हमें चाहने वाले मित्र

17 मई 2017

शिखा सिंघल की ,,,हाल ही में प्रकाशित पुस्तक ,,,,,हेल्थ केयर

श्रीमती शिखा सिंघल की ,,,हाल ही में प्रकाशित पुस्तक ,,,,,हेल्थ केयर ,,,सच ,,एक नुस्खे के रूप में ,, हर मर्ज़ के इलाज के ,,घरेलु नुस्खे ,,घरेलु अस्पताल ,दादा दादी के नुस्खे के रूप में ,,गागर में सागर भरकर ,,चिकित्सा विशेषज्ञ प्रकाशन है ,,इस प्रकाशन में आयुर्वेद ,,,यूनानी ,,होयोपेथी ,एलोपेथी ,,प्राकृतिक चिकित्सा सहित सभी चिकित्स्कीय नुस्खों का मिश्रण है , रोज़ मर्रा दैनिक ज़िंदगी में सामने बीमारियों और उनसे बचने ,,उनके इलाज के उपाय इस पुस्तक में छोटे छोटे विशेषज्ञ आलेखों के रूप में ,,श्रीमती शिखा सिंघल ने समेट दिए है ,,,श्रीमती शिखा सिंघल खुद अंग्रेजी में मास्टर डिग्री करने के बाद ,,शिक्षक शिक्षण में स्नातक है ,,,इनके पिता श्री डॉक्टर प्रभात कुमार सिंघल खुद विख्यात लेखक है ,,,,बस ,,क़लम की अभिमन्यु बनी ,,बहन शिखा सिंघल ने ,अपने व्यस्ततम पारिवारिक ज़िम्मेदारियों के बाद भी ,,बहुउपयोगी इस विषय पर जिसकी आज हर शख्स चाहे वोह बच्चा हो ,बूढ़ा हो ,,स्त्री हो पुरुष हो ,सभी को ज़रूरत ,है ,,शिखा बहन ,,ने उनसठ लेख इस पुस्तक में प्रकाशित किये है ,,जिसमे चिकित्सकीय सलाह ज़रूरी है ,,,स्पर्श चिकित्सा ,,, जीवन कैसे सहज बनाये ,,माइग्रेन ,,,हाइपर प्लेसमिया ,,ह्रदय रोग ,,पैरों की आँखों की बीमारियां ,,खानपान का शरीर पर असर ,,,घुटनों का दर्द ,,मधुमेह से छुटकारा ,,व्यायाम के फायदे ,,पेट के विकारों से बचने के उपाय ,,किडनी को कैसे स्वस्थ रखे ,,,सहित प्राकृतिक चिकित्सा ,,रोज़ मर्रा के जीवन में बेहतर खानपान ,,बेहतर अनुशासन ,,व्यायाम ,,चिंतामुक्त रहन सहन ,,प्राकृतिक चिक्तिसा ,,और नियमित उपयोग में आने वाले खाद्य पदार्थो के सेवन से कैसे खुद ,को को ,,बिमारियों से बचाकर रखे ,,इसके सभी तौर तरीके ,,बहन शिखा ने ,, इस पुस्तक में समो दिए है ,,,पुस्तक का सम्पादन सहयोग डॉक्टर प्रभात कुमार सिंहल ने किया है ,,जबकि शिखा बहन ने ,,पुस्तक का कामयाब लेखन कर ,,लेखों का कुशल सम्पादन कर अल्फ़ाज़ों को सहज और सरल कर दिया है ,,विधि सलाहकार अख्तर खान अकेला ,,सहयोगी पत्रकार के डी अब्बासी राष्ट्रिय सहारा ,,प्रदीप पांचाल ,,सम्पादक पब्लिक ज्यूरी ,,,पंकज बैरवा है ,,पुस्तक का मुद्रण और ग्राफिक का कार्य सलीमुद्दीन क़ाज़ी ने बखूबी अंजाम दिया है ,,,,जबकि पुस्तक की प्रकाशक खुद शिखा अग्रवाल ,,निवासी भीलवाड़ा है ,,,,,,शिखा बहन को सफल प्रकाशन के लिए बधाई ,,मुबारकबाद ,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...