,मेने बार कौंसिल की वेबसाइट खंगाली लेकिन वहां भी हिसाब किताब ,,आमद खर्च नहीं था ,,इसलिए मेरा मानना है ,,मेरे जैसे साथियो को अगर आप सदस्यों द्वारा ज़िम्मेदारी दी जाती है तो ,सभी जानकरियां तुरंत वेबसाइट पर अपडेट होती रहेंगी ,,एक एक रूपये का हिसाब मदवार उपलब्ध रहेगा ,जिला बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथियों ,सदस्यों से सुझाव लेकर ऐसी राशि का बेहतर उपयोग कैसे किया जा सके ,,उसके लिए कार्यवाही होंगी ,,नए वकीलों के लिए सरकार से फंड लेकर कैसे उन्हें अतिरिक्त मासिक भत्ता ,,लायब्रेरी लोन ,,वाहन लोन ,,मकान लोन उपलब्ध कराया जाए इस पर भी चर्चा होकर कार्यवाही होगी जबकि ,,हर वकील सदस्य के शुभ कार्यो में बार कौंसिल का रचनात्मक आर्थिक सहयोग शुभकामनाओ सहित हो इसकी व्यवस्था भी सुविधानुसार की जायेगी ,,,एडवोकेट अख्तर खान अकेला ,,कोटा न्यायलय परिसर प्रत्याक्षी बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान इच्छुक प्रथम वरीयता वोट ,,,

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...