हमें चाहने वाले मित्र

07 मई 2017

मेरे राजस्थान में कोटा के अमन पसन्द निवासियों

मेरे राजस्थान में कोटा के अमन पसन्द निवासियों ,एक पुरखुलूस इल्तिजा ,,एक विनम्र प्रार्थना ,,एक निवेदन ,,यह शहर किसी धर्म मज़हब का नहीं ,,यह शहर शेतानो का नहीं ,,यहां इन्साफ पसंद ,,अमन पसंद लोग रहते है ,,फिर क्यों यहां बेवजह ,,अफवाहो को आधार बनाया जा रहा है ,,धर्म मज़हब के नाम पर ,,नफरत का बाज़ार गर्म किया जा रहा है ,,यह शहर सुकून पसंद लोगो का शहर है यहां नफरत फैलाने वालों की हमेशा हार हुई है ,हमेशा प्यार ,,खुलूस ,,मोहब्बत की जीत हुई है ,इंशाअल्लाह आगे भी इस शहर में अमन सुकून का माहौल रहेगा ,,बस आप लोगो के धैर्य ,,संयम ,,सब्र और मदद की ज़रूरत है ,अफवाहों से दूर रहे ,,किसी भी अफवाह को तहक़ीक़ात किये बगैर आगे न बढ़ाये सोशल मीडिया पर अफवाहों का खंडन कर ,,भाईचारे और सद्भावना का माहौल बनाये ,,,कुछ शरारती तत्व होते है ,,उनके लिए क़ानून बना है ,,क़ानून पर भरोसा रखिये ,,कोटा शहर क़ाज़ी अनवार अहमद और दूसरे मज़हब से जुड़े अमन पसंद लोगो पर भरोसा रखो ,,उससे भी ज़्यादा निष्पक्ष प्रशासन पर भरोसा हमे रखना होगा ,,अल्लाह पर हमे भरोसा है ,,इंशाअल्लाह ,,यह क़ब्रिस्तान ,,मज़ार के नाम पर प्रॉपर्टी डीलरों के उकसावे में जो प्रायोजित माहौल है यह ,,जल्द ही सुधर जाएगा ,,, प्रशासनिक टीम को आने दो ,,जो आपराधिक कृत्य करेगा ,,उसके खिलाफ सख्त क़ानूनी कार्यवाही होगी ,,सब्र करो ,,किसी भी विवाद का निस्तारण तृतीय पक्षकार करता है ,,,क़ब्रिस्तान को लेकर तो कोई विवाद है ही नहीं ,,फिर भी इस नाम पर विवादों के साथ नफरत का ज़हर घोलने वालो की साज़िशे हमे नाकाम करना है ,,,हमे सब्र करना है ,क़ानून पर अल्लाह के इंसाफ पर भरोसा करना है ,,सभी समुदाय के लोगो से गुज़ारिश है वोह कोई भी विवाद हो ,,उसके लिए ज़िलाप्रशासन से सम्पर्क करे ,,संबधित विभाग से सम्पर्क करे ,,अदालतों में क़ानूनी कार्यवाही करे ,,क़ानून हाथ में न ले ,,अगर ऐसा हुआ तो तकरार बढ़ेगी ,,शरारती तत्व हो सकता है प्रॉपर्टी डीलरों के इशारे पर नाच रहे हो ,लेकिन समझदार लोगो को तो अदालत ,क़ानून ,,प्रशासन और शहर के अमन सुकून रखने वाले सरपरस्तों पर भरोसा रखना होगा ,,,इसलिए निवेदन है अफवाहे न फैलाये ,,अफवाहे फैलाने वालो से सतर्क रहे ,सोशल मीडिया का उपयोग अफवाहे फैलाने के लिए नहीं अफवाहों के खंडन और अफवाहों से सतर्क रखने के लिए किया जाए ,,,पुलिस ,,प्रशासन पर भरोसा रखो ,,जनप्रतिनिधि पक्षपातपूर्ण बयान दे सकते है ,,लेकिन यह राजनितिक मजबूरी होगी ,,प्रशासन तो क़ानून से चलता है और प्रशासन के खिलाफ जो भी आएगा वोह पुलिस और प्रशासन के शिकंजे में होगा फिर वोह कोई जनप्रतिनिधि हो या फिर कोई आम आदमी ,,इसलिए प्लीज़ ,,इस शहर के माहौल को शैक्षणिक ,,औद्योगिक विकास ,,गंगाजमनी संस्कृति का पैरोकार ,,पर्यटन का मुख्य आकर्षण ,ही रहने दो ,,यहां हमने ,,होली दीपावली ,,ईद ,,शबेरात साथ मनाई है ,,हमने एक दूसरे के शादी ब्याह ,,कार्यक्रमों में हिस्सा लिया है ,,कोई बहन किसी मुस्लिम के राखी बांधती है तो कोई बहन हिन्दू को अपना भाई मानती है ,, ऐसी संस्कृति हमारे शहर की है जिस पर नफरत ,,अफवाहे ज़रा भी हावी नहीं होना चाहिए ,,नए कलेक्टर जल्दी ही कार्यभार ग्रहण करेंगे वोह फीडबैक अगर मुख्यमंत्री महोदय को देंगे तो सभी नफरत फैलाएं वाले सौदागरों ,बिना किसी दबाव के कर्यह्वाही संभावित है ,,इसीलिए कहता हूँ मोहब्बत और प्यार में बहुत ताक़त होती है ,,सब्र करो ,,अपनी मोहब्बत से इस नफरत के दौर को फतेह करना हमारी ज़िम्मेदारी है ,,इस शहर के लोग अमन सुकून पसदं है ,,थोड़े से लालच में आकर शरारती तत्वों की तरह वातावरण बिगाड़ने के हम पैरोकार नहीं यह हमे साबित करना होगा ,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...