हमें चाहने वाले मित्र

30 मई 2017

यह केसा मनोविकार ,,यह केसा मानसिक रोग

यह केसा मनोविकार ,,यह केसा मानसिक रोग ,,यह किसी विक्षिप्तता ,,,जिसे हम सियासत कहते है ,जिसे हम राष्ट्रभक्ति कहते है ,,जिसे हम धर्म भक्ति कहते है ,,जो नोजवानो के दिमागों को बिगाड़ रही है ,,उन पर पागलपन का जूनून सवार है ,,उनके लिए धर्म मज़हब ,मानवता ,,देश के संविधान क़ानून की मर्यादाओ की कोई अहमियत नहीं ,,सिर्फ और सिर्फ मीडिया में छाने के लिए पागलपन ,,हर किसी को पीट देना ,,हर किसी को गरिया देना ,,हर किसी की हत्या कर देना ,,सड़को पर गांय को काटकर बेहूदगी का परिचय देना ,,,सड़को पर राह चलती अबलाओं के साथ बलात्कार करना ,,अबलाओ को गोदियों में उछाल कर ,,बाहों में लेकर ,,विडिओ बनाकर वाइरल करना ,,दलितों को मारना ,,,मज़हबी आतंकवाद फैलाना ,देशद्रोही ,,अलगाववादियों ,,आतंकवादियों को अपना हीरो बनाना ,,यह इस देश में कभी नहीं हुआ ,,यहां ऐसी गंदगी कभी नहीं देखी गयी ,,लेकिन कुछ लोग जो आज शीर्ष पर है अतीत में कमोबेश ऐसी ही नफरत का इतिहास उनका रहा है और यह नो जवान कुछ तो शॉर्टकट में खुद को लाइम लाइट पर लाने के लिए यह हरकते कर रहे है ,,वाट्सएप्प सोशल मीडिया पर भी नफरत फैलाने वाले ,अपशब्द लिखने वाले ,,भड़काऊ बातें लिखने वालो की कमी नहीं है ,,यह अराजकता का माहौल हमे सब को बदलना होगा ,,,एक शख्स को सार्वजनिक स्थान पर लघु शंका करने से इंकार क्या ,,उसकी हत्या कर दी गयी ,,एक माँ ने बेटे से अंकतालिका मांगी ,,बेटे ने उसकी हत्या कर दी ,,केंद्र सरकार ने एक परिपत्र निकाल दिया उसका लोकतान्त्रिक विरोध हो सकता था ,,लेकिन सड़क पर एक बछड़े की हत्या ,,देश की संस्कृति को आघात पहुंचाने वाला है ,नरेंद्र मोदी हमारे प्रधानमंत्री है उनको गाली देना मानसिक रोगी का परिचय है ,,नेहरू ,,गांधी ,,इंद्रा को कोई अगर गाली देता है तो वोह महामूर्खता करता है ,,सियासी विरोध हो सकता है लेकिन ,नेताओ को गालियां लिखना ,गालियां बकना पागलपन की ही निशानी है ,,तो दोस्तों हम चिंतन करे ,,मनन करे ,,आखिर हम इस देश को ,,इस समाज को कहा ले जा रहे है ,,किधर ले जा रहे है ,,हमे क्या फैसला लेना चाहिए ,हमे सोचना होगा ,,देखना होगा ,,खुद को बदलना होगा ,,ऐसे लोगो को ,,ऐसे लोगो की सोच को बदलना होगा ,,,देश से बढ़ा ,,न धर्म ,,न जाती ,,,न समुदाय ,,न विचारधारा ,,न सियासी पार्टियां ,,यह सब हमे खुद करके दिखाना होगा ,वर्ना आने वाली पीढ़ी नफरत के बम की पैदावार के अलावा कुछ नहीं होगा ,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...