हमें चाहने वाले मित्र

08 जून 2017

मेरे भोले भाले ,,मासूम भक्तजन ,मित्रगणों ,,,,दिल से भी अज़ीज़ भाइयों

मेरे भोले भाले ,,मासूम भक्तजन ,मित्रगणों ,,,,दिल से भी अज़ीज़ भाइयों ,,,अब तो ज़रा सोचो ,,,आपके साहिब के शिवराज सिंह ने आपको कितना अपमानित करवाया है ,,पहले आपको खबर करवाई के ,,किसानो ने ही किसानो के गोली मार दी ,,पुलिस की तो गोली ही नहीं चली ,,कोई किसान पुलिस की गोली से नहीं मरा ,,आप खूब लड़े ,,आपने मेरा खूब विरोध किया ,,मेरा खूब मज़ाक़ उड़ाया ,,आपने ,,गुस्से में मुझे बहुत बुरा भला भी कहा ,,लेकिन आप अड़े रहे के गोली पुलिस की किसानो को नहीं लगी ,,समाजकंटको ने ऐसा किया है ,,आदरणीय भक्तजनो ,,निहायत ही अदब के साथ निवेदन है ,,अपने दिल की धड़कनो ,,अपने दिमाग से भी ज़रा सोचा करो ,,रिमोट से मत चला करो ,,एक चिप डालने के बाद ,,चिप कमांड ,,जो कहता है ,,वैसा मत किया करो ,,ज़रा अपना दिमाग भी रखिये भाई ,, अपनी आज़ाद सोच भी रखो यार ,,मुझे गाली दे लो ,,कोई बात नहीं आप मेरे अज़ीज़ हो ,,में तो सह लूंगा ,,लेकिन जो बात आप कहकर अड़ जाते हो ,,आपकी सरकार उसे बदल कर ,,आपके विचारो की खिल्ली उड़ाती है ,,आप मानने को तैयार नहीं थे के किसानो को पुलिस ने गोली चलाकर मारा है ,,अब आपके मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ,,खुद गृहमंत्रालय ,,ने अपनी रिपोर्ट में ,,आम जनता के दबाव में सच स्वीकार कर लिया है ,,के हाँ किसानो की मोत पुलिस की गोलियौं से हुई है ,,कारण क्या रहे वोह बात अलग है ,,लेकिन भाइयों ,आपके स्टेण्ड ,,जो आपने मेरे खिलाफ एक जुट होकर लिया था उसे तो झुठला दिया न ,,प्लीज़ अब दिल पर मत लेना ,,कांग्रेस कांग्रेस को मत ,,कोसना यह सोचना ,,अच्छा शासन चलाने ,,,समस्याओं के समाधान के लिए महंगाई कम करने के लिए ,,,रोज़गार के अवसर बढ़ाकर युवाओ को रोज़गार देने के लिए हम क्या कुछ कर सकते है ,,क्या सुझाव दे सकते है ,,हम आपस में मिलबैठकर सद्भाविक तरीके से कब टी पार्टी पर या स्नेह भोज पर मिलकर बैठकर कोई ब्लॉगर मीट सोशल मिडीया मीट ,,का आयोजन कर एक दूसरे से गले मिलकर दूरियां कम कर सकते ,है ,मेरे भाइयों ,,नाराज़ न होना ,,मुझे क्षमा करना ,,ज़रा दिल से सोचना ,,दिमाग खुला रखना ,,नफरत और गुस्सा थूक देना ,,एक तरफा चिप कमांड ,,रिमोट निकाल कर फेंक देना ,,अगर ऐसा करोगे तो मुझ पर उपकार करोगे ,,मेरे भाइयो ,,फिर आपकी मर्ज़ी ,,में तो गालियां सुनने के लिए तैयार हूँ ,,,में इसी तरह से जीता हूँ ,,आप भक्तजन तो कोंग्रेसी कहकर गालियां बकते हो और कोंग्रेसी भक्तजनो का मित्र कहकर गालियां बकते है ,,लेकिन में देश और देश की समस्याओं के साथ हूँ ,,प्लीज़ आप भी ऐसे हो जाए न पार्टियों का क्या ,,यह तो आज सत्ता में है ,,कल विपक्ष में है और फिर मशीनों की तो बारह बज गयी ,,अब तो स्लिप निकलकर चुनाव होंगे ,,जो सही करेगा वोह जनता का हीरो होगा ,,जो गलत करेगा वोह जनता का विलेन होगा ,,बहुमत तो होता नहीं केवल उन्तीस प्रतिशत वोट लेकर ,,सरकार बनती है ,,लेकिन सरकार बनती है तो उसे मानना तो होगा है ,,एक बार फिर माफ़ी की इल्तिजा ,,हो सके तो गुस्सा कर गरियाना मत ,,और अगर नहीं मानो आपको मुझे गरिया कर ख़ुशी मिलती हो ,,तो आपकी हर ख़ुशी के लिए मेरे भाइयों में हाज़िर हूँ ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...